किताबों के हैं शौकीन तो इस तरह रखें इनका ख्‍याल, लंबी उम्र तक देंगी आपका साथ

किताबें हमारी साथी और गुरु दोनों होती हैं. इसलिए इनका विशेष ध्‍यान रखना हमारी जिम्‍मेदारी है.Image Credit : Pixabay

किताबें हमारी साथी और गुरु दोनों होती हैं. इसलिए इनका विशेष ध्‍यान रखना हमारी जिम्‍मेदारी है.Image Credit : Pixabay

पुरानी किताबों (Old Books) के पन्‍ने, जिल्‍द और उनकी सिलाई जल्‍दी खराब हो सकती हैं. बशर्ते, उनका सही रखरखाव किया गया हो.

  • Share this:
Tips To Keep Your Books Safe: पुरानी किताबें (Old Books) ज्ञान ही नहीं, यादों (Memories) का भी पिटारा होती हैं. भले ही आपने इन्‍हें कई बार पढ़ लिया हो, इन पन्‍नों को पलटने पर हर बार कुछ पुरानी यादें और मुफ्त में मिली सीख ये दे हीं जातीं हैं. ऐसे में इन पुस्‍तकों को सम्‍हाल कर रखना, उनकी देखभाल (Take Care) करना आपकी जिम्‍मेदारी बनती है. पुरानी किताबों के पन्‍ने, जिल्‍द और उनकी सिलाई जल्‍दी खराब हो सकते हैं. बशर्ते, नका सही रखरखाव किया गया हो. कई लोग हैं जो किताबों को पढ़ने के बाद उनका रखरखाव और देखभाल ठीक तरीके से नहीं कर पाते. नतीजा, कुछ सालों बाद ही किता‍बें गलने लगती हैं या दीमक चाट जाते हैं. अगर आप घर पर रखी इन किताबों और पत्रिकाओं का उचित देखभाल करें तो ये आजीवन आपके साथ रहेंगी. तो आइए जानते हैं कि अपनी नई-पुरानी किताबों को संजोकर रखने के लिए हम क्‍या कर सकते हैं.

हाइजीन मेंटेन करें

कई लोगों की आदत होती है कि वे पन्‍नों को जल्‍दी पलटनें के लिए मुंह के सलाइवा यानी कि थूक का प्रयोग करते हैं जो पुरानी होती किताबों के लिए बहुत ही हानिकारक होती हैं. इससे बचने के लिए आप गीले स्‍पंज का प्रयोग कर सकते हैं. यही नहीं, आप पुरानी किताबों के पन्‍नों का पलटनें के लिए स्‍पेशल कॉटन वाले दस्‍ताने का प्रयोग भी कर सकते हैं. इससे किताबों पर परमानेंट दाग नहीं होंगे और ये बैक्‍टीरिया से बची रहेंगी. बेहतर होगा कि किताबों को छूने से पहले हाथों को साफ कर लें.

बड़े या भारी बुकमार्क का न करें इस्तेमाल
बड़े बुकमार्क किताबों की बाइंडिंग और उनके सिलाई को प्रभावित करते हैं. जिस वजह से हो सकता है कि पढ़ते पढ़ते किताबों के पन्‍ने बाहर आने लगें. इस परेशानी से बचने के लिए आप सिल्‍क या साटन के रिबन का प्रयोग कर सकते हैं. यही नहीं, पन्‍नों को फोल्‍ड करने की आदत से भी बचें.

इसे भी पढ़ें : मच्‍छरों से हैं परेशान? घर पर बनाएं मच्छर भगाने का तेल

 








बाइंडिंग के साथ नरमी बरतें

जब आप किताबों को पढ़ते हैं तो उनकी बाइंडिंग का विशेष ध्‍यान रखें. पेपरबैक या हार्डबैक किसी भी तरह की किताबों के बाइंडिंग नाजुक होते हैं जिन्‍हें केयर की जरूरत होती है. ऐसे में उनके साथ नरमी बरतें और अधिक फोल्‍ड ना करें.

किताबों को पढ़ने के लिए दोनों हाथों का करें इस्तेमाल

जब आप दोनों हाथों से किताबों को पकड़ते हैं तो उनकी बाइंडिंग और पेज पर अधिक स्‍ट्रेस नहीं पड़ता. किताबों के साइज, आकार, वजन के आधार पर आप उन्‍हें हाथ में या टेबल पर रख कर पढें. ऐसा करने से किताबें फटेंगी नहीं.

विशेषज्ञों की लें मदद

अगर आपके पास कोई फस्‍ट एडिशन बुक हो या फिर कोई बुक हो जो दिल के काफी करीब हो तो आप उनकी देखभाल के लिए बुक एक्‍सपर्ट की मदद ले सकते हैं. उनके पास पुरानी रेयर किताबों को कैसे मेंटेन किया जाए, उनके फटे पन्‍नों को दुबारा से कैसे हू ब हू लगा दिया जाए इन सब चीजों में वे माहीर होते हैं.

इस तरह करें स्‍टोर

किताबों को बुक शेल्‍फ में ही रखें. उन्‍हें रखते वक्‍त इस बात का ध्‍यान रखें कि वे खड़ी हों और बहुत अधिक तंग नहीं हों. कोशिश करे कि एक लंबाई वाली किताबें एक जगह हों. ऐसा करने से उनके पन्‍नों और वाइंडिंग पर स्‍ट्रेस कम पड़ता है. यही नहीं इन्‍हें जब भी निकालें तो बीच से पकड़कर ही बाहर की ओर खींचें. वर्ना किताबें फट सकती हैं.

डायरेक्‍ट सन लाइट से बचाएं

किताबों को वैसी जगह पर रखें जहां डायरेक्‍ट धूप ना आ रही हो. ऐसा करने से किताबों की प्रिंट हल्‍की हो सकती है. यही नहीं, इन्‍हें अधिक ठंडे या ह्यूमिड वाली जगह से भी बचाना चाहिए.

इसे भी पढ़ें : गर्मी में किचन को रखना है कूल तो रखें इन 6 बातों का ध्‍यान, कुकिंग में नहीं आएगी दिक्‍कत





किताबों की सफाई जरूरी

किताबों की डस्टिंग जरूरी है. आप इन्‍हें गीले कपड़े से पोछने की बजाए फर वाले डस्‍टर या साफ कपड़े का प्रयोग कर सकते हैं.

प्‍लास्टिक में न करें स्‍टोर

अगर इन्‍हें स्‍टोर करना हो तो आप इन्‍हें कार्टन या कपड़े में लपेट कर रख सकते हैं. प्‍लास्टिक में रखने पर इन तक हवा नहीं जा पाती और इनके कवर खराब हो जाते हैं.

किताबों पर कवर लगाकर रखें

किताबों को बाहरी गंदगी से बचाने के लिए अच्छा है कि उन पर पेपर कवर लगाएं. इससे वे धूल-मिट्टी और पानी से बची रहेगीं.

नेफथलीन बॉल का करें इस्तेमाल

किताबों के पन्नों से कीड़ों से दूर रखने के लिए आप बुक शेल्‍फ, अलमारी या बक्सों में नेफथलीन बॉल को जरूर डालें. इससे कीड़ें यहां नहीं आएंगे और किताबें बची रहेंगी.

कभी कभी धूप-हवा जरूरी

पुरानी किताबों को साल में एक दो बार धूप हवा दिखाना जरूरी होता है. ऐसे में आप इन्‍हें एक दो घंटे के लिए धूप में रखें और इन पर कोई चादर  बिछा दें. इससे उनके कवर के रंग भी बचे रहेंगे और उनके धूप हवा भी लग जाएगी. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारियों पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज