मानसून सीजन में अपने डॉगी का कैसे रखें ध्यान, यहां जानिये ऐसे हर सवाल का जवाब

मानसून सीजन में अपने डॉगी का कैसे रखें ध्यान, यहां जानिये ऐसे हर सवाल का जवाब
मानसून के सीजन में जानवरों में बीमार का खतरा बढ़ जाता है.

मानसून (Monsoon) के सीजन में आदमियों और जानवरों दोनों के बीमार (Diseases) होने का खतरा ज्यादा रहता है. इस सीजन में वायरस ज्यादा सक्रिय हो जाते हैं. ऐसे में आपको अपने कुत्ते की देखभाल के लिए इन जरूरी बातों का ध्यान रखना होगा.

  • Share this:
अपने घर में डॉगी (Dog) को लाने से पहले यह जानना महत्वपूर्ण है कि इसकी देखभाल कैसे करें. आपको इसकी ज़रूरतों को समझने के लिए भौतिक और भावनात्मक दोनों तरह की चीजों को समझना होगा. घर में डॉगी के लिए पौष्टिक भोजन, (Nutritious food) स्वच्छ पेयजल और रहने के लिए सुरक्षित जगह का होना जरूरी है. मानसून (Monsoon) के मौसम में बीमारियां (Diseases) आदमियों और जानवर दोनों में तेजी से फैलती हैं. ऐसे में इस सीजन में अपने डॉगी का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है. क्योंकि ये डॉगी घर में परिवार के सदस्यों की तरह रहता है और इसके बीमार होने से घर के और लोग भी बीमार हो सकते हैं. इसलिए इसकी देखभाल भी घर के अन्य सदस्यों की तरह की जानी चाहिए. आइए डॉगी की देखभाल के कुछ तरीकों के बारे में जानते हैं.

कुत्ते को अच्छा खाना खिलायें
हाऊविकी के अनुसार घर में सबसे पहले अपने कुत्ते को अच्छी गुणवत्ता वाला खाना खिलाना चाहिए. कुत्ते को किस तरह का  भोजन खिलाना चाहिए इसके बारे में आप अपने पशु चिकित्सक से पूछ सकते हैं. घरेलू कुत्ते को अच्छा भोजन देने से वह स्वस्थ रहेगा और घर में गंदगी नहीं होगी तो परिवार के लोग भी स्वस्थ रहेंगे. कुत्ते को दिन में दो बार खिलाना चाहिए. कुत्तों को आमतौर पर खाने के 20 - 30 मिनट बाद बाथरूम जाना पड़ता है. इस बात का भी ध्यान रखें. अपने कुत्ते को ऐसा कोई भी खाना न खिलाएं, जो उसे नुकसान पहुंचा सकता है. जैसे चॉकलेट, एवोकैडो, ब्रेड आटा, किशमिश, अंगूर, प्याज, या ज़ाइलिटोल कुत्ते को न खिलाएं.

मानसून में भूलकर भी न करें ये 10 गलतियां वरना पड़ सकते हैं बीमार
कुत्ते को साफ पानी पीने के लिए दें


भोजन ही एक मात्र चीज नहीं है, जो कुत्ते को जीवित रखता है. इसके अवाला साफ पानी देना ज्यादा महत्वपूर्ण है. अपने कुत्ते को पानी की सुविधा दें. इसके अलावा आपको अपने कुत्ते की नियमित जांच करानी चाहिए. इसलिए आपको पशु चिकित्सक की जानकारी रखनी चाहिए. आपको एक आपातकालीन पशु चिकित्सक के बारे में भी पता होना चाहिए जो दिन में 24 घंटे और सप्ताहांत पर खुला रहता है.

अपने कुत्ते को टीका लगवाएं
आपका पशु चिकित्सक आपको सलाह देगा कि क्षेत्र में कौन से रोग आम हैं और इसलिए किन रोगों का टीका कुत्ते को लगवाना चाहिए. आमतौर पर, टीके को नियमित बूस्टर इंजेक्शन के साथ रखा जाता है, जो या तो वार्षिक या तीन-वार्षिक हो सकता है, जो बीमारी पर निर्भर करता है. अधिकांश कुत्तों को एंटी रेबीज का टीका लगाया जाता है.

अपने कुत्ते का ध्यान रखें
इन सभी उपायों के बाद भी अपने कुत्ते की सेहत की ध्यान रखें. ऐसा करने से स्वास्थ्य विकारों का जोखिम कम होता है. बता दें कि कुछ स्वास्थ्य समस्याओं के लिए डाइजेड कुत्ते वास्तव में उच्च जोखिम में होते हैं. उदाहरण के लिए, कुछ प्रकार के कैंसर और थायरॉइड की समस्याओं के साथ-साथ हृदय संबंधी समस्याओं के लिए भी आपका कुत्ता जोखिम में हो सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading