आने वाले पांच साल में भारत में 12 फीसदी तक बढ़ जाएंगे कैंसर के रोगी: रिपोर्ट

आने वाले पांच साल में भारत में 12 फीसदी तक बढ़ जाएंगे कैंसर के रोगी: रिपोर्ट
भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के आंकड़ों की मानें तो 2025 तक भारत में कैंसर रोगियों की संख्या 15.69 लाख हो जाएगी.

आईसीएमआर (ICMR) की रिपोर्ट में बताया गया है कि साल 2020 में तंबाकू (Tobacco) की वजह से 3.7 लाख लोगों को कैंसर हुआ है. यह संख्या कुल कैंसर मरीजों का 27.1 फीसद है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2020, 10:20 PM IST
  • Share this:
हाल ही में जारी भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) की रिपोर्ट में आने वाले समय में भारत (India) में कैंसर (Cancer) के बढ़ते मामलों को लेकर जो बात कही गई है. वो बेहद ही परेशान करने वाली है. रिपोर्ट में बताया गया है कि आने वाले पांच सालों में भारत में कैंसर के मामले 12 फीसदी तक बढ़ जाएंगे. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के आंकड़ों के अनुसार 2025 तक भारत में कैंसर के मरीजों की संख्या 15.69 लाख के पार पहुंच जाएगी. यह संख्या अभी 14 लाख से भी कम है. इस रिपोर्ट में बताया गया है कि दिल्ली में बच्चों में कैंसर के मामले सामने आने की संख्या बढ़ी है.

तंबाकू है कैंसर की बड़ी वजह
बीबीसी की खबर के अनुसार आईसीएमआर की रिपोर्ट में पता चला है कि साल 2020 में तंबाकू की वजह से कैंसर झेल रहे लोगों की संख्या 3.7 लाख है जो कि कुल कैंसर मरीजों का 27.1 फीसद है. रिपोर्ट में कहा गया है कि तंबाकू सबसे बड़ा कारण है, जिसके चलते लोग अलग-अलग तरह के कैंसर का शिकार हुए हैं.

रिया चक्रवर्ती का दावा 7 साल से सुशांत खा रहे थे मोडाफिनिल टैबलेट, जानिए क्या है ये दवा
लंग कैंसर एक बड़ी समस्या


अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान यानी एम्स के सर्जिकल ऑन्कोलॉजी विभाग में प्रोफ़ेसर डॉक्टर एसवीएस देव ने बीबीसी से कहा कि तंबाकू कैंसर के लिए जिम्मेदार सबसे अधिक जिम्मेदार है. उन्होंने बताया कि 40 फीसद ऐसे मामले हैं जो टोबैको रिलेटेड कैंसर (टीआरसी) यानी तंबाकू के सेवन की वजह से होते हैं. अब 20-25 साल के युवाओं में भी ये बीमारी देखने को मिल रही है.

महिलाओं में कैंसर
'दि ग्लोबल बर्डन ऑफ़ डिज़ीज़ स्टडी' (1990-2016) की एक रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत में महिलाओं में सबसे ज़्यादा स्तन कैंसर के मामले सामने आए हैं. रिपोर्ट में बताया गया है कि महिलाओं में स्तन कैंसर, सर्वाइकल कैंसर, पेट का कैंसर, कोलोन एंड रेक्टम और लिप एंड कैविटी कैंसर मामले देखने को मिल रहे हैं. रिपोर्ट में बताया गया है कि गांव में सर्वाइकल और शहर से स्तन कैंसर के मामले ज्यादा सामने आते हैं. भारत में महिलाओं में स्तन कैंसर सबसे पहले नंबर पर है. इसका कारण मुख्य कारण देर से शादियां होना, गर्भधारण में देरी, स्तनपान कम करवाना, बढ़ता तनाव, लाइफ़स्टाइल और मोटापा है. रिपोर्ट में कहा गया है कि जो ब्रेस्ट कैंसर के मामलों की संख्या 377830 वो साल 2025 तक बढ़कर 427273 हो जाएगी. वर्तमान में भारत में ब्रेस्ट कैंसर का प्रतिशत 14 है.



Covid 19 : कोरोना काल में एयर ट्रेवल से पहले रखें इन बातों का ख़ास ख्याल

कैंसर से बचने के लिए इन तरीकों को अपनाएं
विशेषज्ञों का कहना है कि अगर आप कैंसर से बचना चाहते हैं तो आपको तंबाकू का इस्तेमाल बिलकुल बंद कर देना चाहिए. आईसीएमआर की रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख है कि सिगरेट पीना, चबाने वाले तंबाकू का इस्तेमाल और सेकेंड हैंड स्मोकिंग यानी सिगरेट पीते हुए व्यक्ति के साथ खड़े होने से भी कैंसर का खतरा होता है. रिपोर्ट में कहा गया है कि खुद को सुरक्षित रखने के लिए रोज एक्सरसाइज करनी चाहिए. इसके अलावा लोगों को कम नमक, कम चीनी और कम वसा युक्त खाना खाने की सलाह दी गई है. साथ ही हरी सब्जियां और ताज़ा फल आदि खाने की सलाह दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज