लाइव टीवी

खुश रहने के लिए बच्चों से सीखें ये 6 गुण, टेंशन हो जाएगी दूर

News18Hindi
Updated: November 7, 2019, 2:31 PM IST
खुश रहने के लिए बच्चों से सीखें ये 6 गुण, टेंशन हो जाएगी दूर
बच्चों के पास चाहे कुछ हो या न हो, वह हमेशा ही खुश रहते हैं. उन्हें खुश रहने के लिए किसी खास कारण की जरूरत नहीं होती.

माना जाता है कि बड़े ही बच्चों को सिखाते हैं. हालांकि कई ऐसे कई गुण भी होते हैं, जो बड़े भी बच्चों से सीख सकते हैं और अपने जीवन को खुशहाल व बेहतर बना सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2019, 2:31 PM IST
  • Share this:
बच्चों के पहले शिक्षक उनके माता-पिता ही होते हैं. बच्चे अपने पैरेंट्स से जिंदगी जीने के बारे में कई अहम चीजें सीखते हैं. आमतौर पर माना जाता है कि बड़े ही बच्चों को सिखाते हैं. हालांकि कई ऐसे कई गुण भी होते हैं, जो बड़े भी बच्चों से सीख सकते हैं और अपने जीवन को खुशहाल व बेहतर बना सकते हैं. आइए आपको बताते हैं ऐसी ही कुछ बातों के बारे में जिन्हें बड़ों को बच्चों से सीखना चाहिए ताकि वह बच्चों की तरह तनाव व टेंशन से दूर रहे सकें.

इसे भी पढ़ेंः बच्चों में नजर आ रहा है चिड़चिड़ापन? पैरेंट्स इन 5 बातों का रखें ख्याल

मनचाही चीज करना

व्यस्क लोगों के साथ हमेशा एक समस्या देखने को मिलती है कि वह किसी भी काम को मर्जी से नहीं, बल्कि मजबूरी से करते हैं. वहीं बच्चे हमेशा मस्ती करने और सक्रिय रहने के नए तरीके खोज लेते हैं. वह उन चीजों को ही करते हैं जो उन्हें पसंद है और शायद इसलिए वह उस कार्य को कुछ अलग से करने की क्षमता रखते हैं. जबकि व्यस्क अक्सर अपनी मजबूरियों में ही उलझे रहते हैं और इसलिए तनाव हमेशा उनकी जिंदगी में पसरा रहता है. बड़ों को भी बच्चों से मनचाही चीजें करना सीखना चाहिए.

बेपरवाह मिजाज

बच्चों को कभी भी इस बात की चिंता नहीं होती कि वह जो कर रहे हैं, उसे देखकर सामने वाला व्यक्ति क्या कहेगा. जबकि व्यस्क कोई भी काम करने से पहले दूसरों की राय व उनके नजरिए से प्रभावित होते हैं और इसलिए कई बार वह अपनी इच्छाओं व खुशियों को पीछे छोड़ देते हैं. आप भी अपनी जिंदगी में थोड़ा सा बेपरवाह मिजाज अपनाकर देखिए जिंदगी कितनी खूबसूरत नजर आएगी.

ईमानदारी
Loading...

यह एक ऐसा गुण है, जो अमूमन सिर्फ बच्चों में ही देखने को मिलता है. उनका दिल बिल्कुल साफ होता है और इसलिए अगर आप उनसे कोई सवाल पूछेंगे तो वह उसका सच्चा और सीधा जवाब देते हैं. वहीं बड़े व्यक्ति हमेशा ही दूसरों को खुश करने के चक्कर में लगे रहते हैं और इसलिए उनकी खुद की खुशी कहीं खो जाती है. बड़े झूठ का सहारा लेने लगते हैं. अगर आप भी अपने जीवन में थोड़ी ईमानदारी रखते हैं तो यकीन मानिए कि जीवन बेहद सरल हो जाएगा और आप कई उलझनों से खुद-ब-खुद ही बाहर निकल जाएंगे.

खुश रहना

बच्चों के पास चाहे कुछ हो या न हो, वह हमेशा ही खुश रहते हैं. उन्हें खुश रहने के लिए किसी खास कारण की जरूरत नहीं होती. वह छोटी-छोटी चीजों में ही अपनी खुशियां ढूंढ लेते हैं. वहीं दूसरी ओर, व्यस्क के पास सब कुछ होने के बावजूद भी उन्हें और पाने की चाह रहती है और इसलिए वह उन चीजों की अहमियत व खुशी का अहसास नहीं कर पाते, जो वास्तव में उनके पास है.

आज के लिए जीना

यह एक ऐसा गुण है, जो हर किसी को बच्चों से अपनाना चाहिए. बच्चे आज में जीते हैं और अपने हर पल को खुलकर इन्जॉय करते हैं, जबकि बड़े भविष्य की बचत और खुशियों की चिंता में वर्तमान को यूं ही बर्बाद कर देते हैं. आपको समझना चाहिए कि गुजरा हुआ पल कभी लौटकर नहीं आएगा और जिस भविष्य की आप चिंता कर रहे हैं, वह भी कब आएगा ये कोई नहीं जानता. इस तरह आप सिर्फ अपने जीवन को तनावग्रस्त ही बना रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः सिर्फ मां नहीं पहली बार पिता बन रहे पुरुष को भी ध्यान रखनी चाहिए ये जरूरी बातें

उत्साही

बच्चे जब किसी नई चीज को देखते हैं तो उनके मन में उसे जानने की एक जिज्ञासा व उत्साह पैदा होता है और जब तक उस चीज को अच्छी तरह से समझ नहीं लेते, तब तक उनका उत्साह शांत नहीं होता. अगर हम बच्चों के इस गुण को अपना लें तो जीवन में सफल होने से हमें कोई नहीं रोक सकता क्योंकि हम सभी कोई भी काम शुरू तो बेहद उत्साह से करते हैं, लेकिन कुछ वक्त के बाद वह उत्साह शांत हो जाता है और फिर कार्य भी कभी-कभी पूरा नहीं हो पाता.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 2:31 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...