लॉकडाउन में महिलाएं ज्यादा हो रहीं तनाव का शिकार, इन तरीकों से करें खुद का बचाव

लॉकडाउन में महिलाएं ज्यादा हो रहीं तनाव का शिकार, इन तरीकों से करें खुद का बचाव
लॉकडाउन में महिलाएं घरों में कैद रहने की वजह से ज्यादा परेशान हैं.

कोरोना वायरस (Corona virus) महामारी की वजह जारी लॉकडाउन (Lockdown) में महिलाएं पुरुषों की अपेक्षा तनाव (Tension) का ज्यादा शिकार हो रही हैं. क्योंकि वो आर्थिक तंगी के साथ ही परिवार के लोगों से भावनात्मक रूप से जुड़ी होती हैं.

  • Share this:
कोरोना वायरस (Corona virus) महामारी की वजह से देश में जारी लॉकडाउन (Lockdown) के 4 महीने पूरे हो चुके हैं. लोग इन दिनों में अपने घरों में रहने के लिए मजबूर हैं. लॉकडाउन में कोई काम न होने की वजह से लोग उदास और परेशान हैं. बहुत सारे लोग तो डिप्रेशन (Depression) का शिकार हो चुके हैं. लॉकडाउन में महिलाएं (Women) ज्यादा परेशान हैं.

कोरोना के कारण कई परिवारों को रोजगार छिन गया है, जिसके कारण महिलाओं में चिंता और तनाव की समस्या बढ़ रही है. ऐसी बहुत सारी महिलाएं हैं, जिनके पति और बेटों की जॉब लॉकडाउन में चली गई है. इससे भी महिलाएं तनावग्रस्त हैं. उन्हें बहुत कम साधनों में किसी तरह घर चलाना पड़ रहा है. आज हम इस आर्टिकल में आपको तनाव और चिंता से बचने के कुछ उपाय बता रहे हैं...

ज्यादा सोचना बंद कर दें
अगर आप छोटी सी समस्या को लेकर ज्यादा सोचते हैं और इसका कोई ठोस हल नहीं निकलता तो आप और भी ज्यादा परेशान हो जाते हैं. दिमाग में वही बात घूमने लगती है और आप तनाव का शिकार हो सकते हैं. क्योंकि कोरोना महामारी की वजह से आई आर्थिक परेशानी तत्काल दूर नहीं हो सकतीं. इसमें समय लगेगा. इसलिए चिंता करने की बजाए जिंदगी को धीरे-धीरे चलाने के उपाय खोजें और उसी के हिसाब से काम करें. तनाव लेने पर तबियत बिगड़ी तो पैसे की और भी जरूरत होगी और आप परेशान हो जाएंगी.
कम साधनों में काम चलाना सीखें


फैमिली की इनकम कम है होने से संसाधनो में कमी आ जाती है. ऐसे समय में आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है क्योंकि कम संसाधनों में भी परिवार को चलाया जा सकता है. ऐसे समय में जो चीजें जरूरी हों उनको ही खरीदें और गैरजरूरी खर्चें कम करें. इसके साथ ही सकारात्मक सोच को अपनाएं. क्योंकि समय बदलता रहता है खराब सयम के बाग अब अच्छा समय आएंगा.

खुद का ख्याल रखें
अधिकतर ऐसा देखने को मिलता है कि महिलाएं अपने बच्चों और पति की देखभाल में इतनी ज्यादा डूब जाती हैं कि उनको खिद का ख्याल नहीं रहता है, जिसके कारण वह खुद कमजोर पड़ने लगती हैं. ऐसे में जरूरी है कि महिलाएं सभी के साथ ही अपना भी ख्याल रखें और खुश रहे.

अपनी पसंद का काम करें
महिलाओं का हमेशा घरेलू कामों में ही व्यस्त नहीं रहना चाहिए. क्योंकि इससे महिलाओं थक जाती हैं और एक तरह के काम से ऊब जाती है. इसके कारण कोई मनोरंजन नहीं हो पाता और मन भी बोझिल रहता है. इसलिए महिलाओं को अपने मनपसंद काम करने के लिए थोड़ा समय निकालना चाहिए. अगर संगीत सुनना पंसद हो तो संगीत सुनें, टीवी पर कोई प्रोग्राम देखें या किताब पढ़ें. इससे दिमाग फ्रेश रहेगा.

बच्चों के साथ समय बिताएं
अगर घर में छोटे बच्चे हैं तो यह बहुत अच्छी बात है. महिलाओं को बच्चों के साथ समय बिताना चाहिए. उनके साथ खेलें और मनोरंजन करें. उनकी पढ़ाई-लिखाई में मदद करें. उन्हें गीत या कहानी सुनाएं और उन्हें भी सुनाने को कहें. शाम में आप किसी पार्क में बच्चों के साथ घूमने जा सकती हैं. बच्चों के साथ रहने से सच्ची खुशी मिलती है और तनाव दूर होता है. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading