Covid 19: मजबूत इम्यूनिटी से कोरोना से बचाव संभव- विशेषज्ञ

उम्र बढ़ने के साथ इम्यूनिटी हो जाती है कमजोर
उम्र बढ़ने के साथ इम्यूनिटी हो जाती है कमजोर

मजबूत इम्यूनिटी के जरिए कोरोना वायरस (Covid 19) के कहर से बचा जा सकता है.

  • Agency
  • Last Updated: April 17, 2020, 1:57 PM IST
  • Share this:
कोरोना वायरस (Covid 19) का कहर देश और विदेश में काफी दहशत फैला रहा है. ऐसे में कोरोना वायरस (Covid 19) से बचाव के लिए विशेषज्ञों ने कई तरीके बताए हैं. लेकिन, आखिरकार आपके और घातक कोविड-19 के बीच एक सबसे महत्वपूर्ण चीज आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली है, जिसका वायरस से मुकाबले करने के लिए मजबूत होना बेहद जरूरी है. हिन्दुस्तान ई पेपर ने एजेंसी के हवाले से छापा है कि मजबूत इम्यूनिटी के जरिए कोरोना वायरस के कहर से बचा जा सकता है.

रक्त जांच में पता चला: ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं को कोरोना वायरस और प्रतिरक्षा प्रणाली के बीच एक महत्वपूर्ण जानकारी पता चली है. उनका कहना है कि रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होने से शरीर इस बीमारी से लड़ने में अहम भूमिका निभा सकता है. मेलबर्न यूनिवर्सिटी और रॉयल मेलबर्न अस्पताल के शोधकर्ताओं ने मिलकर कोरोना वायरस के रोगियों में से एक की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया का परीक्षण किया है. इसमें प्रतिरक्षा प्रणाली शरीर को वायरस से लड़ने और संक्रमण से उबरने की क्षमता दिखाई दी. उन्होंने कहा, कोरोना वायरस से संक्रमित 40 वर्षीय एक महिला के रक्त की जांच से पता चला कि शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली कोविड-19 से उसी तरह लड़ती है जिस तरह वो अन्य फ्लू से लड़ती है.

उम्र बढ़ने के साथ हो जाती है कमजोर: शोधकर्ताओं ने कहा, प्रतिरक्षा प्रणाली, मस्तिष्क के बाद शरीर में दूसरी सबसे जटिल प्रणाली है. इसमें सैकड़ों प्रकार की कोशिकाएं और सूचना पहुंचाने वाले अणु होते हैं, जो तकरीबन 8000 जीनों द्वारा नियंत्रित होते हैं. जैसे-जैसे आप बड़े होते जाते हैं, आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली की उम्र भी कम हो जाती है. इसके चलते आप संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील हो जाते हैं. उन्होंने आगे कहा, हालांकि इसे मजबूत करने के लिए खानपान की आदतों, व्यायाम, योग आदि पर विशेष रूप से ध्यान देने की जरूरत है, ताकि संक्रमण से बचा जा सके.



निर्देशों के मुताबिक, अपने हाथों को 20 सेकेंड तक धोएं, कोहनी आगेकर छींकें या मुंह पर कपड़ा रखें, चेहरे को छूने से बचें, लोगों से एक मीटर दूर रहें और एक आखिरी उपाय खुद को एक हफ्ते के लिए क्वारेंटाइन में रखें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज