ऑक्‍सीजन लेवल कम होगा तो शरीर में दिखेंगे ऐसे लक्षण, जानें कब है अस्‍पताल जाने की जरूरत

घर पर पल्स ऑक्सीमीटर डिवाइस रखें और चेक करते रहें. Image Credit : Pexels/CDC

Symptoms Of Decreasing Oxygen Level : घर पर इलाज (Home Isolation) कर रहे कोरोना मरीजों (Corona Patient) के लिए यह जानना जरूरी है कि शरीर में ऑक्सीजन (Oxygen) लेवल कम होने के क्या लक्षण हैं और कब उन्हें अस्पताल जाने की जरूरत है.

  • Share this:
    Symptoms Of Decreasing Oxygen Level: पूरे देश में कोरोना (Corona) से हाहाकार मचा हुआ है. लोग संक्रमण से बचने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं.  लेकिन इसके बावजूद कोरोना के नए वेरिएंट से लोग बच नहीं पा रहे. कोरोना के इस नए रूप में मरीजों को वेंटिलेटर से ज्यादा ऑक्सीजन(Oxygen) की जरूरत पड़ रही है. अस्‍पतालों में ऑक्सीजन की तेजी से बढ़ी खपत और अचानक आई कमी के कारण मरीज अस्पताल में पहुंचकर भी दम तोड़ रहे हैं. ऐसे में जिन मरीजों का इलाज होम आइसोलेशन में चल रहा है उनके लिए खतरा बना हुआ है. घर पर इलाज कर रहे मरीजों के लिए यह जानना जरूरी है कि शरीर में ऑक्सीजन लेवल कम होने के क्या लक्षण हैं और कब उन्हें अस्पताल जाने की जरूरत है. ऐसे में यहां बताया जा रहा है ऑक्‍सीजन कम होने के लक्षण क्‍या हैं और ऐसा होने पर क्‍या करें.

    1.चेक करते हैं ऑक्सीजन सैचुरेशन

    हिन्‍दुस्‍तान की खबर के मुताबिक, दिल्ली AIIMS के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने बताया कि होम क्वारंटीन में इलाज करा रहे मरीजों को अपना ऑक्सीजन सैचुरेशन समय समय पर चेक करते रहना चाहिए. इसके लिए घर में  पल्स ऑक्सीमीटर डिवाइस रखें और हाथ की उंगली पर लगाकर चेक करते रहें. रीडिंग में अगर 94 से ज्यादा लेवल है तो आप खतरे से बाहर हैं.
    इसे भी पढ़ें : कोरोना काल में बदल दें अपनी ये 6 बुरी आदतें, तभी संक्रमण से होगा बचाव



    2.ऑक्सीजन सैचुरेशन 90 या इससे कम हुआ तो मरीज के लिए है खतरा

    कोरोना होने पर तेजी से ऑक्सीजन लेवल घटता है. ऐसे में मरीज का SpO2 लेवल 94 से 100 के बीच रहता है तो ये हेल्‍दी होने का लक्षण है. लेकिन अगर लेवल 94 से नीचे आ जाए तो ये हाइपोक्सेमिया को ट्रिगर कर सकता है. ऐसा होने पर कई तरह की परेशानियां आ सकती हैं. अगर ऑक्सीजन सैचुरेशन लेवल 90 से भी नीचे जाने लगे तो मरीज के लिए यह खतरे की निशानी है. ऐसे में मरीज को तुरंत पास के अस्‍पताल में एडमिट कराएं.

    3.ऑक्सीजन लेवल 91 से 94 के बीच हो तो पहले क्‍या करें

    अगर पेशेंट का ऑक्सीजन लेवल 91 से 94 के बीच है तो उसे घर पर प्रोनिंग एक्सरसाइज कराएं या प्रोनिंग पोजीशन में लिटाएं और तेज सांस लेने बोलें.  इसकी जानकारी आपको इंटरनेट पर आसानी से मिल जाएगी. इसकी मदद से शरीर में ऑक्‍सीजन लेवल को बढ़ाने में मदद मिलती है.

    4.चेहरे का रंग गहरा होना

    शरीर में अगर ऑक्सीजन की कमी होती है तो चेहरे का रंग नीला पड़ने लगता है और होठों पर भी नीलापन आ जाता है. इसे स्यानोसिस होने का लक्षण माना जाता है. दरअलस हेल्दी ऑक्सीजेनेटेड ब्लड की वजह से हमारी स्किन लाल या गुलाबी ग्लो करती है लेकिन जब शरीर में ऑक्सीजन कम होने लगता है तो ऐसे लक्षण दिखने लगते हैं.
    इसे भी पढ़ें : कोरोना काल में बदल दें अपनी ये 6 बुरी आदतें, तभी संक्रमण से होगा बचाव
     



    5.सांस लेने में तकलीफ

    ऑक्सीजन लेवल कम होने से कोरोना मरीजों को सांस लेने में तकलीफ, छाती में दर्द, सीने में दबाव, लगातार खांसी, बेचैनी और तेज सिरदर्द देखने को मिलता है. ऐसे लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और जल्द से जल्द अस्पताल में भर्ती हो जाएं.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.