लाइव टीवी

मैं अपने बच्चों को स्कूल क्यों नहीं भेजती?


Updated: October 7, 2019, 11:43 AM IST
मैं अपने बच्चों को स्कूल क्यों नहीं भेजती?
बच्चों को घर पर शिक्षा कैसे दें

वैसे तो इस तरह की लर्निंग के लिए 'होमस्कूलिंग' शब्द का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन मुझे लगता है होमस्कूलिंग कहने से बात पूरी तरह से साफ हो नहीं पाती है. हमारे लिए तो पूरी दुनिया ही उनका क्लासरूम है...

  • Last Updated: October 7, 2019, 11:43 AM IST
  • Share this:
रवलीन कौर

हम असम के एक छोटे औद्योगिक शहर में रहते हैं. यहां मॉनसून की खूबसूरती देखते ही बनती है. जब हम दिल्ली से यहां शिफ्ट हुए तो तब शुरू में एक गेस्टहाउस में रहे. एक शाम एक शुभचिंतक पड़ोसन मेरी पास आईं और बोलीं- आपके बच्चे बारिश में नंगे पांव खेल रहे हैं. वे बीमार पड़ जाएंगे. आपको ध्यान रखना चाहिए. उनकी आवाज में थोड़ी उलाहना थी. मैं उनकी बात सुनने के बाद बाहर गई. देखा, बच्चे कीचड़ में खेल रहे थे, बारिश की बूंदों को अपनी जीभ पर लेने के लिए मुंह खोले उछल-कूद मचा रहे थे. उनकी खुशी का कोई ठिकाना न था. और, न ही मेरी खुशी काबू में आ पा रही थी. इस खुशी के बदले मुझे कुछ नहीं चाहिए था.

इसे भी पढ़ेंः आपके बच्चे को पूरी रात आए सुकून भरी नींद, इन 5 टिप्स की लें मदद

मैं तीन बच्चों की मां हूं- एक बेटी, उम्र सात साल, दो जुड़वा बेटे, उम्र चार साल. मेरे इन तीन बच्चों की लर्निंग स्कूल से इतर हो रही है. वैसे तो इस तरह की लर्निंग के लिए 'होमस्कूलिंग' शब्द का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन मुझे लगता है होमस्कूलिंग कहने से बात पूरी तरह से साफ हो नहीं पाती है. हमारे लिए तो पूरी दुनिया ही उनका क्लासरूम है और जिन्दगी से मिलने वाले सबक ऐसे किसी भी सबक से महत्वपूर्ण हैं जिन्हें रट्टा लगाकर सीखा जाता हो. इस पल में उनकी ये खुशियां हमारे लिए ज्यादा मायने रखती हैं. बनिस्बत इसके कि वे किन्हीं सनकी तरीकों से अपने भविष्य के लिए मोटी सैलरी सुरक्षित कर सकें. कुछ रचने के लिए, भरपूर वक्त चाहिए होता है. मुझे लगता है कि स्कूल जिस तरह से प्रतिदिन संचालित होते हैं, उससे ये चीज़ बच्चों से दूर हो रही थी. यहां मैं एक बात साफ कर दूं- यहां मैं होमस्कूलिंग की वकालत नहीं कर रही हूं. ये मेरी अपने बच्चों के साथ की अब तक की जर्नी है.

इसे भी पढ़ेंः इस उपाय से अब लकवे के मरीज भी चल सकेंगे

यह लेख इंडियन एक्सप्रेस में छपा है. रवलीन कौर जोकि पूर्व पत्रकार हैं और तीन बच्चों की मां हैं, द्वारा लिखित यह पूरा लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लाइफ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 11:41 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...