बारिश में गुजरात के इस हिल स्टेशन का लें मजा, दिल होगा खुश

News18Hindi
Updated: September 3, 2019, 4:07 PM IST
बारिश में गुजरात के इस हिल स्टेशन का लें मजा, दिल होगा खुश
सापुतारा, गुजरात का एक ऐसा हिल स्टेशन है जहां घूमने वालों को अगस्त और सितंबर के महीने में पहुंचना चाहिए. लुभावने मौसम के अलावा सापुतारा अपने मॉनसून फेस्टिवल के लिए मशहूर है.

सापुतारा, गुजरात का एक ऐसा हिल स्टेशन है जहां घूमने वालों को अगस्त और सितंबर के महीने में पहुंचना चाहिए. लुभावने मौसम के अलावा सापुतारा अपने मॉनसून फेस्टिवल के लिए मशहूर है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 3, 2019, 4:07 PM IST
  • Share this:
भारतीयों को घूमने के बारे में ज्यादा सोच विचार करने की जरूरत नहीं पड़ती. भारत के प्रत्येक राज्य में कोई न कोई जगह ऐसी है जहां जाकर आपका मन खुशी से झूम उठेगा. विविध कलाओं, संस्कृतियों से संपूर्ण देश में घूमने की कोई कमी नहीं है. अगर आप घूमने के लिए समय निकाल सकते हैं तो कई मनमोहक चीजें आपके सामने होंगी. कई जगहों पर तो बारिश के मौसम में घूमने जाने का एक अलग ही मजा आता है. ऐसी ही एक जगह है गुजरात का सापुतारा. यह विशेष रूप से अपने लुभावने मौसम के लिए जाना जाता है. यह गुजरात राज्य के डांग ज़िले में स्थित है. यह पश्चिमी घाट में स्थित एक पर्यटन स्थल है.

सापुतारा, गुजरात का एक ऐसा हिल स्टेशन है जहां घूमने वालों को अगस्त और सितंबर के महीने में पहुंचना चाहिए. लुभावने मौसम के अलावा सापुतारा अपने मॉनसून फेस्टिवल के लिए मशहूर है. इस हिल स्टेशन पर आप गुजरात की संस्कृति को बहुत करीब से देख सकते हैं. मॉनसून में यहां का मौसम बहुत खुशनुमा होता है. सापूतारा का अर्थ है सांपों का घर. यहां बगीचों में बड़े-बड़े सीमेंट के सांप बनाए गए हैं. यहां के जंगलों में सांपों की विभिन्‍न प्रजातियां भी पाई जाती हैं.

आपको बता दें कि इस साल यहां पर मॉनसून फेस्टिवल 12 अगस्त को शुरू हुआ है जो कि 10 सितंबर तक चलेगा. बारिश के दौरान यह हिल स्टेशन और भी ज्यादा खूबसूरत हो जाता है. इस मौसम में यहां चारों तरफ हरियाली और झरनों वाला दृश्य दिखाई देता है. यहां आप हॉर्स राइडिंग, कैमल राइडिंग, रॉक क्लाइम्बिंग का लुत्फ उठा सकते हैं. इस फेस्टिवल में शाम के समय में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जाता है.

धार्मिक दृष्टि से भी सापूतारा को एक बेहतरीन स्‍थान माना जाता है. मान्‍यता है कि भगवान राम ने अपने वनवास काल में से 11 साल यहां बिताए थे. फेस्टिवल के अलावा आप शहर भी घूम सकते हैं. यहां आप इको प्वाइंट, गंधर्वपुर आर्टिस्ट गांव, गीरा फॉल्स, नागेश्वर महादेव मंदिर, रोज गार्डन, सापुतारा लेक, सापुतारा ट्राइबल म्यूजियम, स्टेप गार्डन, सनराइज प्वाइंट, सनसेट प्वाइंट और नेशनल पार्क जैसी जगहों पर काफी समय बिता सकते हैं.

सापूतारा की जलवायु बहुत ही साफ-स्‍वच्‍छ और खूबसूरत मानी जाती है. यहां बहुत से लोग शुद्ध, खुली हुई जलवायु का लुत्‍फ उठाने के लिए आते हैं. पर्यटक यहां बोट राइडिंग और रोप-वे का भी लुत्फ उठा सकते हैं. सापुतारा का सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन वघई है जो इस इलाके से करीब 50 किमी की दूरी पर स्थित है. यहां पहुंचने के लिए नजदीकी जगह वड़ोदरा है. यहां से सापूतारा 280 किमी दूर स्थित है. वहीं सूरत से यहां सड़क मार्ग से आप आसानी से आ सकते हैं. सूरत यहां से 164 किमी दूरी पर स्थित है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 3, 2019, 4:07 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...