ऑनलाइन शॉपिंग करते समय इन बातों का रखें ध्यान, नहीं हो सकता है नुकसान

ऑनलाइन शॉपिंग में बैंक डिटेल देते समय बरतें सावधानी-Image credit/pexels-liza-summer

ऑनलाइन शॉपिंग में बैंक डिटेल देते समय बरतें सावधानी-Image credit/pexels-liza-summer

कोरोना के इस दौर (Period of Corona) में ऑनलाइन शॉपिंग करना ज्यादातर लोगों की ज़रूरत (Need of most people) बन गया है. ऐसे में सबसे ज्यादा जरूरी है अपने बैंक एकाउंट को सेफ रखने (Keep bank account safe) की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 22, 2021, 3:31 PM IST
  • Share this:
आज के दौर में और अब खासकर कोरोना के चलते ऑनलाइन शॉपिंग करना हमारी सबसे बड़ी ज़रूरत बन गया है. अब वो लोग भी ऑनलाइन शॉपिंग को महत्त्व (Importance of online shopping) देने लगे हैं जो अब तक इसे पसंद नहीं करते थे.वो इसलिए क्योंकि कोरोना के दौर में घर से बिना बाहर निकले (Without getting out) हुए भी, ज़रूरत का सारा सामान आपके घर आसानी के साथ पहुँच जाता है. लेकिन आज कल ऑनलाइन शॉपिंग करना आपकी सेहत के लिए जितना सेफ है, आपके बैंक अकाउंट के लिए ये कभी-कभी उतना ही अनसेफ भी हो सकता है. इसलिए ज़रूरी है कि ऑनलाइन शॉपिंग करते समय कुछ ख़ास बातों को नज़रअंदाज़ न करें. आइये जानते हैं कि ऑनलाइन शॉपिंग करते समय किन बातों को ध्यान में रखने की ज़रूरत है.

कैश ऑन डिलीवरी का चुने विकल्प

अपने बैंक अकाउंट को सेफ रखने के लिए सीओडी यानी कैश ऑन डिलीवरी का विकल्प चुनना आपके लिए ज्यादा सेफ रहेगा. इससे आपको अपना बैंक डिटेल शेयर करने की ज़रूरत नहीं होगी. जब सामान घर पर पहुँच जायेगा तब ही आपको कैश पेमेंट करना होगा.

ये भी पढ़ें: फिट रहना चाहते हैं? तो आज ही छोड़ दें ये आदतें
 अपने एटीएम की डिटेल्स सेव न करें


ऑनलाइन शॉपिंग करते समय, पेमेंट करते हुए कभी भी अपने एटीएम कार्ड की डिटेल्स सेव न करें. कई बार साइट पर कार्ड की डिटेल भरते हुए सेव कार्ड डिटेल का ऑप्शन आता है और यस पर टिकमार्क होता है. जिस पर ध्यान न देते हुए लोग ओके का बटन क्लिक कर देते हैं जो बिल्कुल सुरक्षित नहीं है. इस ऑप्शन को ध्यान से पढ़कर नो पर क्लिक करें, जिससे आपका बैंक अकाउंट सेफ रहने में मदद मिलेगी.

शॉपिंग के लिए किसी ऑफिशियल वेबसाइट या ऐप का चुनाव करें



फर्जी वेबसाइट और ऐप बनाकर भी हैकर्स लोगों को अपना शिकार बनाते हैं. इसलिए इस बात का ध्यान रखें कि किसी भी वेबसाइट या ऐप से शॉपिंग करने से पहले उसकी वास्तविकता ज़रूर जांच लें. कोशिश करें कि जो प्रोडक्ट आप खरीदने जा रहे हैं उसकी आधिकारिक वेबसाइट या ऐप का इस्तेमाल करें. अगर ऐसा संभव नहीं हो तो किसी विश्वसनीय शॉपिंग साईट या ऐप का सहारा लें.

वेबसाइट के यूआरएल का ध्यान रखना भी ज़रूरी

ऑनलाइन शॉपिंग करते समय आप उस वेबसाइट का यूआरएल जरूर चेक करें, जिससे शॉपिंग करने जा रहे हैं. वेबसाइट के यूआरएल की शुरुआत  एचटीटीपीएस से होनी चाहिए न कि एचटीटीपी. इसमें एस का मतलब आपको ये बताता है कि इसको गूगल द्वारा सिक्योर्ड किया गया है.

ये भी पढ़ें: जानिए माधुरी दीक्षित अपने हैंड बैग में क्या रखती हैं, आप भी करें फॉलो

 कभी न करें पब्लिक वाई-फाई का इस्तेमाल


अपने बैंक अकाउंट को सुरक्षित रखने के लिए ज़रूरी है कि आप जब भी शॉपिंग करें तो खुद के वाई-फाई का इस्तेमाल करें न कि पब्लिक वाई-फाई का. कई बार लोग साइबर कैफे या रेस्टोरेंट जैसे पब्लिक प्लेस में मौजूद रहकर पब्लिक वाई-फाई के ज़रिये ही ऑनलाइन शॉपिंग करने लगते हैं जो बिल्कुल भी सेफ नहीं है क्योंकि ऐसे में उनके बैंक और उनकी डिटेल को हैकर्स द्वारा आसानी से हैक किया जा सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज