लाइव टीवी

इन देशों में नहीं डूबता है सूरज!

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 4:27 PM IST
इन देशों में नहीं डूबता है सूरज!
जानिये उन देशों के बारे में जहां नहीं डूबता है सूरज

घूमने के दौरान अगर आप कुछ अलग अनुभव करना चाहते हैं तो आइए आज हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे देशों के बारे में जहां कई दिनों तक रात नहीं होती है...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 4:27 PM IST
  • Share this:
कई लोगों के लिए घूमने से ज्यादा रोमांचकारी कुछ भी नहीं है. घूमने से जहां मन हल्का होता है वहीं रूटीन काम कर थक चुके मन में एक नया स्पार्क और ताजगी आता है. घूमने के बाद हम काम पर ज्यादा फोकस कर पाते हैं. कई बार तो कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो पैसे इक्कठा करने के बाद जॉब छोड़ देते हैं और निकल पड़ते हैं दुनिया की सैर पर. घूमने के दौरान अगर आप कुछ अलग अनुभव करना चाहते हैं तो आइए आज हम आपको बताते हैं कुछ ऐसे देशों के बारे में जहां कई दिनों तक रात नहीं होती है...



 इंडिया टुडे के अनुसार, नॉर्वे के स्थानीय निवासी इसे मध्य रात्रि का देश भी कहते हैं. नार्वे आर्कटिक सर्किल के तहत पड़ने वाला देश है. इस देश में मई माह से लेकर जुलाई के बीच लगभग 76 दिनों तक लगातार सूर्य की रौशनी रहती है.



स्वीडन एक ऐसा देश है जिसमें लगातार सूरज 100 दिन तक चमकता रहता है यानी कि 100 दिनों तक सूर्यास्त नहीं होता. बता दें कि यहां मई से लेकर अगस्त माह तक लगातार सूरज अस्त नहीं होता है.



अलास्का के ग्लेशियर किसी भी प्रकृति प्रेमी को अपनी तरफ आकर्षित कर सकते हैं. अलास्का में मई माह से लेकर जुलाई के बीच सूरज अस्त नहीं होता है.
Loading...



फिनलैंड की खूबसूरत झीलें किसी भी सैलानी का दिल चुरा सकती हैं. फ़िनलैंड में गर्मी के मौसम में में लगातार 73 दिनों तक सूरज अस्त नहीं होता है.



आइसलैंड भी एक ऐसा देश है जहां 10 मई से लेकर जुलाई माह तक सूर्यास्त नहीं होता है. यह यूरोप का दूसरा बड़ा द्वीप है. यहां आप रत में भी दिन का मजा ले सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः Diwali 2019: इन 5 चीजों के इस्तेमाल से देवी लक्ष्मी हो जाती हैं नाराज, पूजा में न करें इनका प्रयोग

इसे भी पढ़ेंः Diwali 2019: आखिर मां लक्ष्मी की पूजा दिवाली पर क्यों की जाती है?

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए यात्रा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 3:49 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...