सनस्क्रीन या सन ब्लॉक, धूप की किरणों से कौन देगा स्किन को ज्यादा सुरक्षा? जानें

सनस्क्रीन लोशन का चुनाव करते समय एसपीएफ की मात्रा की सही जानकारी होना बहुत ज़रूरी है. Image Credit : Pexels/Moose Photos

Summer Skincare Routine - कई लोग हैं जिन्‍हें सनस्‍क्रीन (Sunscreen) और सन ब्‍लॉक (Sun Block) के बीच का अंतर पता नहीं होता. ऐसे में यहां कई जानकारियां साझा की जा रहीं हैं जो समर(Summer) स्किन केयर के लिए आपके काफी काम आ सकती है.

  • Share this:
    Summer Skincare Routine : गर्मी का मौसम शुरू होते ही हमें सनबर्न (Sunburn), टैनिंग (Tanning) और अन्‍य त्‍वचा संबंधी समस्‍याओं (Skin Problem) का सामना करना पड़ता है. पराबैगनी किरणें (UV Light) हमारी स्किन को काफी नुकसान पहुचाती हैं जिससे बचने के लिए सनस्‍क्रीन (Sunscreen) या सनब्‍लॉक (Sun Block) का प्रयोग जरूरी बताया जाता है. ये प्रोडक्‍ट हर तरह से हमारी त्‍वचा का बचाव करती हैं. लेकिन इनके बारे में ज्‍यादातर लोगों को पूरी जानकारी नहीं होती जिस वजह से इनका प्रयोग सही तरीके से नहीं कर पाते. तो आइए जानते हैं धूप से बचने के लिए हम जिन सनस्‍क्रीन या सन ब्‍लॉक के प्रयोग की बात कर रहे हैं आखिर ये क्‍यों खास हैं.

    क्‍यों जरूरी है धूप से बचना

    हेल्‍थ के मुताबिक, उम्र से पहले स्किन पर झुर्रियां, फाइन लाइंस, रंगत पर प्रभाव, झांइयां आदि का सबसे बड़ा कारण यूवी किरणें होती हैं. अगर ज्‍यादा देर तक धूप में रहते हैं तो न सिर्फ त्वचा पर कालापन आ जाता है बल्कि स्किन से जुड़ी कई गंभीर समस्याएं भी हो सकती हैं.

    एसपीएफ क्‍या है

    सनस्क्रीन लोशन का चुनाव करते समय उसमें मौज़ूद सन प्रोटेक्शन फैक्टर यानी एसपीएफ की मात्रा की सही जानकारी होना बहुत ज़रूरी है. बता दें कि कम से कम एसपीएफ 15 की मात्रा वाली सनस्क्रीन लगाना बेहतर रहता है लेकिन बढ़ती गर्मी और प्रदूषण के दौरान एसपीएफ 15 से लेकर एसपीएफ 30 वाले सनस्क्रीन लोशन अधिक प्रभावी होते हैं. बता दें कि सनस्क्रीन में एसपीएफ की मात्रा जितनी ज्य़ादा होगी, त्वचा को अल्ट्रा वॉयलेट बी किरणों से होने वाला नुकसान उतना ही कम होगा. जैसे अगर सनस्क्रीन में एसपीएफ की मात्रा 15 है तो त्वचा को 15 गुना ज्‍यादा सन प्रोटेक्शन मिलेगा. वहीं अगर आप सनस्क्रीन का इस्तेमाल किए बिना ही धूप में निकलते हैं तो त्वचा झुलसने की आशंका 15 गुना ज्‍यादा हो जाती है.





    इसे भी पढ़ें : गर्मियों में बालों से ऐसे दूर करें पसीना, अपनाएं ये घरेलू टिप्स




    सनस्क्रीन और सनब्लॉक में क्‍या है अंतर

    सनस्‍क्रीन में कई ऑर्गेनिक कैमिकल कम्‍पाउंड होते हैं जो यूवी लाइट के संपर्क में आकर रिऐक्‍शन करते हैं और स्किन का बचाव करते हैं. ये यूवीबी किरणों को मामूली रूप से फिल्टर करती हैं. जबकि सनब्लॉक में कई तरह के मिनिरल इंग्रीडिएंट कॉम्‍पोनेंट होते हैं जैसे टिटैनियम डायऑक्‍साइड और जि़ंक ऑक्साइड, जो यूवी किरणों को त्वचा के संपर्क में आने से पहले हीं ब्‍लॉक कर देते हैं. इस तरह कह सकते हैं कि सनस्‍क्रीन क्रीम यूवी किरणों को स्किन तक पहुंचने से पहले खुद में उन्‍हें सोख लेती है जबकि सनब्‍लॉक यूवी किरणों को स्किन तक पहुंचने से पहले ब्‍लॉक कर देता है.

    प्रयोग में कैसे हैं दोनों में अंतर

    सनस्‍क्रीन को बाहर निकलने से 30 मिनट पहले अप्‍लाई किया जाता है इसके बाद बाहर धूप में निकला जाता है जबकि सन ब्‍लॉक को निकलने से तुरंत पहले प्रयोग किया जाता है.

     कैसे करें इनका चुनाव

    -अगर आपकी स्किन सेंसिटिव है तो आपको सनब्लॉक इस्तेमाल करना चाहिए. इससे यूवी किरणों से होने वाली एलर्जी का खतरा कम होता है.

    -अगर आपके पास वक्‍त का अभाव हो और तुरंत काम करने वाला प्रोडक्‍ट आप चाहते हों तो सनस्क्रीन चुनें. ये जल्‍दी सूख जाते हैं और इसका असर भी तुरंत शुरू हो जाता है.

    - हमारे देश के मौसम के हिसाब से एसपीएफ 30 या उससे ज़्यादा एसपीएफ ही बेहतर होता है. फिर वो चाहे सनस्‍क्रीन हो या सनब्‍लॉक.

    -अगर आपकी स्किन ऑयली है तो आप जेल बेस्‍ड लोशन का प्रयोग करें.

    -अगर आपकी स्किन ड्राई है तो आप मॉश्‍चराइजर बेस्‍ड लोशन का प्रयोग करें.

    -अगर आपकी स्किन नॉर्मल है तो आप क्रीम बेस्‍ड प्रयोग कर सकते हैं.

    इस तरह करें प्रयोग

    अगर सनस्क्रीन लोशन लगाने के बाद आपको पसीना आता है तो इसका प्रभाव जा सकता है. ऐसे में आप सनस्क्रीन  की मोटी परत लगाएं. अगर आप इसकी चिपचिपाहट से बचना चाहते हैं तो आप इसे लैक्टो कैलमाइन लोशन के साथ मिक्स कर भी लगा सकते हैं.





    इसे भी पढ़ें : Men's Fashion : गर्मी से बचने के लिए पहनें ऐसे कपड़े, कूल लुक के साथ पसीने से मिलेगी राहत




    खरीदते समय जरूर चेक करें

    सनस्क्रीन खरीदते समय हमेशा प्रोडक्‍ट के उपर यूवीए और यूवीबी प्रोटेक्शन (बोर्ड स्पेक्ट्रम) प्रिंट जरूर चेक करें. यूवीए और यूवीबी प्रोटेक्शन न केवल सनबर्न से बल्कि स्किन कैंसर से भी बचाने में मदद करता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.