Home /News /lifestyle /

teach children these polite things when they go to others home mt

अगर आपका बच्चा जा रहा है किसी और के घर तो उसे जरूर समझाएं ये बातें

बच्चों को दूसरों के घर जाने के सही समय से अवगत कराएं.-Image/Canva

बच्चों को दूसरों के घर जाने के सही समय से अवगत कराएं.-Image/Canva

बच्चों को बचपन से ही सही मैनर्स सिखाना बहुत जरूरी होता है. दरअसल, घर के अंदर बच्चों की जो आदतें आपको प्यारी लगती हैं. किसी दूसरे के घर पर वही आदतें लोगों को इरिटेट भी कर सकती हैं. ऐसे में दूसरों के घर पर खेलने, बोलने और खाने-पीने के सही तरीकों से बच्चों को अवगत कराएं. इससे आप ना सिर्फ बच्चों के व्यवहार को बेहतर बना सकते हैं, बल्कि बच्चे कहीं भी अपने तौर-तरीकों से लोगों का दिल जीतने में भी कामयाब हो सकते हैं.

अधिक पढ़ें ...

Parenting Tips: आमतौर पर बचपन में बच्चों की ज्यादातर हरकतें काफी प्यारी और मासूम होती हैं. वहीं कुछ बच्चों का स्वभाव काफी चंचल भी होता है. ऐसे में बच्चों को घर में रोककर रखना पैरेंट्स के लिए मुश्किल हो जाता है और बच्चे अक्सर पड़ोसियों या दोस्तों के घर आते-जाते रहते हैं. ऐसे में अगर आपका बच्चा किसी और के घर जाए, तो उसे कुछ बातें समझाना जरूरी हो जाता है.

जाहिर है बच्चों के घर से बाहर निकलने के बाद माता-पिता हर वक्त बच्चे के साथ नहीं रह सकते हैं. वहीं अच्छे-बुरे के फर्क से अंजान बच्चे हर जगह घर जैसा ही व्यवहार करने लगते हैं. ऐसे में बच्चों की कुछ शैतानियां और गलतियां दूसरों को खराब भी लग सकती हैं. इसलिए किसी दूसरे के घर जाने से पहले बच्चों को कुछ बातें समझाकर आप उन्हें लोगों से बेहतर व्यवहार करने की ट्रेनिंग दे सकते हैं.

रिस्पेक्ट है जरूरी
सबसे पहले बच्चों को बड़ों की रिस्पेक्ट करना सिखाएं. मसलन दूसरों के घर जाने पर बड़ों से नमस्ते करना, सबसे प्यार से बात करना और बड़ों के साथ गलत व्यवहार ना करने की सीख बच्चों को अवश्य देनी चाहिए. वहीं बच्चों को रातों-रात ये चीजें सिखाना असंभव है. इसलिए बचपन से ही बच्चों को ये मैनर्स सिखाने की कोशिश करें.

घर की चीजों से रहें दूर
बच्चे अक्सर अपने घर में अलग-अलग चीजों को खिलौना बनाकर खेलने लगते हैं. हालांकि, दूसरों के घर में ऐसा करने से लोग इरिटेट होने लगते हैं. इसलिए बच्चों को दूसरों के घर पर किसी भी चीज को टच ना करने की सीख दें.

पेट भरा रखें
घर से बाहर निकलने से पहले बच्चों को पेट भर के खाना जरूर खिला दें. जिससे बच्चे पड़ोसियों के यहां खाने की जिद ना करें. साथ बच्चों को समझाएं कि जब कोई प्यार से कुछ खाने को दे, तभी चीजों को खाएं. वरना दूसरों के यहां कुछ भी मांग कर बिल्कुल ना खाएं.

समय का रखें ध्यान
बच्चों को दूसरों के घर जाने के सही समय से अवगत कराएं. बच्चों को बताएं कि सुबह या फिर खाने के समय दूसरों के घर नहीं जाना चाहिए. साथ ही बच्चों के खाने और खेलने का सही समय निर्धारित करना ना भूलें.

आने से पहले पड़ोसियों को बताएं
बिना बताए पड़ोसियों के घर से वापस आना बच्चों की लापरवाही का प्रतीक होता है. इसलिए बच्चों को बता कर ही वापस आने की सीख दें. बच्चे जिसके भी घर खेलने जाएं, तो घर वापस आने से पहले किसी बड़े को बता कर ही आएं. इन्हीं छोटी-छोटी आदतों से बच्चे जिम्मेदार बनते हैं.

Tags: Child Care, Lifestyle, Parenting

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर