लाइव टीवी
Elec-widget

कोलेस्ट्रॉल होगा कंट्रोल, बस करना होगा ये एक काम

News18Hindi
Updated: December 1, 2019, 3:02 PM IST
कोलेस्ट्रॉल होगा कंट्रोल, बस करना होगा ये एक काम
कोलेस्ट्रॉल लेवल कैसे कम करें

कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखने के लिए सुई के जरिए इंक्लिसिरान नामक दवा को साल में दो बार देने से ही बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को शरीर से कम किया जा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2019, 3:02 PM IST
  • Share this:
विश्व भर में कई लोग कोलेस्ट्रॉल की समस्या से परेशान हैं. कोलेस्ट्रॉल से मुकाबला करने के लिए कोलेस्ट्रॉल के पेशेंट हर दिन स्टैटिन की खुराक लेते हैं. लेकिन कोलेस्ट्रॉल की समस्या से पीड़ित लोगों के लिए एक बड़ी खुशखबरी है. कोलेस्ट्रॉलको कंट्रोल करने के लिए अब जल्दी ही उन्हें किसी दवा की जरूरत नहीं पड़ेगी. कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल में करने के लिए बस साल भर में दो बार इंजेक्शन लगवाना होगा.

साल में दो बार लगवाना होगा इंजेक्शन: कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखने के लिए सुई के जरिए इंक्लिसिरान नामक दवा को साल में दो बार देने से ही बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को शरीर से कम किया जा सकता है. इस दवा का परीक्षण किया जा चुका है. एक सुई लेने के दो हफ्ते बाद शरीर से कोलेस्ट्रोल की मात्रा 50 फीसदी तक कम हो जाती है और अगले छह महीने तक यह दवा इसके स्तर को नियंत्रित रखती है.

इसे भी पढ़ें: विश्व एड्स दिवस: AIDS के बारे में ये बातें जानते हैं आप? एड्स और HIV में क्या है फर्क

विशेषज्ञों का मानना है कि 18 महीनों के अंदर इस सुई को सभी तरह की अनुमति मिल जाएगी और इसे प्रचलन में लाया जा सकेगा. अब वैज्ञानिक साल में सिर्फ एक बार ली जाने वाली दवा की खोज में जुटे हैं. इस सिलसिले में इंपीरियल कॉलेज ऑफ लंदन के प्रोफेसर और प्रमुख शोधकर्ता कौशिक रे ने कहा, यह सुई सबकुछ बदलने वाली है. मरीज अब सुई लेकर रोज दवा खाने की झंझट से मुक्ति पा सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: टूटा फोन या टूटा हाथ- क्या चुनेंगे आप?

ब्रिटिश हार्ट फाउंडेशन के नीलेश सामानी ने कहा, इसे किसी दवा की दुकान या घर में खुद से भी लिया जा सकेगा. यह सुई सबसे पहले उन मरीजों को दी जाएगी जो रोज स्टैटिन खा रहे हैं और उनको कोई फायदा नहीं मिल रहा है. इनके अलावा इस सुई से उन मरीजों को भी लाभ मिलेगा जो कभी-कभार अपनी दवा खाना भूल जाते हैं.

(एजेंसी)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए वेलनेस से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 1, 2019, 3:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...