Deaf लोगों के लिए छात्रा ने बनाया स्पेशल मास्क, 6 देशों से आया ऑर्डर

Deaf लोगों के लिए छात्रा ने बनाया स्पेशल मास्क, 6 देशों से आया ऑर्डर
कोरोना वायरस से बचने के लिए सर्जिकल मास्क पहने से गूंगे और बहरे (Deaf and Dumb)लोगों को बात समझने में कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा.

इस खास मास्क के बारे में जानकारी देते हुए एशले ने बताया कि फेसबुक पर लोग घर पर ही मास्क बनाने के कई प्रकार के तरीके शेयर कर रहे थे. ऐसे में उनको ख्याल आया कि सर्जिकल मास्क पहनने से उन लोगों का क्या होगा जिन्हें सुनाई नहीं देता.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 7, 2020, 12:25 PM IST
  • Share this:
कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए दुनिया के कई देशों में लॉकडाउन जारी है. सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाते हुए लोग अपने घरों में बंद हैं. कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लोग मास्क और ग्लव्स पहन रहे हैं और साथ ही सभी चीजों को सैनिटाइज भी कर रहे हैं. Eastern Kentucky University की छात्रा एशले लॉरेंस ने कोरोना वायरस से बचने के लिए एक अलग तरह का मास्क बनाया है जिसमें वायरस से भी बचा जा सकेगा और डिफ व जिन लोगों को सुनने में परेशानी होती है, बड़ी ही आसानी से होंठों और फेशियल एक्सप्रेशन को पढ़ भी सकेंगे.

उन लोगों का क्या होगा जिन्हें सुनाई नहीं देता
एशले ने बताया कि उन्होंने इस स्पेशल मास्क को बनाने के लिए सीडीसी की सभी गाइडलाइन्स को पूरी तरह से ध्यान में रखा है. इस खास मास्क के बारे में जानकारी देते हुए एशले ने बताया कि फेसबुक पर लोग घर पर ही मास्क बनाने के कई प्रकार के तरीके शेयर कर रहे थे. ऐसे में उनको ख्याल आया कि सर्जिकल मास्क पहनने से उन लोगों का क्या होगा जिन्हें सुनाई नहीं देता. वह लोग फेशियल एक्सप्रेशन और होंठों को बिना पढ़े कुछ भी समझ नहीं पाएंगे. ऐसे में उन्हें परेशानी होगी.

लोग आसानी से होंठों को पढ़ सकें



कोरोना वायरस से बचने के लिए सर्जिकल मास्क पहने से बोलने और सुनने में असमर्थ (Deaf and Dumb) लोगों को बात समझने में कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा. ऐसा इसलिए क्योंकि इस कम्यूनिटी के लोग सिर्फ साइन लैंग्वेज में ही बातों को समझते हैं. लॉरेंस ने बताया कि इसके बाद उन्होंने और उनकी मां ने एकसाथ मिलकर इस विशेष प्रकार के मास्क को घर पर ही बनाना शुरू किया. इस मास्क की खास बात यह है कि होंठों वाला हिस्सा इसमें ट्रांसपैरेंट प्लास्टिक शीट से बना हुआ है जिससे कि डिफ एंड डंब लोग आसानी से होंठों को पढ़ सकें और फेशियल एक्सप्रेशन को समझ सकें. लॉरेंस ने बताया कि उन्होंने घर पर पड़े बेडशीट्स की मदद से इसे बनाना शुरू किया था.





धीरे-धीरे उन्हें दुनिया के 6 देशों से इस मास्क के लिए ऑर्डर आए. इन मास्क को उनकी मां ने घर पर ही सिला है. लॉरेंस ने बताया कि वह कुछ और चीजों पर भी काम कर रही हैं जिसमें कोहिलर और हियरिंग एड्स शामिल है. मास्क लगाने वाले लोगों को इन चीजों को लगाने में भी दिक्कत आ रही है और लॉरेंस इसका समाधान ढूंढने में लगी हैं. उन्होंने बताया कि वह इन लोगों के लिए कुछ ऐसा तैयार कर रही हैं जिसे केवल सिर पर या गले में पहना जा सके और सबकुछ अच्छी तरह से सुनाई दे. आपको बता दें कि लॉरेंस ने अपने स्पेशल मास्क डिफ लोगों को मुफ्त में दिए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading