आंखों को सेहतमंद रखने को जरूरी है 20-20-20 नियम, अपनाएं ये टिप्‍स

इन तरीकों से आंखें बनी रहेंगी सेहतमंद.

इन तरीकों से आंखें बनी रहेंगी सेहतमंद.

आजकल समय और उम्र से पहले ही आंखों की रोशनी (Eyesight) कमजोर होने लगी है. इसकी कई वजह हो सकती हैं. कुछ तरीके अपना कर आप अपनी दृष्टि में सुधार कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 20, 2021, 10:43 AM IST
  • Share this:
आंखें हमारी शरीर का अहम हिस्‍सा हैं. इन्‍हीं के जरिये हम दुनिया की खूबसूरती देखते हैं. मगर आज की भागदौड़ भरी लाइफस्टाइल (Lifestyle) में समय और उम्र से पहले ही आंखों की रोशनी (Eyesight) कमजोर होने लगी है. इसकी कई वजह हो सकती हैं. मगर एक अहम वजह यह भी है कि लगातार कंप्‍यूटर पर आंखें गड़ाए रहने से भी आंखों पर काफी असर पड़ता है. इनमें जलन, ड्राइनेस (Dryness) जैसी समस्‍याएं बढ़ रही हैं. इसके अलावा दूर और पास की नजर कमजोर होना भी आम बात हो गई है. आंखों की रोशनी बढ़ाने और इन्‍हें अन्‍य दिक्‍कतों से बचाने के लिए जरूरी है कि इनका पूरा ख्‍याल रखा जाए. साथ ही खान-पान पर भी ध्‍यान दिया जाए. वहीं कुछ अहम बातें हैं जिन्हें अपनाना जरूरी है. इन्‍हीं में से एक है नियमित रूप से आंखों का चेकअप करवाना और कुछ तरीके अपना कर भी आप अपनी दृष्टि में सुधार कर सकते हैं.

इन नियमों का पालन करें

हेल्‍थलाइन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक आपकी आंखें कड़ी मेहनत करती हैं ऐसे में इन्‍हें भी ब्रेक की जरूरत होती है. वरना आखों में सूखेपन यानी ड्राई-आई की समस्या हो सकती है. इस समस्या से निजात के लिए जरूरी है कि अगर आप लंबे समय तक कंप्यूटर पर काम करते हैं, तो 20-20-20 नियम का पालन करें. इसका मतलब है कि हर 20 मिनट में आपको अपने कंप्यूटर की स्‍क्रीन से नजरें हटानी होंगी. साथ ही 20 सेकेंड के लिए कम से कम 20 फीट की दूरी पर रखी किसी चीज की ओर गौर से देखा जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें - Banana Flower: केले के फूल में छुपे हैं सेहत के राज, खून की कमी करेगा दूर
धूम्रपान छोड़ना है जरूरी

जहां स्‍मोकिंग आपके फेफड़ों और आपके दिल के लिए बुरा है, वहीं यह आपके बालों, त्वचा, दांत यानी आपकी सेहत के लिए खतरनाक है. इसमें आपकी आंखें भी शामिल हैं. धूम्रपान मोतियाबिंद और उम्र से संबंधित अन्‍य दिक्‍कतों को बढ़ाता है. इसलिए इससे दूरी बनाए रखें.

अपने परिवार के बारे में जानें



आंखों से संबंधित कुछ समस्‍याएं वंशानुगत हो सकती हैं. इसलिए अपने परिवार में सदस्‍यों की आंखों की स्थिति के बारे में आपको जरूर पता होना चाहिए. इससे आपको आंखों संबंधी रोगों में शुरुआती सावधानी बरतने में मदद मिल सकती है.

ये भी पढ़ें - वजन घटाने में मददगार है मशरूम, जानें इसके 5 फायदे

सफाई का रखें पूरा ध्‍यान

आपकी आंखें कीटाणुओं और संक्रमणों की चपेट में आ सकती हैं और इससे आंखों में जलन पैदा हो सकती है. यह दृष्टि प्रभावित कर सकती है. इसलिए हमेशा अपनी आंखों को छूने या अपने कान्‍टेंक्‍ट लेंस को छूने से पहले अपने हाथों को अच्‍छी तरह साफ कर लें. क्‍योंकि किसी तरह का संक्रमण आंखों तक न पहुंचे इसके लिए आपके हाथ धोना और लेंस का कीटाणुरहित रहना जरूरी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज