अपना शहर चुनें

States

Gardening Tips: इन आसान तरीकों से गमले में उगाएं टमाटर

इन टिप्‍स की मदद से गमले में भी टमाटर उगा सकते हैं. Image Credit: Green-gold-garden/Youtube
इन टिप्‍स की मदद से गमले में भी टमाटर उगा सकते हैं. Image Credit: Green-gold-garden/Youtube

अगर आपके पास पर्याप्‍त जगह नहीं है, तो आप गमलों में भी कुछ चीजें अच्‍छी तरह उगा सकते हैं. इसी में से एक है टमाटर. आप इन गार्डनिंग टिप्‍स की मदद से अपने किचन गार्डन में टमाटर का पौधा उगा सकते हैं. यह बेहद आसान है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2021, 3:23 PM IST
  • Share this:
किचन गार्डन के कई फायदे हैं. इससे जहां हमारा गार्डनिंग का शौक पूरा होता है और हम इस बहाने कई चीजें उगाना सीखते हैं, वहीं हमें घर में ही कुछ सब्जियां आदि मिल जाती हैं. अगर आपके पास पर्याप्‍त जगह नहीं है, तो आप गमलों में भी कुछ चीजें अच्‍छी तरह उगा सकते हैं. इसी में से एक है टमाटर. टमाटर का इस्‍तेमाल सलाद और घर में बनने वाली ज्‍यादातर डिशेज में होता है. ऐसे में इसकी रोज ही जरूरत पड़ती है.

आप इन गार्डनिंग टिप्‍स (Gardening Tips) की मदद से अपने किचन गार्डन (Kitchen Garden) को बेहतर बना सकते हैं और गमले में भी टमाटर का पौधा उगा सकते हैं. यह बेहद आसान है. जानिए इन टिप्‍स के बारे में-

पूरी धूप मिलनी चाहिए
सबसे पहले पर्याप्‍त आकार का गमला लें और इसे ऐसी जगह पर रखें, जहां अच्‍छी धूप आती हो और इसे पूरे दिन की धूप मिल सके. यानी आपका गमला कम से कम 8 से 10 घंटे धूप में रहे. यह इस पौधे के लिए अच्‍छा होता है.
ये भी पढ़ें - घर की बगिया में उगाएं मेथी, स्‍वाद से सेहत तक है गुणों से भरपूर



गमला बहुत छोटा न हो
जिस गमले में टमाटर का पौधा उगाना हो, वह बड़े आकार का हो तो ज्‍यादा बेहतर होता है. गमला बहुत छोटा नहीं होना चाहिए. यह ठीक से बढ़े इसके लिए गमले में पर्याप्त मिट्टी जरूर होनी चाहिए. इसे आप किसी नर्सरी से भी मंगवा सकते हैं.

नर्सरी से मंगाएं बीज
टमाटर को उगाने के लिए आप घर में आए टमाटर से भी बीज निकाल सकते हैं या फिर नर्सरी आदि से भी इसके बीज मंगवा सकते हैं. अब गमले में मिट्टी डालें और फिर टमाटर के बीज डालें. कुछ समय बाद इसमें बीज अंकुरित दिखने लगेंगे.

इस तरह मिलेगा पोषण
इस बात का भी पूरा ध्‍यान रखें कि एक गमले में एक ही पौधा लगाएं. एक गमले में अगर ज्‍यादा पौधे होंगे तो इसका असर पौधे की बढ़वार पर पड़ेगा और टमाटर भी कम निकलेंगे. वहीं खाद के तौर पर गमले में बायो‌डीग्रेडेबल किचन वेस्ट डाल सकते हैं. यह खाद का काम करेगा. इसके अलावा पौधे की सूखी पत्तियों और टूटी शाखाओं को अलग करके भी आप गमले में डाल दें. इससे भी गमले की मिट्टी को पोषण मिलेगा.

लकड़ी का दें सहारा
टमाटर के पौधे बड़े होने के साथ जब इनमें टमाटर आने लगते हैं तो ये एक ओर को झुकने लगते हैं. इससे इनका बढ़ना प्रभावित हो सकता है. इसलिए इन्‍हें किसी पतली सी लकड़ी की मदद से सीधा रखें. इसके लिए गमले में पहले से ही लगाकर रखें. वरना बाद में दिक्‍कत होगी और लकड़ी पौधे की जड़ों को नुकसान पहुंचा सकती है.

ये भी पढ़ें - हेल्‍थ से लेकर स्किन तक चमेली के तेल के हैं कई फायदे, आप भी जानें

सर्दियों में न दें ज्‍यादा पानी
सर्दियों के मौसम में पौधे को एक ही बार पानी दें. मगर गर्मियों में जब ज्‍यादा गर्मी पड़े तो दोनों समय पानी दिया जाना चाहिए. वहीं इस बात का भी पूरा ध्‍यान रखें कि समय समय पर पौधे की छंटाई करते रहें. सूखी पत्तियों और ब्रांचेस को तोड़कर वापस गमले में डाल दें. इससे मिट्टी की पोषकता बढ़ती है. आपका पौधा ज़्यादा टमाटर देगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज