क्या आपके मसूड़ों से आता है खून? इन 5 घरेलू तरीकों से करें उपचार

मसूड़ों से खून आने पर आप इसका इलाज अपने घर पर ही कर सकते हैं.

मसूड़ों (Gums) से खून (Blood) आने के दौरान कुछ लक्षण दिखाई देते हैं. जैसे मसूड़े (Gums) फूलना, मुंह और मसूड़ों के आसपास दर्द, मसूड़ों और दातों के बीच की दूरी बढ़ना. ऐसे में आपको डॉक्टर (Doctor) से संपर्क करना चाहिए.

  • Myupchar
  • Last Updated :
  • Share this:


    मुस्कराते (Smile) वक्त सफेद और चमकते दांत (Shining teeth) सभी को प्रभावित करते हैं, लेकिन इन्हीं मसूड़ों (Gums) से जब खून बहता हो तो भला इनको कौन देखना चाहेगा. ऐसी समस्या होने पर किसी के सामने मुस्कराना तो दूर आप ठीक से बात भी नहीं कर सकते. आज के समय में मसूड़ों (Gums) से खून (Blood) आने की समस्या से ज्यादातर लोग पीड़ित हैं. कभी-कभी मसूड़ों से खून आने की समस्या ज्यादा रगड़ के साथ ब्रश (Brush) करने या डेंचर के ठीक से फिट न होने से हो सकती है. लेकिन मसूड़ों से बार-बार खून आना विटामिन की कमी, प्लेटलेट की कमी, मसूड़ों के रोग पेरियोडॉनटाइटिस, महिलाओं में हार्मोनल बदलाव का संकेत देता है.

    myUpchar से जुड़े डॉ. राजी एहसान बताते हैं कि मसूड़ों से खून आने के दौरान कुछ लक्षण और संकेत दिखाई दे सकते हैं, जिसमें मसूड़े फूलना, मुंह और मसूड़ों के आसपास दर्द, गहरे लाल रंग के मसूड़े, मसूड़ों और दातों के बीच की दूरी बढ़ जाना, मुंह की बदबू, दांत ढीले होना शामिल है. इस समस्या के कारणों और लक्षणों को पता लगाने के लिए डेंटिस्ट के पास जा सकते हैं.

    myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला का कहना है कि लगातार या अक्सर मसूड़ों से खून आना खतरनाक तो नहीं है, लेकिन इसका उपचार जरूरी है. घरेलू उपचार से भी मसूड़ों से खून आने की समस्या में राहत मिल सकती है. इसके लिए आपको कुछ चीजों को अपनान होगा.

    तेज भूख लगने पर कभी न खाएं ये 7 चीजें, हो सकती है ऐसी परेशानी

    नारियल का तेल
    नारियल के तेल में एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं जो कि मसूड़ों में सूजन और खून बहने की समस्या से छुटकारा दिला सकता है. इस तेल में मौजूद एंटी-माइक्रोबियल गुण दांतों को साफ रखते हैं. इसे इस्तेमाल करने के लिए नारियल के तेल को 10 से 15 मिनट तक मुंह में घुमाते रहें. ऐसा रोजाना दिन में एक बार करें.

    लौंग का तेल
    लौंग का तेल एंटी-बैक्टीरियल गुणों के भरपूर होता है. साथ ही एंटी-बैक्टीरियल गुण मसूड़ों से खून बहने की समस्या के खिलाफ बेहद फायदेमंद साबित होते हैं. सबसे अच्छी बात यह है कि मसूड़ों पर सीधे लौंग का तेल लगा सकते हैं. लौंग के तेल की कुछ बूंदें लें और इसे थोड़ा गर्म करें. फिर इस गर्म लौंग के तेल को मसूड़ों पर दिन में 2 बार लगाएं. इसे मसूड़ों पर लगभग 5-10 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर गुनगुने पानी से धो लें.

    नमक का पानी
    नमक के पानी का नियमित इस्तेमाल मसूड़ों से खून बहने के प्रभावी घरेलू उपचार में से एक है. नमक में एंटी-इन्फ्लेमेटरी और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो मसूड़ों में सूजन और संक्रमण को कम करने में उपयोगी होता है. नमक की कुछ मात्रा के साथ थोड़ा गर्म पानी मिलाएं और इससे कुल्ला करें. बेहतर नतीजों के लिए दिन में लगभग 2-3 बार ऐसा कर सकते हैं.

    इन पांच जूस का नियमित सेवन करने से काले और हेल्दी रहेंगे आपके बाल

    विटामिन
    चूंकि मसूड़ों से खून आने का एक कारण शरीर में विटामिन की कमी है, इसलिए विटामिन की सही खुराक का सेवन करके इसे रोका जा सकता है. इसके लिए ऐसे खाद्य पदार्थों को आहार में ज्यादा शामिल करना चाहिए जो विटामिन सी और विटामिन-के से भरपूर होते हैं. नीबू, आंवला, संतरे, गाजर का सेवन लाभकारी होगा.

    शहद
    शहद एंटी-बैक्टीरियल है, जिसमें मसूड़ों में सूजन और खून आने जैसे बैक्टीरियल संक्रमण से लड़ने के गुण पाए जाते हैं. मसूड़ों की सूजन कम करने वाले एंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण भी होते हैं. इसे इस्तेमाल करने के लिए उंगुली में थोड़ा सा शहद लें और हल्के-हल्के मसूड़ों पर मसाज करें. ऐसा कम से कम दिन में दो बार करें.

    अधिक जानकारी के लिए हमारा आर्टिकल, जिंजीवाइटिस क्या है, इसके प्रकार, लक्षण, कारण, इलाज, परहेज, जोखिम और दवा पढ़ें।

    न्यूज18 पर स्वास्थ्य संबंधी लेख myUpchar.com द्वारा लिखे जाते हैं। सत्यापित स्वास्थ्य संबंधी खबरों के लिए myUpchar देश का सबसे पहला और बड़ा स्त्रोत है। myUpchar में शोधकर्ता और पत्रकार, डॉक्टरों के साथ मिलकर आपके लिए स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियां लेकर आते हैं।

    Published by:Pankaj Soni
    First published: