लाइव टीवी

टिंडर डेटिंग ऐप से जुड़े इस भ्रम को दूर कर देगी नई रिसर्च


Updated: December 8, 2019, 12:25 PM IST
टिंडर डेटिंग ऐप से जुड़े इस भ्रम को दूर कर देगी नई रिसर्च
tinder dating app

डेटिंग ऐप टिंडर (Dating app tinder) का दावा है कि उसने अब तक तीन करोड़ लोगों को आपस में मिलवाया है. टिंडर के इस दावे पर नोर्वेगियन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्लोलॉजी (Norwegian University of Science and Technology) के वैज्ञानिकों ने एक रिसर्च किया है

  • Last Updated: December 8, 2019, 12:25 PM IST
  • Share this:
लंदन.  डेटिंग ऐप टिंडर (Dating app tinder) का दावा है कि उसने अब तक तीन करोड़ लोगों को आपस में मिलवाया है. टिंडर के इस दावे पर नोर्वेगियन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्लोलॉजी (Norwegian University of Science and Technology) के वैज्ञानिकों ने एक रिसर्च किया है. इस शोध में पाया गया कि टिंडर पर 50 फीसदी लोग अपने टिंडर मैच (Tinder match) से मिले लेकिन इनमें से केवल 25 फीसदी ऐसे थे जिन्होंने इस मुलाकात को आगे बढ़ाना की इच्छा जताई.

इस अध्ययन में यह पाया गया कि जो लोग जिन्दगी भर चलने वाले मजबूत रिश्ते की तलाश में होते हैं वो डेटिंग ऐप के जरिए नहीं मिल पा रहे हैं. ये भी हो सकता है कि इस ऐप के जरिए मिलने वाले लोगों में एक दूसरे से कोई दीर्घकालिक रिश्ता जोड़ने की इच्छा न हो.

ऐप का इस्तेमाल करने वाले लोगों में को औसतन 100 लोग ऐसे मिले जिनके प्रोफाइल उनसे मेल खाते हैं. लेकिन शोध में शामिल में से केवल आधे ही ऐसे थे जिन्होंने किसी टिंडर डेट से मिलने की बात स्वीकारी. इनमें के पुरुषों को औसतन 11 टिंडर मैच मिले जबकि महिलाओं को 124. इनमें से पुरुष लगभग 1.9 पार्टनर्स से मिले जबकि महिलाएं 2.4 से.

टिंडर वन नाइट स्टैंड के लिए पार्टनर्स को मिलवाने के लिए जाना जाता है. शोधकर्ताओं ने इस बात का भी पता लगाया कि कितने टिंडर यूजर्स अपने इस उद्देश्य में सफल हुए. 80 फीसदी टिंडर यूजर्स ऐप के जरिए किसी भी तरह की सेक्सुअल एक्टिविटी में शामिल नहीं हुए. जबकि 13 फीसदी टिंडर डेट्स एक बार, तीन पतिशत दो बार और बाकी चार प्रतिशत टिंडर डेट्स दो बार से अधिक वन सेक्सुअल एक्टिविटी में शामिल हुए.

वैज्ञानिकों के मुताबिक टिंडर इस बात की गारंटी बिलकुल नहीं देता कि इसका इस्तेमाल करने से आपको आपका जीवन साथी मिल ही जाएगा. उनके मुताबिक टिंडर आधुनिक डेटिंग के पैमाने बदलने में भी नाकाम रहा है. शोध से टिंडर के एक 'सेक्स ऐप' होने की भ्रांति भी टूट गई है.

ये भी पढ़ें:

भारत में महिला सुरक्षा को लेकर गूगल मैप की नहीं पहल, जल्द जुड़ेगा ये फीचर संडे स्पेशल: 5 भारतीय पुरुष जिन्होंने महिला अधिकारों की लड़ाई लड़ी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 8, 2019, 12:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर