होम /न्यूज /जीवन शैली /उम्र बढ़ानी है तो सिर्फ एक चीज के सेवन से होगा फायदा, नई रिसर्च में दावा

उम्र बढ़ानी है तो सिर्फ एक चीज के सेवन से होगा फायदा, नई रिसर्च में दावा

 कॉफी है एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर-(Image Canva)

कॉफी है एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर-(Image Canva)

coffee may lower risk of death: एक नए अध्ययन में दावा किया गया है कि जो लोग बिना चीनी वाली कॉफी या कम चीन वाली कॉफी पीत ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

ताजा अध्ययन में उम्र बढ़ाने के नुस्खे के बारे में बताया गया है
बिना चीनी वाली कॉफी पीने से मौत का जोखिम कम होता है

coffee drink: बढ़ते प्रदूषण और गतिहीन जीवनशैली ने कई बीमारियों के जोखिम को बढ़ा दिया है. ऐसे में लोग तरह-तरह की बीमारियों से बचने के उपायों को लेकर ही परेशान रहते हैं. फिर उम्र बढ़ाने की बात कौन सोचता है लेकिन एक ताजा अध्ययन में उम्र बढ़ाने के नुस्खे के बारे में बताया गया है. दरअसल, इस स्टडी में कहा गया है कि जो लोग बिना चीनी वाली कॉफी या बहुत कम मात्रा में चीनी वाली कॉफी का सेवन करते हैं उनमें बिना कॉफी पीने वालों की तुलना में मरने की आशंका कम हो जाती है. लगभग 7 साल तक किए गए अध्ययन में यह परिणाम सामने आए हैं. यह अध्ययन एनाल्स ऑफ इंटरनल मेडिसीन जर्नल में प्रकाशित हुआ है. हालांकि अध्ययन में यह भी कहा गया है कि एक दिन में 1.5 से 3.5 कप के बीच कॉफी पीने वालों की औसत उम्र बढ़ जाती है.

इसे भी पढ़ेंः ज्यादा शराब पीने के क्या है साइड इफेक्ट, कैसे करता है दिमाग और शरीर पर असर, जानें

समय पूर्व मौत की आशंका कम
एचटी की खबर के मुताबिक इससे पहले के अध्ययन में भी पाया गया था कि कॉफी का सेवन समय पूर्व मौत की आशंका को कम करता है लेकिन इसमें यह नहीं बताया गया था कि इसका संबंध बिना मीठी वाली कॉफी से है. हालांकि वर्तमान अध्ययन में भी इस बात पर प्रकाश नहीं डाला गया है कि आर्टिफिशियल स्वीटनर का कॉफी में इस्तेमाल मौत की आशंका को कम करता है या नहीं. चीन के गुआंगझाउ में साउदर्न मेडिकल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने ब्रिटेन के बायोबैंक से प्राप्त डाटा का इस्तेमाल करते हुए यह अध्ययन किया है. इसमें लोगों से बिना चीनी वाली कॉफी और चीनी वाली कॉफी पीने की आदतों के बारे में कई सवाल किए गए थे और इससे स्वास्थ्य पर पड़े असर के बारे में पूछा गया था.



1.71 लाख लोगों पर अध्ययन

करीब 1.71 लाख लोगों से उनके स्वास्थ्य से संबंधित जानकारियां जुटाई गई. इनके बारे में यह नहीं जाना गया कि इन्हें दिल की बीमारी या कैंसर है या नहीं. सिर्फ इनके आहार, कॉफी की खपत और हेल्थ से संबंधित समस्याओं के बारे में प्रश्न किए गए थे. अध्ययन में पाया गया कि 7 साल की अवधि के दौरान जो प्रतिभागी बिना चीनी वाली कॉफी किसी भी मात्रा में पीते थे, उनमें कॉफी नहीं पीने वाले प्रतिभागियों की तुलना में मौत की आशंका 16 से 21 प्रतिशत तक कम रही. वहीं जो लोग 1.5 कप से 3.5 कप कॉफी थोड़ी सी चीनी मिलाकर पीते थे, उनमें भी मौत की आशंका कॉफी न पीने वालों की तुलना में 29 से 31 प्रतिशत तक थी. शोधकर्ताओं ने बताया कि चीनी के साथ कॉफी पीने वाले अपनी कॉफी में सिर्फ एक चम्मच चीनी डालते थे. हालांकि इस अध्ययन में कॉफी में आर्टिफिशियल स्वीटनर का इस्तेमाल करने वाले लोगों के बारे में कुछ नहीं कहा गया.

Tags: Coffee, Health, Health tips, Lifestyle

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें