बच्चा करता हो बिस्तर गीला तो इस परेशानी से ऐसे पाएं निजात

बच्चे की बिस्तर गीला करने की आदत छुड़ाने के लिए अपनाएं ये तरीके-Image/shutterstock

कुछ बच्चे बड़े होने के बावजूद अक्सर सोते समय बिस्तर गीला (Bed wetting) कर देते हैं. जिसके लिए उनको काफी शर्मिंदा (Embarrassed) होना पड़ता है. बच्चों की इस आदत को छुड़ाने के लिए आप इन घरेलू तरीकों की मदद ले सकते हैं.

  • Share this:
    छोटे बच्चों का सोते समय बिस्तर गीला करना (Bed wetting) बेहद आम बात है. लेकिन दिक्कत तब होती है जब बच्चे बड़े होने के बावजूद अक्सर सोते समय बिस्तर गीला कर देते हैं. ऐसे में अगर किसी और के घर में जाने पर अगर ये दिक्कत सामने आती है तो बच्चे को ही नहीं बल्कि पेरेंट्स को भी काफी शर्मिंदा (Embarrassed) होना पड़ता है. बच्चों की इस आदत को छुड़ाने के लिए कई बार पेरेंट्स उन को डांटते और पीटते भी हैं जो कि सही नहीं है. क्योंकि बच्चों को खुद इस बात का पता नहीं होता है कि उन्होंने बिस्तर गीला कर दिया है. अगर इसके लिए उनको डांटा या मारा जाये तो ऐसे में बच्चों के आत्मविश्वास (Self-confidence) में तो कमी आती ही है, वो हीन भावना का शिकार भी होने लगते हैं. ऐसे में ज़रूरी है कि कुछ घरेलू तरीकों के ज़रिये बच्चों की बिस्तर गीला करने की आदत को छुड़ाया जाये. आइये जानते हैं इसके बारे में.

    ये भी पढ़ें: बच्चों के लिए खिलौने खरीदते समय इन बातों का रखें ध्यान

    अपनाएं ये घरेलू तरीके

    सोने से पहले बच्चे को पेशाब ज़रूर करवाएं.

    सोने के बाद रात में कुछ घंटो के अंतराल पर बच्चे को जगा कर फिर पेशाब करवाएं.

    बच्चे को बाथरूम और टॉयलेट जाने की ट्रेनिंग दें.

    कोशिश करें बच्चा जिस कमरे में हो उसमें टॉयलेट अटैच हो.

    टॉयलेट में अंधेरा न हो जिससे बच्चा रात को टॉयलेट जाने से डरे नहीं.

    बिस्तर गीला करने के आदत छुड़ाने के लिए बच्चे को कपालभाति योग करवाएं.

    एक्यूप्रेशर की मदद लें और छोटी अंगुली के ऊपर का भाग दबाएं.

    रात को सोने से पहले रोज़ाना थोड़ा-सा ऑलिव ऑयल गुनगुना करके सर्कुलर मोशन में बच्चे के पेट पर लगाएं.

    ये भी पढ़ें: बच्चों के कमरे में कभी न रखें ये चीजें, हो सकती हैं खतरनाक

    डाइट में इन चीजों को करें शामिल

    रोज़ाना सुबह बच्चे को भीगी हुई किशमिश खाने के लिए दें.

    बच्चे को रोज़ाना केले खाने के लिए दें.

    सोने से पहले बच्चे को गुनगुना दूध पिलायें और गुड़ खिलाएं.

    रोज़ाना सोने से पहले बच्चे को अखरोट खाने के लिए दें.

    बच्चे को रात को सोने से पहले अजवाइन पीसकर या पानी में मिलाकर दें.

    दालचीनी पाउडर में शहद मिलाकर खाने को दें.

    बच्चे को क्रेनबेरी का जूस भी पिला सकते हैं.

    सुबह ठंडे दूध में शहद मिलाकर पीने को दें.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
    Published by:Meenal Tingel
    First published: