लाइव टीवी

TikTok के इस वीडियो चैलेंज में इसलिए महिलाएं पुरुषों को दे रहीं हैं मात


Updated: December 2, 2019, 10:13 AM IST
TikTok के इस वीडियो चैलेंज में इसलिए महिलाएं पुरुषों को दे रहीं हैं मात
Chair challenge

जितना आप इन टीकटॉक वीडियो (TikTok Video) देखेंगे उतना ही आपको यह यकीन होता जाएगा कि इस चेयर चैलेंज (Chair Challenge) को केवल महिलाएं ही कर सकतीं हैं पुरुष नहीं.

  • Last Updated: December 2, 2019, 10:13 AM IST
  • Share this:
नईदिल्ली. सोशल मीडिया प्लेटफार्म टीकटॉक (TikTok) पर इन दिनों पुरुषों को मुंह की खानी पड़ रही है. इंटरनेट पर वायरल (viral on internet) चेयर चैलेंज पुरुषों के लिए सिरदर्द बना हुआ है. इस चैलेंज में हर बार महिलाएं उनसे बीस साबित (Men vs Women) हो रहीं हैं. जितना आप इन टीकटॉक वीडियो (TikTok Video) देखेंगे उतना ही आपको यह यकीन होता जाएगा कि इस चेयर चैलेंज (Chair Challenge) को केवल महिलाएं ही कर सकतीं हैं पुरुष नहीं.

दरअसल इस चेयर चैलेंज में दीवार के सहारे झुककर पहले कुर्सी को अपनी छाती से लगाना होता है फिर ऐसी ही अवस्था में सीधा खड़ा होना होता है. टिकटॉक पर यह चैलेंज करते हुए महिलाएं बहुत सहज नजर आती हैं जबकि पुरष इसे कर पाने में असमर्थ दिख रहे हैं.

जब कुर्सी को सीने से लगाए हुए सीधे खड़े होने की बारी आती है तो पुरुष अपना बैलेंस खो बठते हैं. कई पुरुष तो झुकी हुई अवस्था में ही फंस जाते हैं.


चेयर चैलेंज में आपको करना यह होता है कि आप दीवार से पहले पैर सटा कर खड़े हो जाइए. फिर पैरों से नाप कर दो कदम पीछे जाना है. इसके बाद झुककर धीरे से दीवार के सहार अपना सिर लगाना है. इस स्थिति में आपको कुर्सी खींचकर अपनी छाती से लगानी है. इसके बाद बिना पैर हिलाए सीधा खड़े हो जाना है.

यह चैलेंज देखने में तो बहुत आसान लगता है लेकिन है नहीं. वैज्ञानिकों के मुताबिक ऐसा महिलाओं और पुरुषों की शारीरिक बनावट की वजह से हो रहा है. इसीलिए महिलाएं इसे आसानी से कर पा रहीं हैं जबकि पुरुष की सफलता का प्रतिशत बेहद कम है.
Loading...


महिलाओं और पुरुषों की शारीरिक बनावट में ऐसा क्या अलग है कि महिलाएं इसे आसानी से कर पा रहीं हैं जबकि पुरुष नहीं. इसके जवाब में वैज्ञानिक जेरेमी जॉनसन कहते हैं कि महिलाओं का सेंटर ऑफ मास यानी शारीरिक द्रव्यमान का केंद्र पुरुषों से अलग होता है. यही वजह से कि महिलाएं इस चेयर चैलेंज को आसानी से कर पा रहीं हैं.

महिलाओं का सेंटर ऑफ मास कमर के नीचे होता है जबकि पुरुषों का कहीं ऊपर. यही वजह है कि जब पुरुष झुककर कुर्सी को अपने सीने से लगाते हैं तब उनका वजन कुर्सी के ऊपर होता है. जबकि इसी अवस्था में महिलाओं के शरीर का वजह उनके पैरों पर होता है.

ये भी पढ़ें:

पार्किंसंस पीड़ित पुरुषों के लिए सक्रिय सेक्स लाइफ फायदेमंद

पूरी दुनिया में केवल 100 लोगों को है ये बीमारी-रोने, नहाने पर लग जाती है पाबंदी

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 2, 2019, 10:13 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...