लाइव टीवी

जोड़ों के दर्द में इन 5 चीजों से मिलेगा आराम, आप भी जान लें नाम

News18Hindi
Updated: November 30, 2019, 5:50 AM IST
जोड़ों के दर्द में इन 5 चीजों से मिलेगा आराम, आप भी जान लें नाम
ब्रोकली में ऐसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो जोड़ों की सेहत को लंबे समय तक बरकरार रखते हैं.

पहले अर्थराइटिस की समस्या सिर्फ ज्यादा उम्र के लोगों में देखने को मिलती थी लेकिन आज इससे कोई अछूता नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 30, 2019, 5:50 AM IST
  • Share this:
अर्थराइटिस या जोड़ों के दर्द की परेशानी आजकल बहुत आम बात हो गई है. पहले यह बीमारी सिर्फ ज्यादा उम्र के लोगों में देखने को मिलती थी लेकिन आज इससे कोई अछूता नहीं है. आज के समय में यह परेशानी युवकों में भी नजर आती है. अगर आप भी इस परेशानी से जूझ रहे हैं तो आइए आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताते हैं जिन्हें डाइट में शामिल कर आप इससे जल्द राहत पा सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः ठंड के मौसम में क्यों खाना चाहिए किशमिश, आज ही जान लें इसके पीछे का कारण

ब्रोकली
ब्रोकली में ऐसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो जोड़ों की सेहत को लंबे समय तक बरकरार रखते हैं. ब्रिटेन की यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट एंजेलिया के शोधकर्ताओं के अनुसार, ब्रोकली में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो गठिया से बचाने या बीमारी को बढ़ने से रोकने में सक्षम हैं. इसमें मौजूद कैल्शियम, कार्बोहाईड्रेट, प्रोटीन, आयरन, विटामिन ए और सी, क्रोमियम, हमारे शरीर को हेल्दी रखने का काम करता है.

लहसुन
अर्थराइटिस रोगियों को अपनी डायट में हर दिन लहसुन का इस्तेमाल करना चाहिए. इसके सेवन से उन्हें काफी फायदा होता है. इसमे पाए जाने वाले एंटी बैक्टीरियल, एंटीफंगल, एंटी बायोटिक और एंटी इंफ्लेमेट्री गुण जोड़ों के दर्द से छुटकारा दिलाने में मददगार साबित होते हैं.

बथुआ
Loading...

अर्थराइटिस से राहत पाने के लिए बथुआ के पत्तों का रस वरदान समान है. अपनी डाइट में बथुआ को तो शामिल करें ही, इसके साथ ही रोजाना इसके पत्तों का रस भी पीएं. ध्यान रखें रस में स्वाद के लिए कुछ नहीं मिलाएं. कम से कम तीन महीने तक इसका सेवन करें.

हल्दी
हल्दी में करक्यूमिन नामक तत्व होता है, जो बीमारी फैलाने वाले बैक्टिरिया को खत्म करता है. इसलिए गठिया के दर्द के मरीजों को इसका सेवन जरूर करना चाहिए. साथ ही इसको खाने से आपको दर्द में भी राहत मिलती है.

इसे भी पढ़ेंः प्रेग्नेंसी के दौरान जरूर करें पेरिनियल मसाज, आसान होगी नॉर्मल डिलीवरी

ओमेगा-3 एसिड
अर्थराइटिस से छुटकारा पाने के लिए ओमेगा-3 फैटी एसिड को डाइट में शामिल करना चाहिए. इसके लिए आपको एल्गी ऑयल, फिश ऑयल, सैमन मछली को अपनी डाइट में शामिल करना होगा.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 30, 2019, 5:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...