ऑफिस में बेहतर प्रदर्शन के लिए करें ये काम

इन बातों का ध्यान रखकर आप ऑफिस में अपने काम की गुणवत्ता में सुधार कर सकते हैं.

News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 8:55 AM IST
ऑफिस में बेहतर प्रदर्शन के लिए करें ये काम
ऑफिस में बेहतर प्रदर्शन के लिए करें ये काम...
News18Hindi
Updated: July 19, 2019, 8:55 AM IST
ऑफिस में रोजा 9 घंटे काम करते हुए कई बार हम एकदम कम्फ़र्टेबल जोन में चले जाते हैं. जॉब की शुरुआत में शुरुआत में आपमें एक अलग सा जोश और एनर्जी होती है. आप खुद को काम में पूरा झोंक देते हैं जिससे ऑफिस में आपका प्रदर्शन भी काफी अच्छा होता है. लेकिन जैसे जैसे समय बीतता जाता है आपके काम में शिथिलाता आती जाती है. जिससे न केवल आपका पूरा जीवन बल्कि करियर भी प्रभावित होता है. काम की गुणवत्ता में आ रही इस गिरावट का दोष अपने वर्कप्लेस और सहकर्मियों पर न डालें और अपने काम की जिम्मेदारी खुद लें. आइए जानते हैं कि चीजों का ध्यान रखकर आप ऑफिस में अपने काम की गुणवत्ता में सुधार कर सकते हैं.

आंकलन करें:
लोग आपके काम के बारे में क्या सोचते हैं इससे भी कहीं ज्यादा यह बात मायने रखती है कि क्या काम अपने काम से संतुष्ट हैं? सप्ताह में कम से कम आधा घंटा जरूर निकालें अपना अवलोकन करने के लिए. सोचिए कि हफ्ते की शुरुआत में आपने जो टारगेट बनाया था क्या उसे पूरा कर लिया है? सोचिए ऐसा कौन सा काम है जिसे करना आपके लिए ज्यादा चुनौतीपूर्ण होता है और कौन सा काम करने से केवल वक्त की बर्बादी होती है. अपना ध्यान उन कामों पर ज्यादा केन्द्रित करने का प्रयास करें जो आपको ज्यादा चुनौतीपूर्ण लगते हैं.

सेफ ज़ोन से निकलें:

हर इंसान का एक कम्फर्ट ज़ोन होता है. ऑफिस में कम्फर्ट जों में रहने पर आप ग्रो करना बंद कर देते हैं. उन कामों का चुनाव करें जिनमें आपको सबसे ज्यादा असहजता महसूस होती है. जैसे कई बार लोगों के सामने प्रेजेंटेशन देने या फिर विडियो शूट करवाने में संकोच होता है तो प्रयास करें कि अपने आप को उस काम के लिए प्रेरित करें और उसे करें भी. ऐसा करने से आप खुद को बेहतर तरीके से ग्रो कर पाएंगे और आपमें आत्मविश्वास भी आएगा.

डर के आगे जीत है:
किसी विज्ञापन की यह पंच लाइन ऑफिस के माहौल में एकदम फिट बैठती है. कई बार कुछ कामों को लेकर हमारे मन में एक अनजाना सा डर बैठा रहता है. यह डर हमारे भीतर एक नकारात्मक एहसास हो पैदा करना है जिससे हमारे काम की गुणवत्ता प्रभावित होती है और हमारी इच्छाशक्ति पर भी बुरा प्रभाव डालती है. खुद को चैलेंज दें इससे आपका उत्साह बढ़ेगा और डर धीरे धीरे जाता रहेगा. अपने डर को एक पन्ने पर लिखें और फिर उससे मुकाबला करने की कोशिश करें.
Loading...

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ट्रेंड्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 19, 2019, 8:53 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...