लाइव टीवी

Valentine Day 2020: डेटिंग की कर रहे हैं तैयारी, जानें क्या करें और क्या नहीं

News18Hindi
Updated: February 5, 2020, 5:34 PM IST
Valentine Day 2020: डेटिंग की कर रहे हैं तैयारी, जानें क्या करें और क्या नहीं
छोटे शहरों में जहां संयुक्त परिवार का चलन आम है और जहां पड़ोसी एक-दूसरे को जानते हैं, महिलाओं पर लगातार नजर रखी जाती है.

डेटिंग को लेकर नॉन-मेट्रो और छोटे शहरों का मिजाज पिछले कुछ वर्षों में बदला है और इसका श्रेय जाता है आधुनिकीकरण और टेक्नोलॉजिकल बदलाव को.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2020, 5:34 PM IST
  • Share this:
इस बात को लगभग एक दशक हो गया है जब 19 साल के एक लड़के ने अपने खून से प्रेम पत्र लिखा और उस लड़की को थमा दिया जिसको वह पसंद करता था. लड़की की मनोदशा का सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है- वह सहम गई थी. यह वाकया है एक छोटे शहर का जहां डेटिंग अनसुनी बात थी और यहां महिलाओं के नजदीक आने के लिए पुरुष अमूमन ऐसे हथकंडे अपनाते हैं कि रूह कांप जाए.

पर डेटिंग को लेकर नॉन-मेट्रो और छोटे शहरों का मिजाज पिछले कुछ वर्षों में बदला है और इसका श्रेय जाता है आधुनिकीकरण और टेक्नोलॉजिकल बदलाव को. अब महिलाएं और पुरुष बॉलीवुड स्टाइल के प्यार (हम जीवन में एक ही बार प्यार करते हैं और एक ही बार शादी जैसी रूमानी सोच) से दूर जा रहे हैं और डेटिंग के मॉडर्न रूप को अपना रहे हैं.

इसे भी पढ़ेंः Valentine Day 2020: इन वजहों से जरूर सेलिब्रेट करें ये दिन, होगा कुछ ऐसा खास

डेटिंग की जोखिम भरी दुनिया

डेटिंग के बारे में लोगों में समझ का भारी अभाव है और इस वजह से अधिकांश लोग डेटिंग में क्या करें और क्या नहीं करें इस बारे में कुछ नहीं जानते. डेटिंग अमूमन कोर्टशिप की अवधि है जिस दौरान दो अनजाने लोगों को एक-दूसरे को समझने-परखने का मौका मिलता है और इस दौरान वह यह देखने की कोशिश करते हैं कि दोनों के बीच रूमानी संबंध या फिर प्रतिबद्ध रिलेशनशिप की गुंजाइश हो सकती है या नहीं.



महिलाओं पर लगातार नजर रखी जाती हैगलत धारणा और सांस्कृतिक स्थिति ने डेटिंग को एक बहुत ही नाजुक मामला बना दिया है और गैर-मेट्रो सिटी में यह स्थिति और खराब है. छोटे शहरों में जहां संयुक्त परिवार का चलन आम है और जहां पड़ोसी एक-दूसरे को जानते हैं, महिलाओं पर लगातार नजर रखी जाती है. ऐसी जगह कम होती है जहां लोग अपने महिला मित्रों के साथ डेट पर जा सकें. इस तरह की सामाजिक स्थिति जहां यह माना जाता है कि एक महिला को शादी के बंधन के बाहर किसी अन्य पुरुष के साथ नहीं दिखना चाहिए.

डेटिंग ऐप्स और सोशल मीडिया के माध्यम से पार्टनर की तलाश
इन शहरों में मॉरल पुलिसिंग काफी ज़्यादा है और इस तरह का कोई कदम उठाने वालों के मन में हमेशा ही डर भरा रहता है. पर युवा मन कब इन प्रतिबंधों और बाध्यताओं को मानता है. वे अपने ऊपर लादे गए इन रूढ़िवादी सोचों को मानने से इनकार करने से पीछे नहीं हटते. हालांकि दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहरों के महिला-पुरुष डेटिंग ऐप्स और सोशल मीडिया के माध्यम से एक-दूसरे की तलाश तो कर लेते हैं, पर डेटिंग की कुछ मूल बातों के बारे में नहीं जानने के कारण यह उन्हें बहुत ही चुनौती भरा लगता है.

टिंडर पर एक लड़की से जान-पहचान 
ग्वालियर, मध्य प्रदेश के रहनेवाले विवेक (बदला हुआ नाम) ने डेटिंग के बारे में अपने अनुभव को कुछ इस तरह से बयां किया. टिंडर पर एक लड़की से उसकी जान-पहचान हुई जो अपने घरवालों से काफी नाराज़ थी. वह इस लड़की को मिलने के लिए राजी करने में कामयाब रहा. अपने घर से काफी दूर वह एक कैफे में मिले क्योंकि लड़की नहीं चाहती थी कि उसका कोई जाननेवाला या पड़ोसी उसे देख ले. दुपट्टे से अपना चेहरा पूरी तरह ढके हुए वह एक ऑटो से वहां पहुंची.

मुस्कुराते हुए अपना दुपट्टा हटाया
कैफे के एक कोने में अपनी जगह लेने के बाद उसने शर्माते और मुस्कुराते हुए अपना दुपट्टा हटाया. विवेक उसे देखकर खुश था पर साथ ही नर्वस भी. डेटिंग के दौरान उसे पता चला कि लड़की उसके कॉलेज के नामी गुंडे की कज़िन है. उसने मुलाकात को जल्दी जल्दी में निपटाया और दुबारा फिर कभी उस लड़की से नहीं मिला. वह आज भी टिंडर पर है पर अब वह ज़्यादा मैच्योर हो गया है. अब वह यह जान गया है कि क्या चलता है और क्या नहीं.

डेटिंग की दिलचस्पी
मेरठ की रितु (नाम बदला हुआ) अपने मां-बाप के पसंद के लड़के से शादी कर दिए जाने से पहले डेटिंग पर जाना चाहती थी. अपने एक दोस्त के भाई पर उसको क्रश था और जब भी अपने दोस्त के घर वह जाती, किसी न किसी बहाने उससे मिल लेती. एक दिन उसने उसे यह कहने की हिम्मत जुटा ली कि वह दोनों शहर के किसी कैफे में मिलें.

डेटिंग की उत्तेजना के कारण वह कई रात सो नहीं सकी. पर जिस लड़के के बारे में वह इतनी ज़्यादा रूमानी हो रही थी कि वह संयत और कन्फ़िडेंस से भरा होगा, वह बहुत ही उतावला निकला. उसको घुटन होने लगी और फिर कुछ बहाना बनाकर वहां से निकल गई. इसके बाद उसने कभी किसी को डेट नहीं किया और और अब शादीशुदा है.



डेटिंग के अनुभव को इन बातों से खुशगवार बनाया जा सकता है

बी कूल!
उतावला होना डेटिंग की विफलता का सबसे बड़ा कारण माना जाता है. यह महिला और पुरुष दोनों के उत्साह पर पानी फेर देता है. डेटिंग का पहला रूल है- बी कूल!, एक-दूसरे में दिलचस्पी बनाए रखें और उतावले न हों.

सही अप्रोच
छोटे शहरों में किसी लड़की को सीधे अप्रोच करना काम नहीं करता और कॉलेज की बसों में लव लेटर फेंकने का भी कोई फायदा नहीं होता. निधि (नाम बदला हुआ) को अपने साथ पढ़ने वाले एक लड़के का पत्र मिला पर इस पत्र को वह पढ़े इससे पहले ही उसके क्लास के सभी लड़के पढ़ चुके थे. उसे बुरा लगा और कई दिनों तक वह इस स्थिति से उबर नहीं पाई. यह जरूरी है कि आप अपनी पसंद की तलाश अपने नेटवर्क के अंदर ही करें और अपने मित्रों को उसे आपसे मिलवाने का आग्रह करें.

एक लक्ष्मण रेखा खींचिए
सोशल मीडिया और डेटिंग ऐप्स का प्रयोग करने के दौरान दूसरों के प्रति सम्मान दिखाइए. अगर कोई आपके मैसेज का उत्तर नहीं दे रहा है, तो इसका मतलब यह हुआ कि उसे आप में दिलचस्पी नहीं है. उसे आगे और हैरस नहीं कीजिए और आगे बढ़ जाइए.

आहिस्ता आगे बढ़ें
इन छोटे शहरों में पुरुषों को हतोत्साहित करनेवाली सबसे बड़ी बात यह है कि महिलाएं डेटिंग ऐप्स का प्रयोग पति ढूंढने के लिए करती हैं. आपकी इच्छा क्या है, इस बारे में स्पष्ट रहिए पर आगे बढ़ने से पहले एक-दूसरे को जानने-समझने की कोशिश कीजिए.

इसे भी पढ़ेंः लव मैरिज के लिए पार्टनर के पैरेंट्स से करने जा रहे हैं बात तो ऐसी होनी चाहिए मुलाकात

शालीनता मत छोड़िए
छोटी-छोटी बातों का ख्याल रखिए. पायल (नाम बदला हुआ) को अपने डेट का साथ सिर्फ़ इसलिए छोड़ना पड़ा क्योंकि वह उस लड़के के शरीर से निकल रहे दुर्गंध से परेशान थी. बेसिक्स को नहीं भूलिए. आप कोई हल्का डीओड्रेंट या परफ्यूम यूज कर सकते हैं. अपने डेट से आंख मिलाकर बात करें और डेट के दौरान कभी भी किसी स्थिति में अपनी नाक में उंगली न करें.

डेटिंग के ये कुछ जरूरी टिप्स हैं. अगली बार जब आप डेट पर जाएं तो इन बातों का ख्याल रखें और देखें कि ये कितना कारगर होते हैं. प्ले कूल एंड बी सेफ.

(रजनी लेखिका हैं और रेडवोम्ब ऑनलाइन प्लैटफॉर्म पर नियमित रूप से कॉलम लिखती हैं)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 12:25 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर