Vastu Tips: बच्चों का नहीं लग रहा पढ़ाई में मन? ये वास्तु टिप्स करेंगे कमाल

वास्तु अनुसार स्डटी रूम में सूरज की रोशनी भरपूर मात्रा में आनी चाहिए. Image-shutterstock.com

Vastu Tips For Students: अगर आपके बच्चों का मन पढ़ाई (Education) में नहीं लग रहा है, उनका ध्यान भटक रहा है और वह चाहकर भी एकाग्रता (Focus) से पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं तो ये चिंता का विषय है. ये सब वास्तु दोषों के कारण भी हो सकता है.

  • Share this:
    Vastu Tips For Students: बच्चों को सही तरीके से पढ़ाई करवाने में पैरेंट्स (Parents) के पसीने छूट जाते हैं. कई बार तो ठीक से पढ़ाई (Education) न करने से माता-पिता की परेशानी और अधिक बढ़ जाती है. ऐसा कई कारणों से हो सकता है और इनमें से एक कारण घर का वास्तु भी हो सकता है. कोरोना काल में सभी बच्चे अपने घर पर ही ऑनलाइन क्लासेस (Online Classes) कर रहे हैं. ऐसे में उन पर पाढ़ाई का प्रेशर ज्यादा है और पैरेंट्स पर उन्हें संभालते हुए पढ़ाई कराने का. दरअसल कुछ वास्तु टिप्स को आजमा कर आप अपने बच्चों की पढ़ाई व भविष्य से जुड़ी कई प्रकार की दिक्कतों से छुटकारा पा सकते हैं. अगर आपके बच्चों का मन पढ़ाई में नहीं लग रहा है, उनका ध्यान भटक रहा है और वह चाहकर भी एकाग्रता से पढ़ाई नहीं कर पा रहे हैं तो ये चिंता का विषय है. ये सब वास्तु दोषों के कारण भी हो सकता है. कुछ वास्तु टिप्स की मदद से आप अपने बच्चों की पढ़ाई का ध्यान रख सकते हैं.

    इन वास्तु टिप्स की मदद से बच्चे सही तरीके से करेंगे पढ़ाई

    -अगर आप चाहते हैं कि आपके बच्चे मन लगाकर पढ़ाई करें और जीवन में सफलता हासिल करें तो वास्तु के अनुसार उनका स्टडी रूम तैयार करें. ऐसे में आपको बच्चों का स्टडी रूम पूर्व, उत्तर या फिर ईशान कोण में बनाना चाहिए.

    इसे भी पढ़ेंः जिंदगी में सफल होने के लिए वास्तु के इन नियमों को जरूर अपनाएं

    -वास्तु अनुसार अगर पहले से ही स्टडी रूम पश्चिम दिशा में बना हुआ है तो ये सुनिश्चित करें कि बच्चा पूर्व दिशा की ओर मुंह करके ही पढ़ाई करे. इससे पढ़ाई करते वक्त मन फोकस्ड रहता है और निश्चत रूप से सफलता मिलती है.

    -वास्तु अनुसार छात्रों को हमेशा दक्षिण या पश्चिम की ओर सिर करके ही सोना चाहिए. वास्तु की मानें तो पश्चिम में सिर करके सोने से पढ़ने की इच्छा और अधिक मजबूत होती है.

    -वास्तु अनुसार स्डटी रूम में सूरज की रोशनी भरपूर मात्रा में आनी चाहिए. कहते हैं सूर्य नकारात्मक चीजों का नाश करता है और पॉजिटिव एनर्जी का संचार करता है. छात्रों को पढ़ाई के लिए पॉजिटिव एनर्जी की जरूरत होती है. ऐसे में ये ध्यान रखें कि स्टडी रूम में सूरज की रोशनी का प्रवेश हो और सुबह के समय कमरे की खिड़कियां खोलकर रखें.

    -विद्या की देवी मां सरस्वती को माना जाता है इसलिए स्टडी रूम में देवी सरस्वती की तस्वीर जरूर लगानी चाहिए. वास्तु के अनुसार सरस्वती मां की तस्वीर ऐसी जगह लगाएं जहां पढ़ने के दौरान आप उसे देख सकें. वहीं पढ़ाई से पहले बुद्धि व बल की प्रार्थना जरूर करें.

    -अगर आपके बच्चे को पढ़ाई करना पसंद न हो और या फिर पढ़ाई का नाम लेते ही उन्हें आलस आने लगे तो स्टडी रूम में हरे रंग का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा करें. वास्तु अनुसार दीवारों का रंग, स्टडी रूम के पर्दों का रंग और स्टडी टेबल का रंग हरा रखा जा सकता है.

    इसे भी पढ़ेंः जानें झाड़ू से जुड़े ये जरूरी वास्‍तु टिप्स, मां लक्ष्मी की कृपा से होगी धन की वर्षा

    -पढ़ने समय कुछ विशेष बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए. वास्तु के अनुसार कभी भी बीम या पिलर के नीचे बैठकर नहीं पढ़ना चाहिए. ऐसा करने से पढ़ाई में मन नहीं लगता और मानसिक तनाव भी बढ़ता है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.