नई-नई नौकरी शुरू की हो तो ये 1 काम जरूर कर लें 

पैसे कमाना ही काफी नहीं, इसकी बचत भी कमाई का एक तरीका है.

News18Hindi
Updated: May 18, 2018, 3:16 PM IST
नई-नई नौकरी शुरू की हो तो ये 1 काम जरूर कर लें 
ऐसे करें फाइनेंशियल प्लानिंग
News18Hindi
Updated: May 18, 2018, 3:16 PM IST
फाइनेंशियल ट्रेनिंग के अभाव में अक्सर नई-नई नौकरी के बाद लोग पैसों की बचत को लेकर संघर्ष करते हैं. पैसे पर्याप्त आ रहे हैं लेकिन बचते ही नहीं. खर्च कोई अनाप-शनाप नहीं लेकिन महीने के अंत में पैसे खत्म हो जाते हैं. ये बात आपने कई बार सुनी होगी या खुद भी कहते होंगे. पैसों की बचत भी एक हुनर है. हम आपको बता रहे हैं इसके कुछ तरीके.

सबसे पहले सेविंग्स से शुरुआत करें. कोशिश करें कि हर महीने तनख्वाह का लगभग 10 प्रतिशत हिस्सा बचे. चाहे खर्च कितने ही सारे हों. इन पैसों को इनवेस्ट करने के बारे में पता करें और इनवेस्ट करें.

चाहें तो इक्विटी फंड में पैसे लगा सकते हैं. लेकिन कोई भी ऐसा फैसला लेते हुए जानकारों से सलाह लें और खुद भी अच्छी तरह से पता करें. कई बार कई तरह के निवेशों में जोखिम रहता है.

अलग-अलग तरह के इनवेस्टमेंट के तरीकों के बारे में जानकारी हासिल करें. जैसे जैसे इक्वविटी, डेट म्युचुअल फंड्स, स्टौक मार्केट, गोल्ड, रियल एस्टेट. किसी भी निवेश विकल्प का चयन करने से पहले देख लें कि आप कितना रिस्क सह सकते हैं.

टैक्स प्लानिंग भी सेविंग्स का ही एक हिस्सा है. टैक्स प्लान के लिए ऐन वक्त का इंतजार न करें, पहले से ही देख लें कि आप कहां निवेश करें तो अधिकतम फायदा होगा. म्युचुअल फंड्स के लिए सिस्टेमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान शुरू कर सकते हैं.

आजकल ज्यादातर लोग सारे काम ऑनलाइन करते हैं. अगर आपको भी ये सुविधाजनक लगता है तो कई ऐसे ऐप आ रहे हैं जो खर्चों को ट्रैक करते हैं. इनकी मदद से खर्च पर कंट्रोल किया जा सकता है.

सबसे अहम स्टेप है इमरजेंसी फंड बनाना. कई बार आकस्मिक परिस्थितियों के कारण पैसों का आना एकदम रुक जाता है. ऐसे हालातों की तैयारी भी रखें. हर महीने कुछ पैसे एक इमरजेंसी फंड में डालें ताकि जरूरत पड़ने पर इधर-उधर न भागना पड़े.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर