क्या होता है एयर बॉर्न इंफेक्शन? इससे बचने के लिए अपनाएं ये तरीके

क्या होता है एयर बॉर्न इंफेक्शन? इससे बचने के लिए अपनाएं ये तरीके
विश्व स्वास्थ संगठन ने कोरोना वायरस के हवा में मौजूद होने की संभावना जताई है.

सांस (Breath) लेने वाली हवा में ही अगर कोरोना वायरस (Corona virus) के कण घूमने लगें तो आपको और ज्यादा सतर्क हो जाना चाहिए. ऐसे में बचाव के कुछ उपाय हम आपको बता रहे हैं.

  • Share this:
शोध में पता चला है कि कोविड-19 (Covid-19) संक्रमण हवा के जरिए फैलने लगा है. इसके पहले हमें पता था कि यह संक्रमण किसी दूसरे व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है, लेकिन नई बात मालूम होने के बाद से हम सब हैरान हैं. वैज्ञानिकों (Scientists) ने इस वायरस के हवा में मौजूद होने की संभावना जताई है. उनके इस दावे पर विश्व स्वास्थ संगठन(WHO) में भी मुहर लगा दी है.

विश्व स्वास्थ संगठन की ओर से जारी एक बयान में कोविड-19 पैंडेमिक की टेक्निकल लीड मारिया वैन केरखोव ने कहा, 'हम कोविड-19 संक्रमण के हवा से फैलने की सम्भावना पर काम कर रहे हैं.' इस सब का एक ही मतलब है- हमें बहुत ज्यादा सावधानी बरतनी होगी. घर के अंदर और बाहर हर जगह सावधान रहने की जरूरत है. क्योंकि अब कोरोना वायरस केवल संक्रमित वस्तुओं और व्यक्तियों से नहीं, बल्कि उस हवा से भी फैल रहा है जिसमें हम सांस लेते हैं.

healthshots.com से बातचीत में मुंबई के ग्लोबल हॉस्पिटल की इंटरनल मेडिसिन कंसल्टेंट डॉ मंजूषा अग्रवाल ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे हालत में खुद को सुरक्षित रखने के लिए काफी सावधानियां बरतनी होंगी. डॉ अग्रवाल ने कहा, 'यह वायरस हवा में कई घण्टों तक जीवित रह सकता है. ऐसे में इससे बचाव के लिए सामान्य मास्क काम नहीं करेंगे. इस वायरस से बचाव के लिए सिर्फ N95 मास्क और ट्रिपल लेयर सर्जिकल मास्क ही कारगर होगा.'



कोरोना काल में दोगुने हो गए हैं मानसिक रोगी, ये है इसकी सबसे बड़ी वजह

क्या होता है एयर बोर्न इन्फेक्शन?
एयर बोर्न इन्फेक्शन्स हवा में फ़ैलने वाले इन्फेक्शन होते हैं. जब कोई संक्रमित व्यक्ति छींकता या खांसता है तो उसके शरीर से वायरस हवा में मिल जाता है. ये वायरस हवा में कई घंटों तक जीवित रहते हैं और इस हवा में सांस लेने वाले व्यक्ति को संक्रमित कर सकते हैं.

एयर बोर्न इन्फेक्शन ऐसे करें खुद का बचाव

1. हमेशा मास्क पहने रहें
डॉ अग्रवाल कहती हैं कि एयर बोर्न इन्फेक्शन से बचने के लिए एन 95 मास्क सभी को पहनना चाहिए. हर व्यक्ति को हर वक्त मास्क पहनने की ज़रूरत है. बिना मास्क के घर से बाहर ही न निकालना सही नहीं होगा. जहां दो चार लोग खड़े हो वहां पर जाना भी सही नहीं है किसी का वायरस हवा में वहां मिल सकता है. इसलिए खाली स्थानों को चुनें.

2. सामाजिक दूरी का पालन करें
विश्व स्वास्थ संगठन (WHO) की एक्सपर्ट केरखोव ने आधिकारिक बयान में कहा, 'मास्क पहनना ही नहीं सोशल डिस्टेंसिंग भी इसके लिए बहुत ज़रूरी है. बात करते वक्त एक मीटर से अधिक दूरी बनाएं और मास्क पहनें. क्योंकि बोलते वक्त भी वायरस हवा में फैल सकता है.'

3. हेल्थ वर्कर हमेशा मास्क पहनें
डॉ अग्रवाल कहती हैं, हेल्थ केयर वर्कर्स सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर सकते इसलिए उन्हें मास्क पहनकर ही खुद का बचाव करना होगा. ये वायरस सिर्फ 5 माइक्रोन के होते हैं, अगर कोई संक्रमित व्यक्ति आपके आसपास सांस भी ले रहा है तो आप इन्फेक्टेड हो सकते हैं.

4. एयर कंडीशनर बड़ा खतरा हो सकता है
एयर कंडीशनिंग वाली सार्वजनिक जगहों पर बिल्कुल भी ना जाएं. कम वेंटिलेशन वाली जगहों पर भी ना जाएं. ऐसी जगह वायरस आसानी से फैल सकता है. डॉ अग्रवाल मॉल, रेस्टोरेंट और पार्लर जैसी बंद जगहों पर जाने से सख्त मना करती हैं.

स्वास्थ मंत्रालय ने जारी किया निर्देश, कोरोना काल में डेंगू को ना करें नजरअंदाज

5. घर मे वेंटिलेशन जरूर रखें
इन दिनों घर में जिन कमरों में वेंटिलेशन अच्छा हो उन्हीं कमरों का प्रयोग करें. वेंटिलेशन नहीं होने पर वायरस कमरे के अंदर ही सर्कुलेट करता रहता है और इन्फेक्शन का जोखिम बढ़ जाता है.

6. फेस शील्ड का प्रयोग करें
डॉ अग्रवाल के अनुसार अगर आप काम पर जाते हैं, घर से बाहर निकलते हैं तो फेस शील्ड पहनना बेहतर विकल्प है. इससे आप बार-बार अपना चेहरा नहीं छुएंगे और इन्फेक्शन से बचे रहेंगे.

डॉ. अग्रवाल कहती हैं कि सिर्फ हाथों को साफ रखना ही वायरस से बचने के लिए काफी नहीं है. एयर बॉर्न कोविड-19 से बचने के लिए उपर बताई गई सभी सावधानियों को बरतना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading