Home /News /lifestyle /

ये 5 गलत आदतें खराब कर रही हैं लड़कियों की फर्टिलिटी, कहीं आप तो नहीं हैं इनकी शिकार

ये 5 गलत आदतें खराब कर रही हैं लड़कियों की फर्टिलिटी, कहीं आप तो नहीं हैं इनकी शिकार

प्रतिकात्मक तस्वीर

प्रतिकात्मक तस्वीर

डॉक्टरों की मानें तो 18 से 30 साल की उम्र आपकी सेहत और फर्टिलिटी के लिहाज से बहुत सेंसिटिव होती है. इस उम्र में छोटी से छोटी गलती भविष्य में कई गंभीर समस्याएं पैदा कर सकती हैं.

    18 से 30 की उम्र की लड़कियों में एनर्जी की मात्रा बहुत अधिक होती है. ये उम्र ज्यादातर लोगों के कॉलेज या नौकरी की शुरुआत की उम्र होती है, इसलिए इस उम्र में लोग दोस्ती और मस्ती खूब करते हैं. कई लड़कियों की तो 25 से 30 की उम्र के बीच शादी भी हो जाती है. हालांकि आजकल की लाइफस्टाइल के चलते इस उम्र में ही लड़कियों को कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है. Mayoclinic.org में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार यंग लड़कियों में इन दिनों इन्फर्टिलिटी यानी बच्चा न होने की समस्या तेजी से बढ़ी है.

    इसे भी पढ़ेंः अब टूथपेस्ट बताएगा आप प्रेग्नेंट हैं या नहीं, रसोई की इन चीजों से करें प्रेग्नेंसी टेस्ट

    डॉक्टरों की मानें तो 18 से 30 साल की उम्र आपकी सेहत और फर्टिलिटी के लिहाज से बहुत सेंसिटिव होती है. इस उम्र में आपके द्वारा की गई छोटी से छोटी गलती भविष्य में कई गंभीर समस्याएं पैदा कर सकती हैं. इन समस्याओं में हार्ट अटैक, डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर और इन्फर्टिलिटी की समस्या सबसे अधिक है. ज्यादातर लड़कियों में इन्फर्टिलिटी का कारण उनकी कुछ गलत आदतें होती हैं, जिस पर वह युवावस्था में ध्यान नहीं देती है. आइए आपको बताते हैं यंग लड़कियों की ऐसी ही 5 आदतों के बारे में जो उनमें इन्फर्टिलिटी की समस्या को बढ़ा रही हैं.

    नींद पूरी न होना
    युवाओं में इन दिनों देर रात तक जागने की आदत उनकी सेहत को कई तरह से प्रभावित कर रही है. देर रात तक जागने के कारण वह सुबह देर तक सोते रहते हैं या आधी-अधूरी नींद लेकर ही अगले दिन के काम पर लग जाते हैं. आपको बता दें कि शरीर को रोजाना 24 घंटे में से कम से कम 7 से 9 घंटे की नींद लेना बहुत जरूरी होता है. इससे कम नींद लेने वाले लोगों की फर्टिलिटी खराब होती रहती है. लड़कियों में नींद की कमी के चलते फर्टिलिटी की समस्या के साथ साथ पीरियड्स की अनियमितता, हॉर्मोनल असंतुलन और मोटापे का कारण बन सकती है.

    गलत डाइट
    युवाओं के खानपान में इन दिनों फास्ट फूड्स, जंक फूड्स, पैकेटबंद और प्रॉसेस्ड फूड्स का जादू सिर चढ़कर बोल रहा है. रेस्तरां और स्ट्रीट वेंडर्स के पास खाने को आजकल के युवा फैशन समझते हैं. मगर खानपान की ये गलत आदत उनके भविष्य के लिए कितनी खतरनाक है, इसका उन्हें अंदाजा भी नहीं होता है. दरअसल फर्टिलिटी को सबसे ज्यादा प्रभावित खानपान की गलत आदतें ही करती हैं. अगर आप अपनी फर्टिलिटी को ठीक रखना चाहती हैं तो फास्ट फूड्स और जंक फूड्स को छोड़िए और अपनी डाइट में सब्जियों, फलों, अनाज और नैचुरल चीजों को शामिल करें, जिनसे आपको जरूरी न्यूट्रिएंट्स मिल सके.

    अल्कोहल की आदत
    शराब या अल्कोहल भी युवाओं में इन दिनों फैशन बन गया है. अल्कोहल यंग लड़कियों की फर्टिलिटी को बर्बाद कर रहा है. अल्कोहल का असर आपकी सेक्शुअल लाइफ, किडनी और लिवर पर बहुत बुरा पड़ता है. अगर आप अल्कोहल की लत को एक बार में छोड़ नहीं सकती हैं, तो कम से कम इतना जरूर करें कि इसे सीमित मात्रा में लें.

    स्मोकिंग की लत
    यंग लड़के-लड़कियों में इन दिनों सिगरेट की लत एक आम बात हो गई है. सिगरेट पीने से आपके फेफड़ों और दिल की सेहत पर तो असर पड़ता ही है, मगर इसके कारण लड़कियों के मां बनने की क्षमता भी कमजोर होती है. जी हां कम उम्र में सिगरेट पीने की लत के कारण महिलाओं के ओवरीज में बनने वाले अंडों के डैमेज होने का खतरा बढ़ जाता है, जिसके कारण उन्हें बार-बार मिसकैरेज का सामना भी करना पड़ सकता है.

    इसे भी पढ़ेंः प्रेग्नेंसी के दौरान जरूर करें पेरिनियल मसाज, आसान होगी नॉर्मल डिलीवरी

    ज्यादा एक्सरसाइज करना
    आजकल कुछ युवा तो बिल्कुल ही एक्सरसाइज नहीं करते हैं, जबकि कुछ ऐसे भी हैं, जो फिटनेस के लिए पागल हुए जा रहे हैं और दिन के कई-कई घंटे जिम में वर्कआउट करते हुए बिता रहे हैं. रोजाना 1 से 2 घंटे की एक्सरसाइज, जिसमें लाइट एक्सरसाइज और हाई इंटेंसिटी एक्सरसाइज दोनों शामिल हैं, आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है. मगर ओवरट्रेनिंग करने से आपके शरीर पर तो इसका बुरा असर पड़ता ही है, साथ ही आपकी फर्टिलिटी पर भी इसका बुरा असर पड़ता है. स्वस्थ शरीर के लिए जितनी जरूरी एक्सरसाइज है, उतना ही जरूरी आराम भी है.

    Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

    Tags: Health, Lifestyle, Women

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर