अपना शहर चुनें

States

लाइफ में खुश रहने को रूटीन में लाएं ये बदलाव, खुशियां होंगी कदमों में

खुश रहने को बदलें नजरिया. Image Credit: Andrea-Piacquadio/Pexels
खुश रहने को बदलें नजरिया. Image Credit: Andrea-Piacquadio/Pexels

जीवन (Life) में खुश रहना और अपनी मुस्‍कुराहट बनाए रखना थोड़ा मुश्किल जरूर है. मगर अपने जीने का तरीका बदल कर हम चिंता और तनाव (Anxiety And Stress) को दूर कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2021, 9:51 AM IST
  • Share this:
उतार-चढ़ाव से भरे जीवन (Life) में चुनौतियों का सामना करते हुए ऐसा कई बार होता है कि निराशा (Despair) हमें घेर लेती है. ऐसे में खुश रहना और अपनी मुस्‍कुराहट बनाए रखना मुश्किल होता है. मगर कुछ तरीके हैं जिन्‍हें अपना कर हम अपनी समस्‍याओं का सामना मजबूती के साथ कर सकते हैं और मुश्किल वक्‍त में भी खुश रह सकते हैं. चिंता और तनाव (Anxiety And Stress) तो जीवन का हिस्‍सा हैं, मगर इनका सामना करने के लिए जरूरी है कि हम खुशी को भी जीवन से अलग न होने दें और यह तभी संभव होगा जब हम अपना नजरिया और जीने का तरीका बदलें. बेहतर जीवन के लिए यह जरूरी भी है.

मुस्‍कुरा कर टालें दुख
हम मुस्कुराते हैं, क्योंकि हम खुश होते हैं और मुस्कुराने से मस्तिष्क डोपामाइन हार्मोन जारी करता है, जो हमें खुश करता है. मगर इसका मतलब यह नहीं है कि आपको हर समय अपने चेहरे पर एक नकली मुस्कान लिए घूमना है, लेकिन सकारात्‍मक सोचें और जब आप अपने आप को कम महसूस कर रहे हों, तो एक मुस्कुराहट बिखेरें. अपनी हर सुबह की शुरुआत खुद को आईने में देखकर एक मुस्कुराहट के साथ करें.

ये भी पढ़ें - Digital detox: बेहतर जिंदगी और रिश्तों के लिए जरूरी है डिजिटल डिटॉक्स
नियमित एक्‍सरसाइज करें


व्यायाम सिर्फ आपके शरीर के लिए ही फायदेमंद नहीं है, बल्कि नियमित व्यायाम से खुशी में इजाफा होता है. इसकी वजह यह है कि इससे तनाव, चिंता जैसी भावनाओं और अवसाद के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है. इसलिए रोज इसकी आदत डालें.

जरूरी है पॉजिटिव सोच वालों का साथ
खुश रहने के लिए जरूरी है कि आप ऐसे लोगों के आस पास रहें, जो सकारात्मक सोच रखते हों. वरना निराशा ओढ़े लोग हर समय आपसे निराशा भरी बातें करेंगे और इससे आपमें भी निराशा के भाव बने रहेंगे. आप कुछ अलग नहीं सोच पाएंगे.

शांत रहें और गहरी सांस लें
आप जब भी तनावग्रस्त हों और आपको लगे कि आप निराशा की तरफ बढ़ रहे हैं तो खुद को शांत रखें ओर एक लंबी, गहरी सांस लें. अपनी आंखें बंद करें और अपनी खुशियों से भरी पुरानी यादों में खो जाएं. आप किसी सुंदर जगह की कल्पना भी कर सकते हैं. हर सांस छोड़ते हुए 5 तक गिनने का प्रयास करें.

ये भी पढ़ें - ठंड के मौसम में बुजुर्गों को है ज्‍यादा देखभाल की जरूरत, कुछ बातों का रखें ध्‍यान

खुद को बनाएं मजबूत
हेल्‍थलाइन की एक रिपोर्ट के मुताबिक स्टैनफोर्ड की मनोवैज्ञानिक केली मैकगोनिगल का कहना है कि तनाव हमेशा हानिकारक नहीं होता है और हम तनाव के बारे में अपने दृष्टिकोण को भी बदल सकते हैं. ऐसे में इस बात को याद रखें कि दुख जीवन का हिस्‍सा है और यह सबके पास है. मगर अपनी समस्‍या को दूर करने के बारे में सोच कर आप खुद को मजबूत बना सकते हैं. तनाव में डूबे रहने की बजाय खुद को तनाव से निबटने के लिए तैयार करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज