Home /News /lifestyle /

सर्दियों में खुद को एनर्जी से भरपूर रखने के लिए महिलाएं अपना सकती हैं ये आदतें

सर्दियों में खुद को एनर्जी से भरपूर रखने के लिए महिलाएं अपना सकती हैं ये आदतें

सर्दियों में महिलायें अपनी बॉडीक्लॉक का ख्याल रखें
 (Image: Shutterstock)

सर्दियों में महिलायें अपनी बॉडीक्लॉक का ख्याल रखें (Image: Shutterstock)

Tips For Ladies to Be Fit In Winters: हम जानते हैं कि हमें किसी भी काम को करने के लिये ऊर्जा चाहिये होती है. वरना हम ज़ल्दी ही थक (Tired) जाते हैं और आजकल के दौर में खासतौर पर महिलाओं के साथ यह दिक्कत (Problem) अक्सर होती है. क्योंकि उन्हें घर से बाहर तक बहुत सारा काम संभालना होता है. विशेषकर सर्दियों के मौसम में जब दिन छोटे होते हैं और हमारे पास किसी भी काम के लिये समय कम होता है. ऐसे में अगर एनर्जी-लैवल (Energy-level) कम रहता है तो हम ज़ल्द ही थक जाते हैं.

अधिक पढ़ें ...

    Tips For Ladies to Be Fit In Winters: हमें हर काम करने के लिये ऊर्जा (Energy) की आवश्यकता पड़ती है और आजकल के आर्थिक युग में हमें बहुत सारे काम एक साथ ही करने पड़ सकते हैं. खासतौर पर महिलाओं के साथ यह दिक्कत (Problem) अक्सर होती है. जब उनके ऊपर घर के साथ ही बाहर के काम करने की जिम्मेदारियां भी होती हैं. सर्दियों (Winter) के मौसम में तो यह समस्या विशेष तौर पर बढ़ जाया करती है. क्योंकि सर्दियों में दिन छोटे होते हैं. साथ ही जाड़ों में सेहत को लेकर भी खास सतर्कता बरतनी होती है.

    हालांकि, सर्दियों के समय भी महिलाएं अपने स्वास्थ्य व रोग-प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यून-सिस्टम को पूरी तरह फिट रख सकती हैं. बस इसके लिये उन्हें कुछ आदतों को अपनाने की जरूरत है. आइये जानते हैं इनके बारे में (Tips For Ladies to Be Fit In Winters)

    अपनी बॉडीक्लॉक का ख्याल रखें

    सभी के शरीर के सक्रिय होने का समय अलग-अलग होता है. हम में से कोई सुबह-सुबह अपने अंदर ज्यादा ऊर्जा महसूस करता है तो कोई शाम या फिर रात के समय. यह हमारी बायोक्लॉक या बॉडीक्लॉक या कहें शरीर की जैविक-घड़ी पर निर्भर करता है कि हम किस समय कुछ सुस्त रहते हैं और कब सक्रिय. हमें इसकी शिनाख़्त करके ही अपने रोजाना के कामों को उसी टाइम-टेबल पर सेट करना चाहिये.

    ये भी पढ़ें: क्या डायबिटीज महिलाओं के लिए ज्यादा हानिकारक है? जानें कैसे रखें ब्लड शुगर लेवल को ठीक

    इससे हम अपने कार्य एक अच्छे ऊर्जा-स्तर के साथ कर सकते हैं. अगर आप सुबह के समय अपना ऊर्जा-स्तर बेहतर महसूस करते हैं. तो आपके काम करने का उचित समय दिन में 9 से 5 बजे के बीच हो सकता है. यदि शाम को आपका एनर्जी-लेवल अच्छा रहता है. तो यह वक़्त आपके लिये दोपहर के बाद तीन से रात के ग्यारह-बारह बजे के बीच का हो सकता है.

    अपनी डाइट पर ध्यान दें

    कहने की जरूरत नहीं कि हमारे शरीर का ऊर्जा-स्तर बहुत कुछ हमारे खानपान और उसकी गुणवत्ता पर निर्भर करता है. विटामिन्स और खनिज-तत्वों यानी मिनरल्स से भरपूर फल और सब्जियां  हमारे ऊर्जा-स्तर को बनाये रखने में मदद करते हैं और हमें ज़ल्द थकान नहीं लगने देते. ऐसे ही कुछ अनाज, दूध व दूसरे खाद्य-पदार्थ भी हैं. इसलिये हमें इनके बारे में जानकर इनका समुचित सेवन करते रहना चाहिये.

    ये भी पढ़ें: गले लगने का स्पर्श महिलाओं को तनाव से दूर रखता है, मन में खुशी लाता है

    सुबह का नाश्ता न भूलें

    डॉक्टर कहते हैं कि सुबह का नाश्ता हमारे शरीर और दिमाग़ दोनों की सेहत के लिये बहुत जरूरी है. और यह हल्का-फ़ुल्का नहीं बल्कि अच्छी मात्रा में होना चाहिये. क्योंकि रात भर सोकर उठने के बाद हमें बाकी दिन की अपेक्षा अधिक ऊर्जा चाहिये होती है. इसलिये इस समय नाश्ते के लिये रात भर भिगोकर रखा गया चना या मूंगफली या फिर सोयाबीन या फिर पौष्टिक तरीके से बनाया गया पोहा आदि एक बढ़िया विकल्प हो सकते हैं.(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

    Tags: Health, Lifestyle, Women

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर