होम /न्यूज /जीवन शैली /दोस्तों के साथ बर्फीले ट्रेवल डेस्टिनेशन पर जाने के लिए बनाएं चादर ट्रेक का प्लान

दोस्तों के साथ बर्फीले ट्रेवल डेस्टिनेशन पर जाने के लिए बनाएं चादर ट्रेक का प्लान



दोस्तों के सात चादर ट्रेक ट्रिप (image -canva)

दोस्तों के सात चादर ट्रेक ट्रिप (image -canva)

Chadar trek - जम्मू कश्मीर के जंस्कार में मौजूद चादर ट्रेक सर्दियों में किसी खूबसूरत स्वर्ग जैसा लगता है. चादर ट्रेक मे ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

ये जगह काफी ठंडी है इसीलिए यहां अपना खास ख्याल रखें.
जनवरी और फरवरी का महीना ट्रेक के लिए बेस्ट है.
चादर ट्रेक एक बेस्ट एडवेंचरस से भरी डेस्टिनेशन है.

Best Things to do in Chadar Trek : बर्फीले ट्रेवल डेस्टिनेशन हमेशा से ट्रैकिंग के लिए सबसे मनपसंद लोकेशन माने जाते हैं, जहां दोस्तों के साथ ट्रैकिंग करने का अलग ही आनंद आता है. भारत में ऐसे कई सारे ट्रैकिंग लोकेशन हैं, जहां सर्दियों के मौसम में देश-विदेश के ट्रैकर्स की भीड़ ट्रैकिंग का आनंद लेने पहुंचती है. भारत में जम्मू कश्मीर के पूर्वी क्षेत्र में ऐसा ही एक ट्रैकिंग लोकेशन है जो की जंस्कार पहाड़ी में स्थित है. यहां जंस्कार नदी की दो धाराएं बहती है जो सर्दियों के मौसम में बर्फ से ढक जाती हैं. इस क्षेत्र में अगर आप घूमने निकले हो तो इसे चादर ट्रेक के नाम से भी बुला सकते हैं. चादर ट्रेक भारत में ट्रेकिंग के लिए कुछ बेहतरीन लोकेशंस में से एक है, जहां लाखों अनुभवी ट्रेकर्स एडवेंचर की तलाश में आते हैं. इस एडवेंचरस ट्रेकिंग के लिए आप भी अपने दोस्तों के साथ प्लान बना सकते हैं, लेकिन इससे पहले चादर ट्रेकिंग के बारे में जानना जरूरी है, तो आइए जानते हैं

ट्रेकिंग के लिए सर्दियों का समय : सर्दियों के समय ये रूट और इस लोकेशन की जंस्कार नदी भी बर्फ से ढक जाती है, यानी नदी के ऊपर बर्फ की परत बन जाती है, यही कारण है की इसे चादर ट्रेक कहा जाता है और यही बर्फ की परतें इस ट्रेकिंग को और शानदार बनाती हैं.

गर्मी में करें रिवर राफ्टिंग : गर्मियों के दिनों में जंस्कार नदी अपनी पूरी बहाव के साथ बहती है, इसलिए इस मौसम में जंस्कार नदी में लोग रिवर राफ्टिंग का लुफ्त उठाते हैं, यही कारण है की यहां गर्मियों के दिनों में भी ट्रेकर्स चादर ट्रेक का आनंद लेने आते हैं.

सबसे चर्चित रास्ता : जंस्कार नदी लेह से बहते हुए जंस्कार को पार करती है और सर्दियों के मौसम में इस रास्ते का लोगों द्वारा इस्तेमाल भी किया जाता है, क्योंकि सर्दियों के मौसम में यह नदी बर्फ से जम जाती है.

आने का सही समय : चादर ट्रेक आने के लिए जनवरी और फरवरी का माह सबसे बेहतरीन समय है, क्योंकि इस मौसम में बर्फ के कारण नदी कांच जैसी लगने लगती है और बर्फ भी काफी मजबूत हो जाता है.

चादर ट्रेक कैसे पहुंचें : यदि आप ट्रेन से जाने के इच्छुक हैं तो जम्मू तवी रेलवे स्टेशन पहुंचकर ऑटो से जंस्कार पहुंच सकते हैं और अगर आप हवाई जहाज से लेह आ सकते हैं तो लेह हवाई अड्डे से 105 किलोमीटर दूर है चादर ट्रेक.

यह भी पढ़ें- थाईलैंड की ट्रिप पर जाने का प्लान बना रहे हैं, तो ट्रैवल गाइडेंस यहां ज़रूर पढ़ लें

यह भी पढ़ें- Nagaland Travel Guide: नगालैंड घूमने की कर रहे हैं प्लानिंग तो ये 5 जगहें सफर बनाएंगी यादगार

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, Travel

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें