सर्दी-जुकाम और कफ से छुटकारा दिलाएगा काली मिर्च और गुड़

सर्दी-जुकाम और कफ से छुटकारा दिलाएगा काली मिर्च और गुड़
आयुर्वेदिक औषधि इन समस्याओं का जड़ से इलाज करती हैं.

मानसून (Monsoon) सीजन में मौसम बदलने से सर्दी (cold), खांसी (cough),जुकाम की समस्या आम बात है. आज हम आपको इन समस्याओं से निपटने के लिए कुछ घरेलू उपाय (Home Remedies) बता रहे हैं.

  • Last Updated: July 15, 2020, 3:17 PM IST
  • Share this:
मानसून (Monsoon) सीजन में मौसम में हुए बदलाव कारण सीजनल बीमारियों (Seasonal diseases) का खतरा बढ़ जाता है. कुछ लोगों को मौसम बदलने के कारण एलर्जी (Allergies) की समस्या भी होती है. इसके कारण गले में खराश होने लगती है. इन बीमारियों में एलोपैथिक दवाइयां (Allopathic Medicine) कुछ समय के लिए आपको आराम दे देती हैं, लेकिन आयुर्वेदिक औषधि इन समस्याओं का जड़ से इलाज करती हैं. इन मौसमी बीमारियों का इलाज आप घर पर ही कर सकते हैं. आपके घर में ऐसी बहुत सारी चीजें हैं, जो आपके इलाज में काम आती हैं. इनमें काली मिर्च और गुड़ का सेवन सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है. काली मिर्च और गुड़ सबसे अचूक आयुर्वेदिक औषधि माने जाते हैं, आइए इनके फायदों के बारे में जानते हैं...

काली मिर्च और गुड़ खांसी में है लाभदायक 

सर्दी-जुकाम और खांसी में काली मिर्च और गुड़ सेवन फायदा पहुंचाता है. काली मिर्च के पाउडर में गुड़ मिलाकर दिनभर चूसने से गले की खराश दूर होती है. myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला बताते हैं कि काली मिर्च में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो सर्दी-खांसी में राहत देने का काम करते हैं. काली मिर्च से इंफेक्शन की समस्या भी दूर होती हैं. एक अध्ययन के अनुसार, काली मिर्च के सेवन से मच्छरों से होने वाली संक्रामक बीमारियों से भी बचा जा सकता है.



सिर दर्द और तनाव में है फायदेमंद
अगर आपको सिर दर्द या भारीपन महसूस हो रहा हो तो काली मिर्च का पाउडर सूंघने से सिर में हल्कापन महसूस होगा. काली मिर्च में पिपेरिन नामक तत्व मौजूद होता है, जिसमें एंटीडिप्रेसेंट के गुण होते हैं. इसलिए इसके सेवन से टेंशन और डिप्रेशन की समस्याएं दूर होती हैं.

दांत और मसूड़ों के लिए फायदेमंद

काली मिर्च गर्म पानी में डालकर गरारे करने से दांत और मसूड़े की समस्याएं दूर हो जाती हैं. साथ ही इससे मसूड़े भी मजबूत होते हैं. स्वाद में काली मिर्च, लाल मिर्च पाउडर से ज्यादा तीखी और स्वास्थ्यवर्धक होती है.

कैंसर से होता है बचाव

कई अध्ययनों से पता चला है कि काली मिर्च में पिपेरिन नामक तत्व होता है, जो कई तरह के कैंसर से बचाव में मदद करता है. पिपेरिन आंतों में सेलेनियम, करक्यूमिन, बीटा-कैरोटीन और विटामिन बी जैसे कई पोषक तत्वों को अवशोषित करने का काम करते हैं.

वजन कम करने में सहायक

काली मिर्च वजन कम करने में भी मददगार होती है. myUpchar से जुड़े डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, इसमें फाइटोन्यूट्रिएंट्स होते हैं, जो अतिरिक्त वसा को तोड़ने का काम करते हैं. इसके साथ ही मेटाबॉलिज्म को भी बेहतर करती है.

पाचनशक्ति में सुधार

काली मिर्च और गुड़ के सेवन से पाचन शक्ति भी मजबूत होती है. काली मिर्च पेनक्रिएटिक एंजाइम पर अच्छा असर डालती है, जिससे संपूर्ण पाचन क्रिया बेहतर होती है. गुड़ में भी पाचन को मजबूत करने के गुण होते हैं, इसलिए बुजुर्ग अक्सर खाना खाने के बाद गुड़ खाने की सलाह देते हैं.

भूख बढ़ाने में सहायक

कुछ अध्ययनों में यह पता चला है कि काली मिर्च भूख बढ़ाने का काम भी करती है. जिन लोगों को अक्सर भूख न लगने की समस्या होती है, उन्हें काली मिर्च का सेवन करना चाहिए. यदि एक चम्मच काली मिर्च के साथ गुड़ का सेवन करेंगे तो इससे भूख बढ़ेगी.

अस्वीकरण : इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में शैक्षणिक उद्देश्यों के लिए है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। यदि आप, आपका बच्चा या कोई करीबी ऐसी किसी स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहा है, जिसके बारे में यहां बताया गया है तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें। यहां पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो ऐसी स्थिति में आपको होने वाले किसी भी तरह से संभावित नुकसान के लिए ना तो myUpchar और ना ही News18 जिम्मेदार होगा।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading