डव ने दिया नस्लभेदी एड, हुआ विरोध तो मांगनी पड़ी माफी

फर्स्टपोस्ट.कॉम
Updated: October 13, 2017, 12:09 PM IST
डव ने दिया नस्लभेदी एड, हुआ विरोध तो मांगनी पड़ी माफी
डव का नया विज्ञापन
फर्स्टपोस्ट.कॉम
Updated: October 13, 2017, 12:09 PM IST
कॉस्मैटिक्स ब्रांड डव के एक विज्ञापन कैंपेन पर विवाद शुरू हो गया है. डव ने एक साथ ऐसी कई तस्वीरें लॉन्च की जो सीधे तौर पर नस्लभेदी हैं. सबसे ज्यादा विवाद जिस कैंपेन पर हो रहा है उसमे एक अश्वेत महिला बाथरूम में दिखाई दे रही है. उसके बगल में एक बॉडी वॉश रखा हआ है. महिला अपनी टीशर्ट ऊपर करती है. इसके बाद अगली तस्वीर में एक श्वेत महिला मुस्कुराती हुई दिखाई देती है.

इस कैंपेन के विरोध के बाद कंपनी ने ट्विटर और फेसबुक पर पोस्ट करके माफी मांगी है. मगर ये नहीं बताया कि इस तरह का नस्लभेदी कैंपेन क्यों चलाया गया.



एनडीटीवी की खबर के मुताबिक अमेरिका के वॉशिंग्टन पोस्ट ने भी इस बारे में सवाल उठाए है. जिनका जवाब डव या उससे जुड़ी हुई किसी कंपनी की तरफ से नहीं दिया गया.

किसी साबुन के इस्तेमाल के बाद इ्वेत महिला का श्वेत स्त्री में बदलना एक नस्ल भेदी संदेश देता है. इससे ऐसा लगता है कि अश्वेत होना और गंदा होना एक जैसा है. इसी तरह का एक कैंपेन पहले नीविया ने शुरू किया था, जिसकी टैग लाइन 'सफेद पवित्र है' (white is pure) थी.
First published: October 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर