क्या है कैंडिडा ऑरिस जो चुपचाप ले रहा है हजारों जिंदगियां

News18Hindi
Updated: August 18, 2019, 6:04 PM IST
क्या है कैंडिडा ऑरिस जो चुपचाप ले रहा है हजारों जिंदगियां
photo credit- ccd.gov

'कैंडिडा ऑरिस' का पहला मरीज ब्रुकलिन में मिला था. यह भी कहा जाता है कि व्यक्ति की मौत के साथ यह फंगस मरता नहीं है

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 18, 2019, 6:04 PM IST
  • Share this:
Candida auris एक रहस्यमयी फंगस जो अब तक हजारों लोगों की मौत का कारण बन चुका है. इसकी कोई दवा नहीं है न ही कोई इसके नष्ट होने का कोई उपाय. यह एक शरीर से दूसरे शरीर में फैसला है. इस खतरनाक फंगस का नाम है 'कैंडिडा ऑरिस'. पिछले 8 सालों से हमारा देश इससे जूझ रहा है. यह फंगस उन लोगों को अपना निशाना बनाता है, जिनकी इम्यून सिस्टम कमजोर होती है. ऐम्स ने एक दफे एक आंकड़ा पेश करते हुए कहा था कि साल 2012 से 2017 के बीच भर्ती हुए मरीजों में से करीब हर 10 मामलों में 2 मामला कैंडिडा ऑरिस का था.

हर तरह के ऐंटिबॉयोटिक, ऐंटिफंगल दवाइयों इस पर बेअसर साबित होती हैं. फंगल इन्फेकशन दो प्रकार के फंगस ग्रुप के कारण होते हैं: ऐल्बिकैंस और नॉन-ऐल्बिकैंस. ऐल्बिकैंस पर ऐंटीफंगल का असर होता है, लेकिन वहीं नॉन-ऐल्बिकैंस पर नहीं होता. कैंडिडा ऑरिस नॉन-ऐल्बिकैंस कैटगिरी में आता है, यानी ऐसा फंगस जिस पर ऐंटीफंगल दवाई बेअसर है. यही वजह है कि इस फंगस से संक्रमित मरीजों के बचने की संभावना बहुत कम होती है. 'कैंडिडा ऑरिस' का पहला मरीज ब्रुकलिन में मिला था. यह भी कहा जाता है कि व्यक्ति की मौत के साथ यह फंगस मरता नहीं है.

लक्षण

- बुखार, दर्द और कमजोरी

अगर किसी व्यक्ति का इम्यून सिस्टम कमजोर है और उसे यह फंगस अपनी चपेट में ले ले तो यह साधारण लक्षण भी जानलेवा साबित हो सकती हैं.

Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 18, 2019, 6:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...