डिलीवरी में बच्चा चाहते हैं हेल्दी तो पैरों के बीच तकिया लगाकर सोएं, रिसर्च में हुआ खुलासा

इस करवट लेटने से गर्भवती महिला को मिलते हैं ये फायदे, रिसर्च में हुआ खुलासा

इस करवट लेटने से गर्भवती महिला को मिलते हैं ये फायदे, रिसर्च में हुआ खुलासा

अगर गर्भवती महिलाएं इस तरह लेटती हैं तो बच्‍चा हेल्‍दी और नार्मल पैदा होता है

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 27, 2019, 6:29 PM IST
  • Share this:
मां बनना दुनिया का सबसे खूबसूरत अहसास होता है. कहते हैं कि एक महिला को जमाने भर की खुशियां मिल जाती हैं लेकिन इसी खुशी के साथ-साथ इस पड़ाव में कई सावधानियां भी रखने को होती है. कुछ बातों पर ध्‍यान देना होता है, जिससे गर्भ में पल रहे बच्‍चे पर कोई असर न पड़े. इसलिए हम आपको बताने जा रहे हैं एक ऐसी बात जिसका ध्‍यान में रखकर आप इस दौरान कई फायदे उठा सकती हैं. जी हां अगर आप बाईं और करवट लेकर सोती हैं तो आपको बहुत फायदें होंगे.

दरअसल अमेरिकन प्रेग्नेंसी असोसिएशन के मुताबिक, प्रेगनेंट महिलाओं को बाईं तरफ करवट लेकर सोना चाहिए. रिसर्च के मुताबिक इस तरफ लेटने से लिवर, ऐब्डॉमन की दाईं तरफ स्थित होता है, जब आप दाईं तरफ करवट लेकर सोती हैं तो इससे लिवर पर ज़्यादा प्रेशर पड़ता है.

यह भी पढ़ें: #HumanStory:'मेरी वजह से अब्बा के लिए मस्जिद में लगा दी गई थी पाबंदी'  



यह भी पढ़ें: कौन हैं वे शख्स जिन्‍होंने अपनी शादी में खुद पहन लिया मंगलसूत्र?
बाईं तरफ करवट लेकर सोने से इस प्रेशर से लिवर को बचाया जा सकता है. बेबी की हेल्‍थ और नॉर्मल ग्रोथ के लिए जरूरी है कि आपका लिवर सही और नॉर्मल तरीके से फंक्शन करे और उसे पर्याप्त स्पेस मिले. इसके अलावा, इनफिरियर वेना केवा यानी आईवीसी जोकि शरीर की सबसे बड़ी नस होती है, उस पर भी प्रेशर पड़ने की वजह से मां और बच्चे दोनों को ही नुकसानदायक हो सकता है. इसके साथ-साथ बाईं तरफ करवट लेकर सोने से एक फायदा यह भी होगा कि उससे बच्चे और आपके प्लेसेंटा को ज्‍यादा से ज़्यादा पोषक तत्व और खून की आपूर्ति होगी.

इसके अलावा ध्‍यान रखें कि सही और पूरा पोषण व आराम मिले. इसके लिए टांगों के बीच तकिए लगाकर रखें. रात में सोते वक्त करवट बदलना भी ज़रूरी है, लेकिन अगर आप दाईं तरफ करवट लेकर भी उठती हैं तो उसमें कोई परेशानी नहीं है। डॉक्टर से सलाह-मशविरा कर सकती हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज