मानसून में इस तरह करें अपने गार्डन की देखभाल, झूम उठेंगे पौधे

मानसून में इस तरह करें अपने गार्डन की देखभाल, झूम उठेंगे पौधे
मानसून में पौधों की ज्‍यादा केयर करने की जरूरत होती है.

मानसून (Monsoon) पौधों के लिए बहुत अच्छा माना जाता है. मगर बारिश में अक्‍सर पौधों को जरूरत से ज्यादा पानी मिल जाता है. ऐसे में इनकी पत्तियां और जड़ें सड़ने लगती हैं. दरअसल, इस मौसम में पौधों कम तापमान (Low Temperature) और ह्यूमिडिटी (Humidity) के अलावा ज्‍यादा केयर की जरूरत होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2020, 2:49 PM IST
  • Share this:
पानी पौधों (Plants) के लिए बेहद जरूरी है और मानसून (Monsoon) एक ऐसा समय है जो पौधों के लिए बहुत अच्छा माना जाता है. मगर बारिश में अक्‍सर पौधों को जरूरत से ज्यादा पानी मिल जाता है. ऐसे में इनकी पत्तियां और जड़ें सड़ने लगती हैं. अगर इस मौसम में पौधों पर पूरा ध्यान न दिया जाए तो इससे बारिश का पानी पौधों को खराब भी कर सकता है. इसलिए इनकी ज्‍यादा देखभाल (Care) की जरूरत है. आपको इस बात का ख्‍याल रखना चाहिए कि आपके पौधों को कितने पानी और धूप की जरूरत है और इन्‍हें ये सही तरीके से मिल भी पा रहे हैं या नहीं. दरसअल, मानसून में पौधों के लिए कम तापमान (Low Temperature) और ह्यूमिडिटी (Humidity) बेहतर मानी जाती है और पौधों की ज्‍यादा केयर करने की जरूरत होती है. आज हम आपको पौधों की केयर से जुड़े कुछ ऐसे ही टिप्स बताने जा रहे हैं. इनकी मदद से आप अपने पौधों का अच्‍छी तरह से ख्याल रख सकते हैं.

पौधों की जांच करते रहें
बारिश के मौसम में आपको आपके पौधों को ज्‍यादा देखभाल की जरूरत होती . इस मौसम में इनमें कीड़े लगने का खतरा भी ज्‍यादा रहता . ऐसे में समय-समय पर अपने पौधों की जांच करते रहें. इससे आप अपने पौधों की स्थिति से वाकिफ रहेंगे और उनमें कीड़े आदि लगने का पता आपको चल जाएगा और कीड़े आपके पौंधों को खराब नहीं कर .

ये भी पढ़ें - 'पिया तू अब तो आजा...' पर झूम के नाचीं बुजुर्ग महिलाएं, वीडियो वायरल
पौधों को अधिक पानी न दें


बरसात के मौसम में अपने पौधों को अधिक पानी न दें. बरसात की वजह से मिट्टी में नमी बनी रहती है और ज्‍यादा पानी देने से पौधे खराब हो सकते . इससे पौधों की जड़ों को नुकसान पहुंच सकता है और इनकी ग्रोथ पर बुरा असर पड़ सकता है.

बारिश के पानी से बचाव रखें
इस मौसम में अपने प्लांट्स को उस जगह पर रखें, जहां पौधों को पर्याप्त मात्रा में पानी मिले, मगर वे बारिश के पानी से बचे रहें, क्‍योंकि अगर पौधों में बारिश का पानी ज्‍यादा गया तो ये अधिक पानी की वजह से खराब भी हो सकते हैं.

ये भी पढ़ें - अपने नवजात शिशु को नहलाते समय कभी न करें ये 5 काम

कीटनाशक का छिड़काव जरूरी
मानसून में अपने इनडोर पौधों का भी ध्‍यान रखें. कीटों और बीमारियों से बचाव के लिए कीटनाशक का छिड़काव करें. अगर आपके इंडोर प्लांट्स छत या बरामदे पर लगाए गए हैं, तो इनको ढकने के लिए छिद्रित चादरों का इस्‍तेमाल करें. इससे पौधों तक जरूरत के मुताबिक पानी ही पहुंचेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज