कोरोना काल में घर पर बच्चों से ऐसे आएं पेश, WHO ने बताएं ये पैरेंटिंग टिप्स

कोरोना काल में घर पर बच्चों से ऐसे आएं पेश, WHO ने बताएं ये पैरेंटिंग टिप्स
कोरोना वायरस के कारण हर कोई अपने घर में सेल्फ आइसोलेशन में है.

कोरोना महामारी (Corona epidemic) के कारण दुनिया भर के देशों में लॉकडाउन (Lockdown) है. ऐसे में बच्चे स्कूल (School) और बड़े ऑफिस नहीं जा पा रहे हैं. कोरोना काल में घर में बच्चों से किस तरह व्यवहार रखना है इसके लिए WHO ने पैरेंटिंग टिप्स दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 7, 2020, 9:00 PM IST
  • Share this:
कोरोना वायरस (Corona virus) के कारण हर कोई अपने घर में सेल्फ आइसोलेशन में है. लॉकडाउन (Lockdown) के कारण बच्चे (children) स्कूल नहीं जा पा रहे हैं और माता-पिता ऑफिस या काम में नहीं जा पा रहे हैं. कई पैरेंट्स (Parents) घर में दिन भर काम करते हैं और बच्चे इस दौरान शैतानी करते हैं. ऐसे में बच्चों को पीटने या उन पर आक्रामक होने की बजाय आपको उन्हें कैसे हैंडल करना है इसके बारे में विश्व स्वास्थ्य संगठन ने 6 पैरेंटिंग टिप्स साझा किया है. इसके बारे में आज हम आपको बता रहे हैं. आइए इनके बारे में जानते हैं... WHO ने इन पोस्टर्स को जारी करके पैंरेिटिंग टिप्स दी है. इस लिंक पर क्लिक करके आप इसे देख सकते हैं.

क्वालिटी टाइम बिताएं
स्कूल-कॉलेज बंद होने के कारण पैरेंट्स अपने बच्चों और टीएजर्स के साथ अच्छे से टाइम बिता सकते हैं. उन्हें खूब प्यार दें और उन्हें बताएं कि वह उनके लिए कितने जरूरी है. बच्चों के साथ 20 मिनट या इसे अधिक समय बिताएं.

छोटे बच्चे के साथ
जब आप छोटे बच्चे के साथ हों तो बच्चों के चेहरे की अभिव्यक्ति और ध्वनियों की प्रतिलिपि बनाएं. गाने गाएं, बर्तन और चम्मच के साथ संगीत बजाएं. बच्चों को कहानी सुनाएं और तस्वीरें दिखाएं.



Health Tips: रोज 30 मिनट सैर करने से आपके शरीर को होते हैं इतने फायदे

किशोर बच्चों के साथ
बच्चों के साथ उनकी पसंद की चीज़ों को लेकर बात करें जैसे कि खेल,संगीत, मशहूर हस्तियां, दोस्त आदि के बारे में बात करें. घर में बच्चों के साथ पसंदीदा गाने सुनें और टहलें.

युवा बच्चों के साथ
इनके साथ किताब पढ़ें और चित्रों को देखें. गाने में डांस करें या कोई गाना गाएं. उनके साथ घर में सफाई और क्लीनिंग वाला गेम खेलें. बच्चों के स्कूल के वर्क में मदद करें.

कुछ सकारात्मक काम करें
घर में बच्चों से सकारात्मक बात करें जैसे प्लीज कपड़ों को रख दें. उनके ऊपर चिल्लाने या फिर गुस्सा करने की बजाय उनसे प्यार से पेश आएं और उनकी बातों को सुनें. किसी काम के लिए अपने बच्चों की तारीफ करें और उनको मोटिवेट करें.

घर में क्रिएटिविटी करें
बच्चों के साथ रोजाना कुछ फेक्सिबल करें. बच्चों के साथ कोई क्रिएटिव काम के लिए एक प्रोग्राम बनाएं. यह बच्चों को अधिक सुरक्षित और बेहतर व्यवहार करने में मदद कर सकता है. घर में एक्सरसाइज करने में उसकी मदद करें. इसके लिए आप चाहें तो ऑनलाइन मदद ले सकते हैं.

बुरे व्यवहार से निपटने के लिए
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे 3 भागों में बांटा हैं. सबसे पहले अगर आपको अपने बच्चे का कोई काम या व्यवहार गलत लगता है तो उसे बोलने से पहले 10 सेकंड रुके. 5 बार धीरे-धीरे सांस लें फिर शांत तरीके से उनको जवाब दें. डब्लूएचओ का कहना है कि अपने बच्चे को सजा देने से पहले इन निर्देशों का पालन करने का विकल्प दें.

आपको सोने का गलत तरीका हो सकता है इन समस्याओं का कारण, जानिए इनका इलाज

स्ट्रेस मैनेजमेंट
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने स्ट्रेस मनैजमेंट पर काफी अच्छा टिप्स दिया है. संगठन ने कहा कि बच्चों के साथ तो वक्त बिताएं ही लेकिन अपने लिए भी थोड़ा वक्त निकालें. भले ही यह चाय, व्यायाम के बहाने ही क्यों न हो. हमेशा खुलकर रहें और अपने बच्चों की बात सुनें. इससे वह हमेशा आपके समर्थन में रहेंगे.

कोरोना वायरस को लेकर करें बात
डब्लूएचओन ने अपनी आखिरी टिप्स में कोरोना वायरस को लेकर बात कही है. उन्होंने कहा कि कई सारी खबरों सुनने या देखने के कारण कोरोना वायरस को लेकर बच्चों के अंदर डर महसूस हो सकता है. इसलिए अपने बच्चों से खुलकर बात करें. इससे साथ ही उन्हें बताएं कि संक्रमण से बचने के लिए क्या-क्या उपाय करना होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज