गुस्से को करना है कंट्रोल! आज ही ट्राई करिए योग के ये खास आसन

गुस्से को करना है कंट्रोल! आज ही ट्राई करिए योग के ये खास आसन
स्ट्रेस व तनाव की स्थिति से भी गुजर रहे लोग योग की मदद ले सकते हैं.

गुस्से में कई बार लोग एक दूसरे से लड़ते हैं, जिससे मानसिक और शारीरिक दोनों ही तरह के नुकसान हो सकते हैं. गुस्से के कारण कई बार लोगों के रिश्ते, दोस्ती सब खराब हो जाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2020, 1:42 PM IST
  • Share this:
हम या हमारे आसपास कई ऐसे लोग होते हैं जो गुस्से पर काबू नहीं कर पाते हैं. गुस्से में कई बार लोग एक दूसरे से लड़ते हैं, जिससे मानसिक और शारीरिक दोनों ही तरह के नुकसान हो सकते हैं. गुस्से के कारण कई बार लोगों के रिश्ते, दोस्ती सब खराब हो जाती है.

ऐसे में बहुत ज्यादा जरूरी है कि आप गुस्से पर काबू रखें. वैसे तो गुस्से पर काबू रखने के कई तरीके हैं, लेकिन इसका सबसे असरदार तरीका है योग. योग करने से दिमाग और मन दोनों ही शांत हो जाता है. आइए जानते हैं कौन सी हैं योग की वो मुद्राए जिसके जरिए दिमाग को शांत किया जा सकता है और गुस्से पर काबू पाया जा सकता है.

 



उन्मनी मुद्रा: उन्मनी मुद्रा मुद्रा करने से ध्यान केंद्रित होता है. लाजिमी सी बात है जब आपका ध्यान किसी एक चीज पर केंद्रीत होता है तब गुस्सा नियंत्रित रहता है. उनमामी मुद्रा करने के लिए भौंहों को बीच में केंद्रित करें. इस आसन को करते वक्त शांत रहें और कुछ भी न सोचें.
 

मुष्ठि मुद्रा: इस मुद्दा में दोनों हाथों की मुट्ठी बनाएं और अपने अगूंठे को दूसरी उंगलियों पर रखें. दिमाग को शांत करने के लिए इसी मुद्रा में 10 से 15 मिनट तक बैठें. मुष्ठि मुद्रा को करते वक्त ध्यान केवल योग पर ही केंद्रित करने से फायदा पहुंचता है.

 

ज्ञान मुद्राः दिमाग और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए अक्सर योगा के आसन ज्ञान मुद्रा करने की सलाह दी जाती है. ज्ञान मुद्रा स्वास्थ्य के साथ-साथ क्रोध को काबू रखने का भी बेस्ट तरीका माना जाता है. ज्ञान मुद्रा करने के लिए पद्मासन में बैठे और हाथों को सीधा करते हुए तर्जनी उंगली के साथ अंगूठे को मिलाइए. नियमित तौर पर ज्ञान मुद्रा करने से गुस्से पर काबू पाया जा सकता है.

 

सेपना मुद्राः सेपना मुद्रा करने से स्ट्रेस का लेवल कम होता है. योग का यह आसान दिमाग से नेगेटिव एनर्जी को बाहर निकालने का काम करता है. नेगेटिव शक्तियां शरीर से बाहर निकलने के बाद दिमाग शांत हो जाता है और गुस्से पर काबू पाया जा सकता है. इस आसन को करने के लिए हाथेलियों को एक साथ रखें. ध्यान रहे कि आपकी पांचों उगुलियां एक-दूसरे से जोड़ें. तर्जनी उंगली को एक साथ रखें और अन्य सभी उंगलियों को मोड़कर आपस में बांध लें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज