अपना शहर चुनें

States

लेमन टी या ग्रीन टी? वेट घटाने में कौन है अधिक कारगर

वजन करने में लेमन और ग्रीन टी में से कौन है बेहतर है जाने
वजन करने में लेमन और ग्रीन टी में से कौन है बेहतर है जाने

बढ़ते वेट (weight) से हर कोई परेशान रहता है. इसके लिए लोग तरह-तरह के उपाय अपनाते हैं. इन्‍हीं में से लेमन और ग्रीन टी भी हैंं. लेकिन ये कैसे पता करें कि इनमें से बेहतर कौन है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 28, 2021, 6:56 AM IST
  • Share this:
मोटापा हर एक के लिए परेशानी का सबब है. वजन बढ़ने की इस परेशानी से हर कोई निजात पाना चाहता है और इसके लिए तरह-तरह के जतन करता है. इसके सबसे लोकप्रिय तरीकों में से एक है ग्रीन या लेमन टी का सेवन करना. अक्सर सुबह लोग वजन कम (Weight Loss) करने के लिए इन दोनों का ही इस्तेमाल करते हैं. अब सवाल यह है कि दोनों में से कारगर कौन है? ग्रीन या लेमन टी (Green Tea or Lemon Tea). जानते हैं कि दोनों किस तरह काम करते हैं और कैसे यह हमारे शरीर से वजन कम करने में मदद करते हैं

ग्रीन टी कैसे काम करती हैः
इससे शरीर के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद मिलती है और इसमें मौजूद “एल-थियानाइन” (L-Theanine) नाम का एमिनो एसिड शरीर में चर्बी को बढ़ने से रोकता है. मेटाबॉलिज्म के बढ़ने से शरीर में फैट तेजी से नहीं बढ़ पाता. उधर, एमिनो एसिड हमारे नर्वस सिस्टम को शांत रखता है और पेट से जुड़े हार्मोंस जैसे कोर्टिसोल (Cortisol) से तनाव कम करता है. ग्रीन टी में पॉलीफिनोल (Polyphenols) होता है जो शरीर की चर्बी घटाने में मदद देता है.  इसके साथ ही यह डायबिटीज को कंट्रोल में करता है और हाई ब्लड प्रेशर से भी निजात दिलाता है.

इसे भी पढ़ेंः  फायदा ही नहीं, नुकसान भी कर सकता है हल्दी वाला दूध
ग्रीन टी को पीने के तरीकेः


इसे खाने से एक घंटे पहले पीएं तो अधिक फायदा होता है.
एक दिन में तीन या इससे अधिक कप ग्रीन टी नहीं लेनी चाहिए.
ग्रीन टी में नींबू, शहद, तुलसी के पत्ते या अदरक ले सकते हैं.
खाने के तुरंत बाद ग्रीन टी पीने से बचें.
रात को सोते समय ग्रीन टी पीने से वजन तेजी से कम होता है.

लेमन टी का कामः

लेमन टी सामान्य चाय की तुलना में बेहद कम कैलोरीज वाली होती है.  इसमें चीनी की जगह शहद मिलाने से ये दोगुना असर करती है. नींबू में विटामीन- सी होता है जो खून से गंदगी निकालता है. इसे पीने से ताजगी आती है सो अलग. इससे हाजमा भी बेहतर रहता है. नींबू में मौजूद पोटैशियम हमारे मेटाबॉलिज्म और पाचन क्रिया को तेज करता है, विटामीन- सी से वजन कम करने में भी मदद मिलती है.

इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में जरूर खाएं चौलाई का साग, इम्यूनिटी को स्ट्रॉन्ग कर बीमारियों को रखेगा दूर
लेमन टी के इस्तेमाल का तरीकाः
काली चाय में नींबू रस डालकर पीना सेहत सही रखने के साथ ही वेट घटाने में भी मददगार होता है.
लेमन टी में अदरक, दालचीनी, तुलसी से इसकी मेडिसिनल प्रॉपर्टीज को बढ़ाया जा सकता है.

दोनों में कौन है बेहतरः
विशेषज्ञ मानते हैं कि ग्रीन टी में मौजूद एल-थियानाइन (L-Theanine) और पॉलीफिनोल (Polyphenols) जैसे तत्व इसे वजन कम करने के लिए अधिक फायदेमंद बनाते हैं. हालांकि इसके साथ में जब सही एक्सरसाइज और डाइट का पालन किया जाए. लेकिन ग्रीन टी अधिक पीने से कई तरह के नुकसान भी हो सकते हैं. लेमन टी में भी वेट कम करने के गुण होते हैं, लेकिन ग्रीन से यह उन्नीस ही बैठती है.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज