Valentine Day Special: वैलेंटाइन डे पर पार्टनर संग पहुंचे 'हर्षिल', लें प्रकृति का मजा

हजारों फीट की ऊंचाई पर स्थित यह गांव अद्भुत नजारों के लिए मशहूर है. यहां प्रकृति की खूबसूरती को देखते हुए बहती हुई ठंडी हवा की आवाज महसूस कर सकते हैं.

हजारों फीट की ऊंचाई पर स्थित यह गांव अद्भुत नजारों के लिए मशहूर है. यहां प्रकृति की खूबसूरती को देखते हुए बहती हुई ठंडी हवा की आवाज महसूस कर सकते हैं.

Valentine Day Special: उत्तराखंड के एक छोटे से हिल स्टेशन 'हर्षिल' (Harsil) में आप इस बार अपना वैलेंटाइन डे सेलिब्रेट कर सकते हैं. यह उत्तराखंड के गढ़वाल जिले में मौजूद एक बेहतरीन पर्यटन स्थल है. इसे हर्षिल वैली के नाम से भी जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 11, 2021, 5:01 PM IST
  • Share this:
Valentine Day Special: इस बार अगर आप अपना वैलेंटाइन डे हरियाली और ठंडी हवा के बीच अपने पार्टनर का हाथ पकड़े मनाना चाहते हैं तो आप उत्तराखंड (Uttarakhand) का रूख कर सकते हैं. उत्तराखंड में एक ऐसी ही खूबसूरत जगह है, जिसके बारे में बहुत ही कम लोगों को पता है. उत्तराखंड के एक छोटे से हिल स्टेशन 'हर्षिल' (Harsil) में आप इस बार अपना वैलेंटाइन डे सेलिब्रेट कर सकते हैं. यह उत्तराखंड के गढ़वाल जिले में मौजूद एक बेहतरीन पर्यटन स्थल है. इसे हर्षिल वैली के नाम से भी जाता है. भागीरथी नदी के तट पर स्थित हर्षिल घाटी में बर्ड वॉचिंग और ट्रैकिंग के साथ-साथ कई बेहतरीन जगहों पर घूमकर ट्रिप को जीवन भर के लिए एक यादगार पल बनाया जा सकता है. आइए आपको बताते हैं यहां के कुछ प्रमुख पर्यटन स्थलों के बारे में.

धराली

धराली, हर्षिल से लगभग 3 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक छोटा सा गांव है, जो खूबसूरती के मामले में अद्भुत है. इस गांव के बगल में मौजूद भागीरथी नदी इसे और भी आकर्षक बनाती है. नदी के बहते पानी को देखने के लिए सभी पर्यटक नजरे टिकाए रहते हैं. कहा जाता है कि धराली वह स्थान है जहां, भागीरथ ने गंगा नदी को धरती पर लाने के लिए तपस्या की थी. हिन्दुओं के लिए यह बेहद पवित्र स्थान है. यहां शंकर भगवान को पालनहार के रूप में पूजा जाता है.

इसे भी पढ़ेंः Valentine Day 2021: देहरादून के इन 5 जगहों पर पार्टनर संग सेलिब्रेट करें वैलेंटाइन डे
मुखबा गांव

हर्षिल से मुखबा गांव की दूरी लगभग 2 किलोमीटर है. हजारों फीट की ऊंचाई पर स्थित यह गांव अद्भुत नजारों के लिए मशहूर है. यहां प्रकृति की खूबसूरती को देखते हुए बहती हुई ठंडी हवा की आवाज महसूस कर सकते हैं. यहां आप बर्फबारी का भी लुत्फ उठा सकते हैं. कई लोग इस जगह को देवी गंगोत्री का घर भी मानते हैं. देवदार के वृक्ष और हजारों तरह के पेड़-पौधें और प्राकृतिक सुंदरता के बीच सुकून भरा पल बिताने के लिए उत्तराखंड में शायद ऐसी जगह आपको न मिले. यहां आप ट्रैकिंग भी कर सकते हैं.

बर्डवॉचर्स के लिए है बेस्ट जगह



अगर हर्षिल प्राकृतिक खूबसूरती और गंगोत्री नदी के लिए मशहूर है, तो बर्डवॉचर्स के लिए के लिए भी यह जगह किसी जन्नत से कम नहीं है. हर्षिल के घने जंगलों में पक्षियों की एक बृहद संख्या है. कहा जाता है कि यहां 500 से भी अधिक पक्षियों की प्रजातियां मौजूद हैं. इन हजारों पक्षियों की मधुर आवाज यकीनन आपकी यात्रा को एक यादगार पल में तब्दील कर देंगे.

बगोरी गांव

हर्षिल में इस गांव को सेब का भंडार कहा जाता है. यहां आपको हर तरफ सेब ही सेब के खेत दिखाई देंगे. अगर आपको सेब के बगीचे में घूमने के साथ-साथ मीठे सेब का आनंद लेना हो तो बगोरी गांव जरूर पहुंचें. हर्षिल में मौजूद झील में भी आप नौका विहार का आनंद उठा सकते हैं. यहीं नहीं हर्षिल में हर साल उत्तरकाशी मेला लगता है, जो बेहद ही मशहूर मेला है. इस मेले में आपको स्थानीय संस्कृति का अनोखा संगम देखने को मिलता है.

इसे भी पढ़ेंः Valentine Day 2021: पश्चिम बंगाल के दीघा में मनाएं वैलेंटाइन डे पार्टी, पार्टनर संग बीच की करें सैर

कैसे पहुंचें हर्षिल

हवाई मार्ग से जाने के लिए आपको निकटतम हवाई अड्डा जॉली ग्रांट हवाई अड्डा, देहरादून पहुंचना होगा. यहां से आप लोकल टैक्सी लेकर जा सकते हैं. ट्रेन से आप ऋषिकेश रेलवे स्टेशन जाकर लोकल बस या टैक्सी से हर्षिल जा सकते हैं. यहां पर वैलेंटाइन के मौके पर घूमने का एक अलग ही मजा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज