लाइव टीवी

Sunday Special : Corona Effect के बीच इसलिए हुई शंख बजाने की अपील, खत्म होंगे कीटाणु!

News18Hindi
Updated: March 22, 2020, 5:35 PM IST
Sunday Special : Corona Effect के बीच इसलिए हुई शंख बजाने की अपील, खत्म होंगे कीटाणु!
शंख बजाने से फेफड़ों की अच्छी एक्सरसाइज हो जाती है.

आइए जानते हैं प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों को शंख बजाने के लिए क्यों कहा और इसका पौराणिक के साथ वैज्ञानिक महत्व क्या है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2020, 5:35 PM IST
  • Share this:
चीन के वुहान की सीमाओं को पार कर पूरी दुनिया में तबाही मचाने वाले कोरोना वायरस (Coronavirus) को विश्व स्वास्थ्य संगठन महामारी घोषित कर चुका है. आंकड़ों के मुताबिक अब तक इस संक्रमण से 11 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. भारत में भी अब तक इस संक्रमण के 300 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं.

संकट के इस दौर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज पूरे देश में 'जनता कर्फ्यू' का ऐलान किया है. इसी के साथ प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों को आज शाम 5 बजे घर की बालकनी या गेट के बाहर निकलकर शंख, घंटी और ताली बजाने का आग्रह किया है.

सारी दुनिया इस बात से अचंभित है कि आखिरकार प्रधानमंत्री मोदी ने शंख बजाने के लिए क्यों कहा है. आइए जानते हैं आखिरकार प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों को शंख बजाने के लिए क्यों कहा और इसका पौराणिक के साथ वैज्ञानिक महत्व क्या है. विज्ञान के अनुसार शंख बजाने से शरीर को कई तरह के लाभ होते हैं.

फेफड़ों को मिलते हैं ये खास फायदे



घर में पूजा पाठ के दौरान आपने पंडित या घर के किसी बड़े सदस्य को शंख बजाते देखा होगा. शंख बजाते वक्त शरीर की पूरी ताकत झोंकनी पड़ती हैं. सांसों को तेजी से शंख में फूंका जाता है, जिसके बाद ही आवाज़ आती है. इस कारण फेफड़ों की अच्छी एक्सरसाइज हो जाती है. पूजा पाठ के दौरान नियमित तौर पर शंख बजाने वाले लोगों को गले और फेफड़ों का कोई रोग नहीं होता है. ऐसा माना जाता है कि शंख फूंकने से दिमाग स्वस्थ्य रहता है.

वातावरण का परिष्कार

वैज्ञानिकों के अनुसार शंख की आवाज वातावरण के लिए काफी महत्वपूर्ण होती है. शंख की आवाज से वातावरण का परिष्कार होता है. इसके साथ ही हवा में मौजूद कीटाणु खत्म हो जाते हैं.

हार्ट प्रॉब्लम की संभावना होती है कम

कई शोधों में यह बात सामने आ चुकी है कि शंख बजाने से हार्ट प्रॉब्लम और फेफड़ों की बीमारियों की संभावना कम हो जाती है. इसके साथ जिन लोगों को बोलने में किसी तरह की समस्या आती है उन्हें भी शंख बजाने की सलाह दी जाती है.

बालों को बनाएगा चमकदार

ऐसा कहा जाता है कि रात को शंख में पानी रखकर सुबह उससे बाल धोने से बालों की हर समस्या से छुटकारा मिल सकता है. इसके लिए रात को शंख में पानी भरकर रख दें. सुबह इस पानी में गुलाब जल मिलाकर बालों को अच्छे से धोएं. जिन लोगों को उम्र से पहले बाल सफेद होने की समस्या होती है उनके लिए शंख का पानी बेहद लाभकारी माना जाता है.

त्‍वचा और हड्डियों की देखभाल

शंख आपके चेहरे को खूबसूरत बनाने में काफी मददगार होता है. इसके लिए रात को शंख में पानी भरकर रख दें, फिर सुबह उस पानी से अपने चेहरे की मसाज करें. जिन लोगों को चेहरे पर एलर्जी, सफेद दाग, रैशेज की समस्या होती है उनके लिए शंख का पानी का इस्तेमाल करना काफी अच्छा माना जाता है.

 

कैसे करें शंख का प्रयोग ? 

- शंख का प्रयोग करने के लिए बाजार से शंख लेकर आएं.

- बाजार में शंख खरीदते वक्त किसी ऐसे शख्स को साथ लेकर जाएं जो इसके बारे में जानकारी रखता हो.

- घर पर शंख लाने के बाद इसे गांगजल और दूध से धोकर शुद्धिकरण करें.

-  इसके बााद अपनी इच्छा अनुसार गुलाबी या लाल रंग के कपड़े में लपेटकर शंख को मंदिर या उस स्थान पर रखें जहां पर आप पूजा करते हैं.

- सुबह और शाम की पूजा के बाद इस शंख को बजाएं.

- बजाने के बाद इसे दोबारा से पानी से धोएं और वापस उसी स्थान पर रख दें.

 

 

 
Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 22, 2020, 11:06 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर