• Home
  • »
  • News
  • »
  • lifestyle
  • »
  • TIFFIN AAW THIS KASHMIRI COUPLE DELIVERING FOOD AT THE DOORSTEP OF COVID PATIENTS AND DOCTORS HELPING THEM IN THIS WAY PUR

Tiffin Aaw: कोविड मरीजों और डॉक्टरों के घर के दरवाजे पर खाना पहुंचा रहे ये कश्मीरी कपल, ऐसे कर रहे हैं मदद

Tiffin Aaw को विभिन्न अस्पतालों और परिवारों से हर रोज 100 से अधिक डिलीवरी ऑर्डर मिल रहे हैं.

श्रीनगर (Srinagar) के एक यंग कपल (Couple) ने कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट के बीच जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिए 'फूड फॉर कश्मीर' अभियान की शुरुआत की है.

  • Share this:
    कोरोना (Corona) महामारी की इस दूसरी लहर ने लोगों को परेशान कर दिया है. हर रोज कई लाख लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं. लोगों से घरों के अंदर रहने के लिए कहा जा रहा है. साथ ही अनिवार्य रूप से ट्रिपल लेयर का मास्क (Mask) लगाने, हाथों को साबुन या हैंड वॉश से बार बार धोने और सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाने के लिए भी कहा जा रहा है. इसी बीच कई लोग कोविड संक्रमित लोगों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं. इसी कड़ी में श्रीनगर के एक यंग कपल ने कोरोना वायरस संकट के बीच जरूरतमंद लोगों की मदद करने के लिए 'फूड फॉर कश्मीर' अभियान की शुरुआत की है. यह कपल कोविड-19 संक्रमित परिवारों, डॉक्टरों और पैरामेडिकल क्षेत्र के लोगों को घर का बना खाना (Food) उपलब्ध करा रहा है.

    रईस अहमद डार और उनकी पत्नी निदा रहमान ने कोरोना महामारी के दौरान पिछले साल एक मुफ्त होम डिलीवरी सेवा टिफिन एएडब्ल्यू (Tiffin Aaw) की शुरुआत की थी. कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान, अपने कर्मचारियों के साथ मिलकर उस कपल ने अधिकारियों से कोविड प्रबंधन का उचित प्रशिक्षण लिया है. यह कपल अब श्रीनगर के अस्पतालों में कई कोविड संक्रमित रोगियों और डॉक्टरों को खाने का सामान पहुंचा रहे हैं. डार ने न्यूज 18 को बताया- 'हमें उन परिवारों से कॉल आते हैं, जहां सभी सदस्य कोविड से संक्रमित हो गए हैं और वह लोग खुद खाना नहीं बना पा रहे हैं. उनकी आवाज से ही पता चलता है कि वह इस संकट के दौर में कितने परेशान हैं.' उन्होंने बताया- 'कोविड मरीज, डॉक्टर और पैरामेडिक्स घर के खाने के लिए तरसते हैं जो हम उन्हें उनके घर के दरवाजे पर पहुंचाते हैं.'

    इसे भी पढ़ेंः काली मिर्च के साथ मिलाएं ये खास चीजें, खाने के बाद बीमारियों से रहें दूर

    कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बाद से Tiffin Aaw को विभिन्न अस्पतालों और परिवारों से हर रोज 100 से अधिक डिलीवरी ऑर्डर मिल रहे हैं. खाना पकाने की टीम यह सुनिश्चित करती है कि भोजन पूरी तरह से हाईजेनिक और बिना किसी प्रिजर्वेटिव के बना हो. इस समय बड़ी संख्या में ऐसे लोग सामने आ रहे हैं जो कोविड से पीड़ित परिवारों को खाना पहुंचाने के लिए हर जरूरी मदद करने को तैयार हैं. वहीं निदा रहमान का कहना है कि उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान लोगों की मदद करने के उद्देश्य से ही इस अभियान की शुरुआत की थी. उनका कहना है कि वह लोग इसके लिए कोई पेमेंट नहीं लेते, लेकिन अगर कोई पेमेंट करता है तो वह उसे मना नहीं करते हैं. रहमान ने बताया- 'इस अभियान को पूर्ण सार्वजनिक समर्थन की काफी जरूरत है. हम चाहते हैं कि अधिक से अधिक लोग कोविड-19 रोगियों के लिए खाना उपलब्ध कराने में मदद करें.'

    इसे भी पढ़ेंः गर्मियों में जरूर पिएं पालक का जूस, मोटापे से मिलेगा छुटकारा

    एक पैरामेडिक जो हर रोज इस कपल को अपने खाने का ऑर्डर देता है, उनकी सर्विस से बहुत खुश है. उनका कहना है- 'हमारे लिए ड्यूटी के दौरान अस्पतालों में घर का बना हेल्दी भोजन मिल पाना मुश्किल है, इसलिए वह इसे Tiffin aaw से ऑर्डर करते हैं. इनकी सर्विस त्वरित और विश्वसनीय है. इस महामारी के दौरान रईस और निदा दोनों उम्मीद करते हैं कि वह अधिक से अधिक लोगों तक अपना खाना पहुंचा पाएंगे. वह इस संकट के दौर में ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदद करना चाहते हैं. फिलहाल यह सेवा केवल श्रीनगर में उपलब्ध है, लेकिन यह कपल इसे अन्य जिलों में भी विस्तारित करने की उम्मीद कर रहा है.'
    Published by:Purnima Acharya
    First published: