लाइव टीवी

क्या आप भी करती हैं फास्ट रनिंग? तो जान लें ये जरूरी बात

News18Hindi
Updated: December 12, 2019, 8:03 AM IST
क्या आप भी करती हैं फास्ट रनिंग? तो जान लें ये जरूरी बात
तेज दौड़ने वाली महिलाओं की उम्र लंबी होती है

शोध में सामने आया कि ट्रेडमिल पर कसरत करने वाली या रोजाना दौड़ने वाली महिलाओं में धमनियों से जुड़ी दिक्कतें होने का खतरा न के बराबर होता है,

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 12, 2019, 8:03 AM IST
  • Share this:
आज के समय में एक हेल्दी और फिट बॉडी हर किसी की चाहत होती है. अपनी इस चाहत को पूरा करने के लिए लोग कई तरह की एक्सरसाइज करते हैं. दौड़ना (running) एक काफी आसान एक्सरसाइज है जिसे लगभग हर कोई बेहद आसानी से कर सकता है. दौड़ने से वजन कम होता है और बॉडी भी फिट रहती है. हाल में ही हुई एक रिसर्च में यह बात सामने आई है कि जो महिलाएं नियमित रूप से ट्रेडमिल पर रनिंग करती हैं उनकी उम्र सामान्यतः चार गुना तक बढ़ जाती है.

इस शोध में महिलाओं द्वारा की जाने वाली अलग-अलग तरह की कसरतों का उनके शरीर पर होने वाला प्रभाव देखा गया. इस शोध में सामने आया कि काफी फुर्ती और तेजी के साथ के किया जाने वाला व्यायाम और शारीरिक गतिविधियां महिलाओं में दिल की बीमारी के कारण होने वाली जल्द मृत्यु के खतरे को टालने का काम करती हंै. इसके अलावा ऐसी कसरत करने वाली महिलाओं की उम्र भी लंबी होती है.

इसे भी पढ़ें: जब नहीं थी कोई भाषा तो साथी को कैसे रिझाते थे हमारे पूर्वज, नए अध्ययन में हुआ खुलासा

बेहद फायदेमंद है तेज गति का व्यायाम : शोधकर्ताओं का कहना है कि तेज गति वाले व्यायाम दिल की धड़कनों को नियंत्रित रखने, रक्त प्रवाह को नियंत्रित करने और अतिरिक्त चर्बी को शरीर में जमा होने से रोकते हैं. इस कारण महिलाओं में दिल संबंधी बीमारियों और कैंसर जैसी बीमारियों के होने का जोखिम कई गुना घट जाता है. यह ताजा शोध यूरोपियन सोसायटी ऑफ कार्डियोलॉजी द्वारा आयोजित कार्यक्रम यूरोइको 2019 में प्रस्तुत किया गया.

इसे भी पढ़ें: Viral Video: कबूतर ने पहनी टोपी, Twitter पर लोगों ने पूछे ऐसे सवाल

शोध में सामने आया कि ट्रेडमिल पर कसरत करने वाली या रोजाना दौड़ने वाली महिलाओं में धमनियों से जुड़ी दिक्कतें होने का खतरा न के बराबर होता है, इससे उनके दिल से सही तरीके से रक्त का प्रवाह शरीर के दूसरे अंगों में होता रहता है, ब्लॉकेज, क्लोटिंग, स्ट्रोक जैसी दिक्कतों का खतरा काफी कम हो जाता है.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए ट्रेंड्स से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 8:02 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर