लाइव टीवी
Elec-widget

डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर में आते हैं ये बदलाव, जान लें ये जरूरी बात

News18Hindi
Updated: November 22, 2019, 1:10 PM IST
डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर में आते हैं ये बदलाव, जान लें ये जरूरी बात
डिलीवरी के बाद कुछ महिलाओं को ज्यादा गर्मी या फिर ठंड का अनुभव होने लगता है.

प्रेग्नेंसी के दौरान एक लंबा टाइम महिलाएं अलग रूटीन चार्ट में बिताती हैं. ऐसे में वो अपनी लाइफस्टाइल में कुछ चीजें एड करती हैं तो कुछ चीजों को हटा देती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 22, 2019, 1:10 PM IST
  • Share this:
डिलीवरी के बाद महिलाओं के शरीर में अचानक ही बहुत से बदलाव नजर आने लगते हैं. ये बदलाव शरीर में हो रहे हॉर्मोन्स में परिवर्तन की वजह से होते हैं. प्रेग्नेंसी के दौरान एक लंबा टाइम महिलाएं अलग रूटीन चार्ट में बिताती हैं. ऐसे में वो अपनी लाइफस्टाइल में कुछ चीजें एड करती हैं तो कुछ चीजों को हटा देती हैं. ये बदलाव शरीर में हॉर्मोनल बैलेंस को थोड़ा गड़बड़ा देता है. ऐसे में डिलीवरी के बाद ही महिलाओं के शरीर में बदलाव नजर आते हैं. आइए आपको बताते हैं कि बच्चे के जन्म के बाद कैसे बदलता है महिलाओं का शरीर.

इसे भी पढ़ेंः शरीर के इन अंगों को छूने से पहले 10 बार सोच लें, एक गलती पड़ सकती है भारी

महिलाओं के बाल झड़ने लगते हैं
बच्चे के जन्म के कुछ हफ्ते बाद ही महिलाओं के बाल झड़ने लगते हैं. आपको बता दें कि ये शरीर में हॉर्मोनल बदलाव की वजह से होता है. आमतौर पर डिलीवरी के 6 महीने तक औरतों को इस समस्या से जूझना पड़ता है लेकिन बाद में बाल अपने पुराने ग्रोथ साइकिल पर लौट आते हैं. बालों का तेजी से झड़ना इस समय एक आम बात होती है. हालांकि कई महिलाएं इसे लेकर चिंता में पड़ जाती हैं और मानसिक तनाव से भी गुजरने लगती हैं.

महिलाओं के ब्रेस्ट में बदलाव
डिलीवरी के बाद महिलाओं के ब्रेस्ट में भी काफी बदलाव आता है. इस दौरान ब्रेस्ट में दर्द और सूजन की समस्याएं भी झेलनी पड़ सकती हैं. दरअसल प्रेग्नेंसी में स्तन, पेट और जांघों की त्वचा खिंच जाती है. इस खिंचाव के कारण त्वचा पर हल्के रंग के दाग भी दिखाई पड़ने लगते हैं. हालांकि ये दाग नॉर्मल होते हैं लेकिन महिलाएं इन्हें लेकर कुछ टेंशन में आ जाती हैं. उन्हें किसी गंभीर बीमारी की आशंका होने लगती है जबिक आपको बता दें कि ऐसा कुछ नहीं है. ये प्रेग्नेंसी के बाद शरीर में होने वाला एक सामान्य बदलाव है.

वजाइना में दर्द
Loading...

बच्चे के जन्म के बाद वजाइना में दर्द और डिस्चार्ज जैसी समस्याएं भी देखी जाती हैं. डिलीवरी के 7 से 9 महीने में फिर से पीरियड्स शुरू हो जाते हैं. हालांकि हर महिला के फिर से पीरियड्स शुरू होने का समय अलग-अलग हो सकता है. ऐसे में डिलीवरी के बाद वजाइना में हल्का दर्द महसूस करना एक आम बात है. नॉर्मल डिलीवरी के बाद ये महिलाओं में ज्यादा देखा जाता है. इस समस्या को महिलाएं काफी गंभीर रूप से ले लेती है और घबराकर डॉक्टर के पास पहुंच जाती हैं. इस तरह के लक्षण सामान्य हैं और स्थिति अपने आप ठीक हो जाती है. डिलीवरी के बाद ये बदलाव सामान्य है.

इसे भी पढ़ेंः पीरियड्स का रुकना ही नहीं, ये 5 संकेत देते हैं आपकी प्रेग्नेंसी का कंफर्मेशन

वजन बढ़ने की शिकायत
डिलीवरी के बाद कुछ महिलाओं को ज्यादा गर्मी या फिर ठंड का अनुभव होने लगता है. महिलाओं को अचानक ही बहुत ज्यादा गर्मी लगने लगती हैं नहीं तो ठंड का एहसास होने लगता है. आपको बता दें कि ये सब हॉर्मोनल बदलाव के कारण होता है. कुछ महिलाएं वजन बढ़ने की भी शिकायत करती हैं. ये सब डिलीवरी के बाद बिल्कुल सामान्य है. डिलीवरी के बाद शारीरिक तौर पर इस तरह के बदलाव देखे जाते हैं.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 22, 2019, 1:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...