लाइव टीवी

अपने ही नवजात शिशुओं को कोका-कोला पिलाकर मार रहीं हैं माताएं!


Updated: November 27, 2019, 1:08 PM IST
अपने ही नवजात शिशुओं को कोका-कोला पिलाकर मार रहीं हैं माताएं!
मंडी में सात साल की बच्ची से रेप. (सांकेतिक तस्वीर)

केन्या में गर्भपात कानूनी रूप से अवैध है. जब तक किसी महिला की जान को खतरा नहीं होता तब तक उसे गर्भपात की अनुमति नहीं दी जाती.

  • Last Updated: November 27, 2019, 1:08 PM IST
  • Share this:
किबेरा. मानवाधिकार कार्यकर्ताओं (Human Rights) ने आरोप लगाया है कि केन्या (Kenya) में माताएं अपने बच्चों को जानबूझकर कोका कोला (Coca Cola) पिलाकर मार रहीं हैं. अपने अनचाहे बच्चे से छुटकारा पाने के लिए अफ्रीकी देश की माताएं ऐसा कदम उठा रहीं हैं. केन्या में गर्भपात कानूनी रूप से अवैध है. जब तक किसी महिला की जान को खतरा नहीं होता तब तक उसे गर्भपात की अनुमति नहीं दी जाती.

नवजात शिशु को जीवित रहने के लिए अपने तमाम पोषक तत्व मां के दूध से मिलते हैं. लेकिन केन्या में उन्हें मारने के लिए कोका कोला, जिंजर बियर और अन्य नुकसानदायक पेय पदार्थ पिलाए जाते हैं. डेलीमेल की एक रिपोर्ट के अनुसार यहां नवजात बच्चे मरने के लिए झाड़ियों में छोड़ दिए जाते हैं.

कुछ लोग जो अवैध तरीके से गर्भपात का रास्ता चुनते हैं उन मामलों में माताओं को जान का खतरा बना रहता है. स्थानीय रिपोर्ट की माने तो आंकड़े यह बताते हैं कि अवैध गर्भपात यहां मातृ स्वास्थ्य की खराब हालत और शिशु मृत्यु दर का प्रमुख कारण है.

केन्या के किबेरा की एक झुग्गी बस्ती में रहने वाले मानव अधिकार कार्यकर्ता विंबल ओडीहम्बो ने बताया कि हर महिला मां बनने की अवस्था में नहीं होती. उसकी सामाजिक आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं होती कि वो बच्चे को जन्म देकर उसका पालन पोषण कर सके.

ऐसी महिलाओं के बीच यह आम जानकारी है कि कोका कोला पिलाने से नवजात शिशु की मृत्यु निश्चित है. मानव अधिकार कार्यकर्ताओं का आरोप है कि कोका कोला पीने के बाद यह बच्चा तीन दिन से ज्यादा समय तक जीवित नहीं रह सकता.

किबेरी सामुदायिक न्याय केंद्र को इस तरह की रिपोर्ट आए दिन मिलती रहतीं हैं. इनमें कोका कोला पिलाने बाद कूड़े के ढेर में मरने के लिए फेंक दिए गए नवजात शिशुओं के शव की तस्वीरें भी शामिल होतीं हैं.

विंबल ओडीहम्बो का कहना है कि जिस बच्चे को जीवित रहने के लिए दूध अमृत के समान होता है. उसे पैदा होते ही कोका कोला पिला दिया जाए.
Loading...

कोका कोला के प्रवक्ता ने डेलीमेल को बताया कि इस तरह की खबरें निराशाजनक हैं. हालांकि उन्होंने दावा किया कि दुनिया भर में लोग कोका कोला को पसंद करते हैं और इसका लुत्फ उठाते हैं. प्रवक्ता ने कहा कि हम सब जानते हैं कि नवजात शिशु के लिए मां का दूध ही अच्छा माना जाता है.

ये भी पढ़ें:

क्यों पैदा होते हैं एक धड़ पर दो सिर वाले बच्चे, कैसे बचेंगे विदिशा में पैदा हुए जुड़वा!

सावधान! हो सकता है आपके बच्चे के मस्तिष्क को बड़ा नुकसान, न करें यह छोटी सी गलती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2019, 1:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...