कोरोना वायरस के डर को भूले लोग, इस त्योहारी सीजन जमकर करेंगे खरीददारी: सर्वे

फेस्टिव सीजन में लोग जमकर शॉपिंग करेंगे (pic credit: instagram/Burst)
फेस्टिव सीजन में लोग जमकर शॉपिंग करेंगे (pic credit: instagram/Burst)

सर्वे के मुताबिक, कोरोना काल (Covid Time) में बावजूद फेस्टिव सीजन (Festive Season) में उपभोक्ता घरेलू आवश्यक चीजों से लेकर घर की सजावट और खाद्य वस्तुओं को खरीदने में दिलचस्पी दिखाएंगे...

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 10:11 AM IST
  • Share this:
कोरोनावायरस (Corona virus) की वजह से तकरीबन छह महीनों से सभी बाजार ठंडे पड़े हैं. इस कारण निजी क्षेत्र से जुड़े करोड़ों कामकाजी लोग अपनी नौकरी गंवा बैठे तो कईयों के काम-धंधे चौपट हो गये. बावजूद इसके एक सर्वे के अनुसार, 62 फीसदी उपभोक्ता इस त्योहारी सीजन (Festive Season) शॉपिंग करने में मूड में हैं. लोकल सर्किल (Local Circle) के एक सर्वे के मुताबिक, उपभोक्ता घरेलू आवश्यक चीजों से लेकर घर की सजावट और खाद्य वस्तुओं को खरीदने में दिलचस्पी दिखाएंगे.

सर्वे के अनुसार, 51 फीसदी ई-कॉमर्स वेबसाइट (e-Commerce) के जरिए खरीदरारी करने पर सहमत हुए हैं. यह सर्वे देश के 330 से ज्यादा जिलों के 3 लाख उपभोक्ताओं पर किया गया है. सर्वे में यह भी पता चला है कि पिछले साल के मुकाबले इस साल वर्चुअली खरीददारी (ऑनलाइन शॉपिंग) में बढ़ोतरी होने वाली है. साल 2019 में ई-कॉमर्स पर खरीददारी का आंकडा 27 फीसदी था. वहीं, इस साल त्योहारी सीजन में लगभग 51 फीसदी उपभोक्ताओं के ऑनलाइन शॉपिंग करने का अनुमान है.

कितने रुपये तक की करेंगे शॉपिंग
सर्वे में जब उपभोक्ताओं से ऑनलाइन शॉपिंग पर पैसा खर्च करने पर सवाल किया गया तो 3 फीसदी उपभोक्ताओं ने माना है कि वे इस साल त्योहारों में 50 हजार रुपये तक की खरीददारी करेंगे. वहीं, 14 फीसदी ने 10 से 50 हजार रुपये के बीच की शॉपिंग करने को कहा. 44 फीसदी ने 1 हजार से 10 हजार रुपये तक की ऑनलाइन शॉपिंग पर खर्च करने की बात कही. वहीं, 27 फीसदी उपभोक्ता अनिश्चित रहे.
कहां से करेंगे खरीददारी


उपभोक्ताओं से पूछा गया कि वे इस फेस्टिव सीजन कहां से खरीददारी करेंगे तो इस पर 26 फीसदी ने ई-कॉमर्स साइट्स और एप शॉपिंग प्लेस को नाम लिया. 11 फीसदी ने स्थानीय बाजारों और होम डिलीवरी की बात कही. 25 फीसदी ने स्थानीय बाजर और ई-कॉमर्स को शॉपिंग के लिए सही माना. वहीं, 24 फीसदी मॉल, स्थानीय खुदरा विक्रेताओं और बाजारों में खरीददारी करने की कह रहे हैं. 14 फीसदी लोग इस सवाल पर बोलने में असमंजस की स्थिति में नजर आए.

किन-किन चीजों की करेंगे खरीददारी
सर्वे में इस बात की भी जानकारी जुटाई गई कि कोरोना के डर से घर में कैद लोग किन-किन चीजों को खरीदने के लिए बैचेन हो रहे हैं. 15 फीसदी ने स्मार्टफोन और अन्य इलेक्ट्रॉनिक चीजें ( मोबाइल, टैबलेट, लैपटॉप, प्रिंटर, राउटर आदि) खरीदने पर सहमति जताई. 19 फीसदी घरेलू आवश्यक चीजें ( एसी, हीटर, वैक्यूम क्लीनर, टीवी, फ्रिज और एयर प्योरीफायर आदि), 11 फीसदी घर की सजावट का समान ( फर्नीचर, फर्निशिंग, पेंट्स, सेनेट्री वेयर, हार्डवेयर आदि), 8 फीसदी फैशन और फेस्टिव वियर और 32 फीसदी ने किराने का समान और खाद्य आपूर्ति खरीदने की बात कही. वहीं, इस कड़ी में 11 फीसदी लोग कुछ भी न कहने की स्थिति में थे.

ई-कॉमर्स दुकानदार क्या कहते हैं
इसके अलावा, सर्वे में जब ई-कॉमर्स दुकानदारों से भी पूछा गया कि क्या वह गिफ्ट के लिए ई-कॉमर्स की सेवा देंगे तो इस पर 37 फीसदी ने हां में जवाब दिया. 39 फीसदी ने इसके लिए इनकार किया. 24 फीसदी ई-कॉमर्स दुकानदार असमंजस में की स्थिति में रहे. जब ई-कॉमर्स दुकानदारों से यह पूछा गया कि वे ऑनलाइन बिक्री को क्यों चुनना चाहते हैं तो 15 फीसदी ने इसे सुरक्षित, 11 फीसदी ने सुविधाजनक, 8 फीसदी ने कीमत के हिसाब से बेहतर, 5 फीसदी ने रिटर्न और रिफंड में आसान, 2 फीसदी ने ग्राहकों के सिलेक्शन प्रोसेस से बचने के लिए इसे बढ़िया बताया. वहीं, 58 फीसदी ने उक्त सभी बातों के संदर्भ में ऑनलाइन बिक्री को सही माना.

फेस्टिव सीजन में यात्रा
उपभोक्ताओं से पूछा गया कि क्या वे ई-कॉमर्स वेबसाइट पर बिक्री के लिए रखे गए छोटे व्यवसायों, नए-नए ब्रांड, बुनकरों और कारीगरों द्वारा बेची जाने वाली वस्तुओं को खरीदेंगे, तो 80 फीसदी ने निश्चित 'हां' में जवाब दिया जबकि केवल 10 फीसदी ने 'नहीं' में जवाब दिया. वहीं, इस पर 10 फीसदी उपभोक्ता अनिश्चित थे। जहां तक लोगों के बाहर घूमने का सवाल है तो इस पर लोकल सर्किल के सर्वे से यह बात निकलकर सामने आई है कि इस फेस्टिव सीजन केवल 19 फीसदी उपभोक्ताओं ने ही घूमने-फिरने की बात स्वीकारी है.

खाने-पीने की चीजें कहां से खरीदेंगे
खाद्य वस्तुओं में 18 फीसदी उपभोक्ताओं ने स्थानीय दुकानों से बेकरी, मिठाई, और नमकीन खरीदने पर हामी भरी है. 13 फीसदी ने ड्राई फ्रूट, फ्रूट गिफ्ट बॉक्स और 4 फीसदी ने फूल खरीदने की बात कही है. 33 फीसदी उपभोक्ता दोनों बेकरी, मिठाई और नमकीन और ड्राई फ्रूट, फ्रूट गिफ्ट बॉक्स की स्थानीय बाजारों से खरीददारी करेंगे. 2 फीसदी फूल और ड्राई फ्रूट, फ्रूट गिफ्ट बॉक्स, 30 फीसदी ने इन सभी को स्थानीय बाजारों से खरीदने को कहा है. बता दें कि इस सर्वे के नतीजे के आधार पर देश के प्रमुख शहरों बेंगलुरु, हैदराबाद, नोएडा, गुरुग्राम और कोलकाता में 60 फीसदी या उससे अधिक उपभोक्ताओं के खरीददारी करने की उम्मीद जताई जा रही है, जो इस त्योहारी सीजन में ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म का उपयोग करने जा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज