Home /News /lifestyle /

'करोल बाग चाट' पर आएं और लें 'मूंगलेट' का मज़ा, चीला और पिज्जा को भूल जाएंगे

'करोल बाग चाट' पर आएं और लें 'मूंगलेट' का मज़ा, चीला और पिज्जा को भूल जाएंगे

1970 में इस दुकान की शुरुआत हुई थी. यहां बनने वाली मूंगलेट की डिश काफी मशहूर हो चुकी है.

1970 में इस दुकान की शुरुआत हुई थी. यहां बनने वाली मूंगलेट की डिश काफी मशहूर हो चुकी है.

Delhi Food Joints: ऑमलेट, पिज्जा और चीले का स्वाद तो आपने कई बार लिया होगा. अगर कभी मूंगलेट को ट्राई नहीं किया है तो करोल बाग चाट के यहां इसका एक बार जरूर स्वाद लें.

    (डॉ. रामेश्वर दयाल)

    Delhi Food Joints: खोमचा का खाना तो आप जानते ही होंगे. दिल्ली क्या पूरे देश में खोमचे खाने की बहार है. मोटे तौर पर इस खाने में आलू टिक्की, दही भल्ले, मटर कुलचा आदि शामिल होंगे. लेकिन अब दिल्ली का खोमचा (Khomcha) थोड़ा तरक्की कर रहा है. आज हम आपको ऐसे खोमचे वाले के पास लिए चलते हैं, जो ट्रेडिशनल खानपान तो बेच रहा है, उसने अपनी खोज कर एक नया ही डिश ‘मूंगलेट’ (Moonglet) ईजाद कर लिया. यह डिश भी पुरानी ही है, लेकिन इसमें इतने बदलाव कर लिए गए हैं कि उसका स्वाद ही बदल गया, जिसके चलते लोगों की जुबान पर इसका स्वाद चढ़ गया. एक साथ चार फ्राई-पेन रखकर उन्हें अलग अलग बनाया जाता है. अवकाश या अन्य दिनों में तो इनकी संख्या बढ़कर दोगुनी हो जाती है.

    टिक्की, मटर कुलचा या फ्रूट चाट, सभी हैं ज़ायकेदार

    तकनीकी तौर पर करोल बाग इलाके को पुरानी दिल्ली नहीं कहा जाता, लेकिन यहां का कल्चर, भीड़, आबादी, बाजार इसे पुरानी दिल्ली के करीब ले आते हैं. अब पुराना शहर होगा तो वहां ट्रेडिशनल या पारंपरिक खाना भी मिलेगा तो आज हम आपको वहीं ले चल रहे हैं. करोल बाग के अजमल खां रोड पर चलेंगे तो आगे चलने पर राइट साइड पर शुरू में ‘वरदान हाउस’ बिल्डिंग के बाहर ‘करोल बाग चाट’ का ठिया आपको दिख जाएगा. इलाके में यह खासा मशहूर है, क्योंकि यह बहुत पुराना है.

    इस ठिए पर आपको खोमचे का खाना जैसे आलू टिक्की, टिक्की छोले, मटर कुलचा, फ्रूट चाट मिल जाएगी. कोई भी डिश लीजिए, स्वाद शानदार है. इनके टिक्की छोले तो नाम कमा रहे हैं, साथ ही फ्रूट भी शानदार है, उसमें डाले गए मसाले और चटनी अलग ही स्वाद पैदा करती है. सभी गरमा-गरम और ताजा, क्योंकि खाने वाले कम नहीं हैं. इन सबकी कीमत 80 रुपये से लेकर 100 रुपये तक है.

    यहां आलू टिक्की, टिक्की छोले, मटर कुलचा, फ्रूट चाट भी मिल जाएगी.

    मूंगलेट का स्वाद है लाज़वाब

    इस ठिये के ऑनर ने दर्शकों को रिझाने और उन्हें अलग ही स्वाद मुहैया कराने के लिए कुछ साल पहले एक डिश ईजाद की और वह नाम कमा गई इस डिश का नाम ‘मूंगलेट’ रखा गया है. यह असल में चीला और पिज्जा का नया संस्करण है. एक फ्राइपेन में पहले मक्खन डाला जाता है, उसके गरम होने के बाद कुछ वेजिटेबल्स, स्वीटकॉर्न, बारीक कटी प्याज व शिमला मिर्च में बनाए गए मूंग दाल के पेस्ट को फ्राइपेन में डाला जाता है. यह घोल खूब सारा होता है, इसलिए वह चीला होने के बावजूद पिज्जा जैसा मोटा हो जाता है यह थोड़ा स्पाइसी होता है. दोनों और से फ्राई करने के बाद इस मूंगलेट को खजूर की लाल चटनी व हरी मिर्च, धनिये आदि से बनी खट्टी-तीखी चटनी के साथ सर्व किया जाता है.

    स्वाद लाजवाब व बेजोड़. कुछ कुछ ऑमलेट-चीला-पिज्जा जैसा. इसकी डिमांड इतनी अधिक है कि आम दिनों में चार फ्राइपेन में अलग अलग बनाया जाता है. रविवार व विशेष मौकों पर आठ फ्राइपेन में एक साथ पकता है. इसकी कीमत 120 रुपये है.

    यह इलाका पूरी तरह कमर्शियल है, इसलिए खाने वालों का आना-जाना जारी रहता है.

    तीसरी पीढ़ी परोस रही है स्वाद

    इस ठिये पर आज तीसरी पीढ़ी काम कर रही है. वर्ष 1970 में ठीये को ओमप्रकाश ने शुरू किया. उसके बाद इस काम को उनके बेटे दिनेश व राकेश ने आगे बढ़ाया. आज साथ में उनके बेटे दीपक व गुरू मदद कर रहे हैं. इलाका पूरी तरह कमर्शियल है, इसलिए खाने वालों का आना-जाना जारी रहता है.

    उनका कहना है कि हमने स्वाद से कोई समझौता नहीं किया. इसलिए सालों से लोग खाने के लिए आ रहे हैं. दोपहर 1 बजे ठिये पर काम शुरू हो जाता है और रात 10 बजे तक सभी के स्वाद का आनंद लिया जा सकता है. अवकाश कोई नहीं है.

    नजदीकी मेट्रो स्टेशन: करोल बाग

    Tags: Food, Lifestyle

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर