आपको प्याज कैसे खाना है पसंद? क्या जानते हैं प्याज के ये किस्से

सब कुछ पकने के बाद कच्चे प्याज के सलाद के बिना तो खाना जैसे अधूरा ही होता है.

सब कुछ पकने के बाद कच्चे प्याज के सलाद के बिना तो खाना जैसे अधूरा ही होता है.

प्याज (Onion) की एक खासियत यह है कि इसे किसी विशेष तरह की जलवायु या जमीन की जरूरत नहीं पड़ती. यही कारण है कि हमारे देश में यह हर इलाके में उगाया जाता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 18, 2021, 8:27 AM IST
  • Share this:
(विवेक कुमार पांडेय)

कुछ घरों को छोड़ दें तो ज्यादातर किचन में प्याज (Onion) तो पाया ही जाता है. बिना इसके न ही सब्जी में छौंक लगती है और न ही दाल फ्राई होती है. सब कुछ पकने के बाद कच्चे प्याज के सलाद के बिना तो खाना जैसे अधूरा ही होता है. तो आज मैं बात करूंगा प्याज के बारे में. गर्मियां आ रही हैं और हम सब जानते हैं कि इस दौरान प्याज की अहमियत क्या होती है.

सियासी 'आंसू' निकालने वाली सब्जी

वैसे तो प्याज मुख्य सब्जी नहीं है लेकिन बिना इसके सब्जी के बारे में नहीं सोचा जा सकता है. अक्सर प्याज अपनी कीमतों को लेकर चर्चा में रहता है. कभी कभी तो इसकी 'सेंचूरी' आंखों में आंसू भी ला देती है. इसके साथ ही राजनीति को भी इसने बहुत प्रभावित किया है. एक बार तो एक राज्य की सरकार ही प्याज की बढ़ी हुई कीमत से गिर गई थी.
इसे भी पढ़ेंः 'रागी' आपके किचन में है या नहीं, बिना इसके हेल्थ की थाली है अधूरी

हजारों साल से उग रही है प्याज

प्याज जिस कदर हमारे स्टेपल फूड का हिस्सा है उससे यह अंदाजा तो लग ही जाता है कि इसका नाता हमसे पुराना है. इतिहास के बारे में बात करें तो यह करीब साढ़े पांच हजार सालों से उगाया जा रहा है. कुछ लोग इसकी ऑरिजिन सेंट्रल एशिया मानते हैं तो कुछ मिडिल ईस्ट. भारत और चीन में यह करीब पांच हजार सालों से उग रहा है.



किसी भी तरह की जमीन पर खेती

प्याज की एक खासियत यह है कि इसे किसी विशेष तरह की जलवायु या जमीन की जरूरत नहीं पड़ती. यही कारण है कि हमारे देश में यह हर इलाके में उगाया जाता है. इसके साथ ही अपनी खासियत के कारण भारतीय परंपरा में भी इसका जिक्र कई स्थानों पर आता है. इसका उपयोग दवाओं में भी काफी मात्रा में होता है.

प्याज का गुण भी बहुत होता है

प्याज में करीब 89 प्रतिशत पानी होता है. इसके साथ ही 9 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट, 4 प्रतिशत शुगर और 2 प्रतिशत फाइबर होता है. यही कारण है कि गर्मी के दिनों में लू से बचने के लिए प्याज किसी दवा से कम नहीं. लोग देसी खानों के साथ भी इसका इस्तेमाल करते हैं. पुराने समय में 'प्याज-रोटी' के किस्से तो आपने सुने ही होंगे.

इसे भी पढ़ेंः गुजरात की इस डिश ने जीत लिया है देश का दिल, जानें 'खांडवी' का किस्सा

खाने के कई तरीके

वैसे तो कच्चा प्याज खाने के साथ खाया ही जाता है लेकिन कई अन्य प्रचलित डिशेज भी हैं. सबसे पहला नाम तो प्याज की पकौड़ी ही है, इसके साथ ही भूना प्याज, सिरके वाला प्याज, प्याज का रायता, अनियन सूप, अनियन रिंग्स, लहसून-प्याज का अचार तो हम खाते ही हैं. साथ ही 'दो प्याजा' तो वेज और नॉनवेज दोनों में खाया जाता है. अनियन डोसा भी काफी मशहूर है. तो आपको प्याज कैसे खाना पसंद है ?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज