बेटी के सपने के लिए 7 साल से नूडल्स खाकर गुजारा कर रहा है ये पिता

Prity Nagpal | News18Hindi
Updated: September 16, 2017, 8:15 PM IST
बेटी के सपने के लिए 7 साल से नूडल्स खाकर गुजारा कर रहा है ये पिता
जिमनास्ट बनना जाती है बेटी, पिता कर रहे हैं हर जतन
Prity Nagpal | News18Hindi
Updated: September 16, 2017, 8:15 PM IST
मां की कुर्बानियों के बारे में तो खूब देखा-सुना-पढ़ा होगा लेकिन पिता भी बच्चे की परवरिश के लिए ढेरों समझौते करते हैं. कम से कम यानवेइ को देखकर तो यही लगता है. चीन में रहने वाला यह शख्स मां और पिता की दोहरी भूमिका निभा रहा है. वह अपनी बेटी जिनजिन के सपनों को पूरा करने के लिए सात सालों से नूडल्स और बन पर गुजारा कर रहा है.

कुछ साल पहले उनकी पत्नी ने उन्हें तलाक दे दिया और तब से बेटी के पालन पोषण की जिम्मेदारी उन पर आ गई. उन्होंने बच्ची की परवरिश और उसके भविष्य के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया. उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है. सड़कों पर झाड़ू लगाकर गुजारा करते हैं.

इस काम से उन्हें महीने के 200 युआन (करीब 2000 रूपए) मिलते हैं. जब उन्हें पता चला कि बेटी जिमनास्ट बनना चाहती है तो उन्होंने अपनी सारी आय बेटी के सपनों पर खर्च करना तय किया. इसके लिए वो वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल एजुकेशन में ट्रेनिंग ले रही है.

फीस बहुत ज्यादा थी और कहीं से पैसे का इंतजाम हो पाना भी मुमकिन नहीं था. तो पिता ने कुछ ऐसा किया जिससे हर किसी का दिल पसीज जाए. पिता ने पैसे बचाने के लिए खाने से समझौता करने का फैसला किया.



यानवेइ 49 वर्ष के हो चुके हैं और भूख लगने पर सिर्फ नूडल खाते हैं. अब तक वे करीब 2 टन नूडल खा चुके हैं. यानवेइ का कहना है कि नूडल्स खाकर गुजारा करना आसान नहीं है लेकिन मैंने अपनी बेटी से वादा किया था कि मैं उसका ख्याल रखूंगा. मुझे उम्मीद है कि मेरी कोशिश से मेरी उस एक बेहतर भविष्य मिल पाएगा.

यानवेइ उन सभी के लिए एक मिसाल हैं, जो बेटियों को पराया धन कहकर उन्हें नजरअंदाज कर देते हैं. एक पिता जो कि आर्थिक रूप से सक्षम न होने के बाद भी अपनी बेटी के लिए इतना कुछ कर रहा है. जो खुद की भूख को अनदेखा कर अपनी बेटी के हौसलों को नई उड़ान दे रहा है, उसकी नर्मदिली और त्याग को हमारा सलाम!
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर